• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • Private School Fee Case: राजस्थान में फिर सड़कों पर उतरे अभिभावक, जिला शिक्षा अधिकारी पर फेंकी स्याही

Private School Fee Case: राजस्थान में फिर सड़कों पर उतरे अभिभावक, जिला शिक्षा अधिकारी पर फेंकी स्याही

अभिभावकों का आरोप था कि निजी स्कूल लगातार फीस का दबाव बना रहे हैं और बच्चों के नाम काटने, परीक्षा देने से रोकने और भविष्य खराब करने की धमकियां दे रहे हैं.

अभिभावकों का आरोप था कि निजी स्कूल लगातार फीस का दबाव बना रहे हैं और बच्चों के नाम काटने, परीक्षा देने से रोकने और भविष्य खराब करने की धमकियां दे रहे हैं.

Rajasthan Private School Fee Case: प्राइवेट स्कूलों में फीस को लेकर अभिभावक एक बार फिर से उग्र हो गये हैं. उनका आरोप है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश को आये तीन महीने होने जा रहे हैं लेकिन राज्य सरकार और शिक्षा विभाग अभी तक उसके आदेशों की पालना सुनिश्चित नहीं करवा रहे हैं.

  • Share this:

जयपुर. राजस्थान में प्राइवेट स्कूलों (Private School) के खिलाफ एक बार फिर से अभिभावकों का गुस्सा फूटा पड़ा है. उन्होंने फिर से सड़कों पर उतरकर आंदोलन की शुरूआत कर दी है. शुक्रवार को निजी स्कूलों की फीस (Fee Case) के मामले में सरकार और प्रशासन के रवैये नाराजगी जताते अभिभावकों ने जिला शिक्षा अधिकारी पर स्याही फेंक दी. इसके बाद मामला गरमा गया. पुलिस ने आंदोलन (Protest) के दौरान आधा दर्जन लोगों को शांतिभंग करने के मामले हिरासत में लिया है. इससे अभिभावकों का गुस्सा और बढ़ गया है. अभिभावकों ने चेतावनी दी है कि अगर उनकी मांगों को नहीं माना गया तो आंदोलन को उग्र किया जायेगा.

दरअसल, राजधानी के शिक्षा संकुल पर आज अभिभावक 03 मई 2021 को आये सुप्रीम कोर्ट के आदेश की पालना सुनिश्चित करवाने की मांग कर रहे थे. इसे लेकर संयुक्त अभिभावक संघ ने आज यहां हल्ला बोल प्रदर्शन का ऐलान किया था. इसमें बड़ी संख्या में अभिभावक शामिल हुये. अभिभावकों का आरोप था कि कोरोना काल की फीस कम नहीं की जा रही है. इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट के आदेश को आये तीन महीने होने जा रहे हैं लेकिन राज्य सरकार और शिक्षा विभाग अभी तक सुप्रीम कोर्ट के आदेश की पालना सुनिश्चित नहीं करवा रहे हैं.

स्कूल संचालक धमकियां दे रहे हैं
अभिभावकों का आरोप था कि निजी स्कूल लगातार फीस का दबाव बना रहे हैं और बच्चों के नाम काटने, परीक्षा देने से रोकने और भविष्य खराब करने की धमकियां दे रहे हैं. इस मामले में आंदोलनकारी अभिभावकों ने शिक्षा मंत्री का पोस्टर तक फाड़ डाला. अभिभावक काली पट्टी बांध कर दंडवत प्रदर्शन करते हुए भी अपनी नाराजगी जता रहे थे. अभिभावकों का कहना था कि शुक्रवार को आंदोलन के दूसरे चरण का पहला पड़ाव है. अभिभावकों की ओर ध्यान नहीं दिया और फीस एक्ट 2016 सहित सुप्रीम कोर्ट के आदेश की पालना नहीं करवाई गई तो आगे और प्रदेशभर में और आंदोलन देखने को मिलेंगे.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज