• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • आमेर महल वॉच टावर पर बिजली गिरी तो एक्टिव हुआ विभाग फिर सुस्त, धरोहरों पर तड़ित चालक लगाने का काम ठप

आमेर महल वॉच टावर पर बिजली गिरी तो एक्टिव हुआ विभाग फिर सुस्त, धरोहरों पर तड़ित चालक लगाने का काम ठप

जयपुर के स्मारकों पर नहीं लगे तड़ित चालक

जयपुर के स्मारकों पर नहीं लगे तड़ित चालक

Reckless working : आकाशीय बिजली गिरने ​के मामले में 11 लोगों की मौत के बाद पुरातत्व विभाग ने आनन-फानन में तड़ित चालक लगाने के मांगे थे प्रस्ताव, लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है. नाहरगढ़ और आमेर में 21 तड़ित चालक की है ज़रूरत. अब तक सिर्फ 1 ही तड़ित चालक लगा है.

  • Share this:

जयपुर. आमेर महल के सामने वॉच टावर पर बिजली गिरने के हादसे के बाद बिजली की सी तेज़ी के साथ एक दम एक्टिव नज़र आया पुरातत्व विभाग ऊंचाई वाले स्मारकों (monuments) पर तड़ित चालक यानी थंडर बोल्ट पोल लगाने में मामले में अब कछुए सा सुस्त पड़ गया है. मामले को लेकर आमेर और नाहरगढ़ में करीब 21 तड़ित चालक (Lighting conductor) के प्रस्ताव 15 जुलाई को ही भेज दिए गए थे. लेकिन अब तक मौके पर कुछ नहीं हुआ है.

आमेर आकाशीय बिजली मामले में न्यूज18 की ख़बर के बाद प्रशासन हरकत में आ गया था और मामले में तुरंत तड़ित चालक लगाने की कार्यवाही शुरू की थी. लेकिन उस एक्शन के बाद पुरातत्व एवं संग्रहालय निदेशालय ने जिम्मेदारी आमेर विकास प्रधिकरण (एडमा) को सौंप दी. और एडमा मामले में कोई कार्यवाही कर ही नहीं रहा है. बड़ा सवाल ये है कि जब मानसून में मौसम खराब रहता है और बिजली गिरने की ज्यादा संभावना रहती है. तब ही अगर थंडर स्टिक नहीं लगाईं गईं तो फिर बाद में उनका उपयोग क्या होगा ?

तड़ित चालक लगाने के प्रस्ताव भेजे
आमेर महल के सामने वॉच टावर पर इसी माह बिजली गिरी. इस हादसे में 11 लोगों ने जान गंवाईं. 20 घायल हुए. हादसे का सबसे बड़ा कारण इतनी ऊंचाई पर तड़ित चालक नहीं होना था. 13 जुलाई को प्रशासन हरकत में आया तुरंत तड़ित चालक की जानकारी मांगी. 15 जुलाई को आमेर महल से 16 और नाहरगढ़ 5 तड़ित चालक के प्रस्ताव भेजे गए. आमेर महल के सामने वाच टावर पर तड़ित चालक लगाने की भी मांग की गई.

स्मारकों पर सर्वे हुआ, पर कार्यवाही नहीं
एडमा के विशेषज्ञों को मौके पर सर्वे करने को कहा गया. आमेर महल ने आमेर विकास प्राधिकरण को पत्र भी भेजा. नाहरगढ़ किले में भी ऊंचाई की जगह से 5 तड़ित चालक की ज़रूरत बताई गई. लेकिन 15 जुलाई से मामले को ठंडे बस्ते डाल दिया गया. अब तक न कोई तड़ित चालक लगा. न कोई सर्वे हुआ और न कोई हलचल हुई. जयपुर के अन्य स्मारकों पर भी तड़ित चालक लगना ज़रूरी है. हवामहल में 2 और जंतर मंतर में भी 2 तड़ित चालक चाहिए.

आमेर महल परिसर में 16 तड़ित चालक की जरूरत
13 जुलाई को पुरातत्व एवं संग्रहालय विभाग के निदेशक प्रकाश चंद शर्मा के अर्जेंट पत्र जारी करते हुए राजधानी में सभी स्मारकों पर तड़ित चालक लगाने के लिए स्मारक अधीक्षकों को पत्र भेजा था. पत्र में सर्वे और स्टडी करके जानकारी मांगी गई कि किस स्मारक पर कितने तड़ित चालक लगाए जाने की ज़रूरत है ? मामले में न्यूज़18 ने मौके पर पड़ताल भी और अधिकारियों से बात की तो सामने आया कि आमेर महल परिसर में कोई एक दो नहीं बल्कि 16 तड़ित चालक लगाए जाने की ज़रूरत है.

2019 में हादसा हुआ तब लगा था तड़ित चालक
इसके बाद इस मामले में एक पत्र आमेर महल प्रशासन की ओर से आमेर विकास प्राधिकरण को भी भेजा गया. जिसमें आमेर के सामने वॉक टावर पर त्वरित गति से थंडर स्टिक यानी तड़ित चालक लगाए जाने की ज़रूरत बताई गई. इससे पहले भी आमेर में 2013 और 2019 में बिजली गिरने के मामले सामने आ चुके हैं. 2019 में मावठे के पास छतरी पर बिजली गिरने से एक दाना डालने वाले की मौत हुई. उसके बाद आमेर के दिल-ए-आराम बाग़ के द्वार पर एक तड़ित चालक लगाया गया था. हालांकि ज़रूरत तब भी 5 की बताई गई थी.

फिर किसी हादसे का इंतजार कर रहे अधिकारी
अब आमेर महल प्रशासन की ओर से 16 तड़ित चालक की मांग की गई. लेकिन मामले के गर्म होने के दौरान जितना अर्जेन्ट बता कर ये काम शुरू किया गया था अब मामला शांत होते ये प्रस्ताव भी ठंडे बस्ते में चला गया है. नतीजा ये हैं युवाओं ने फिर से चोरी-छिपे आमेर महल के सामने बने वॉच टावर पर जाना शुरू कर दिया है. अब तक वहां न कोई सुरक्षा का उपाय हुआ है न ही कोई तड़ित चालक लगा है. ऐसे में फिर कोई हादसा हो सकता है.

नाहरगढ़ में पांच तड़ित चालक की जरूरत
जयपुर में आमेर महल के अलावा नाहरगढ किला भी काफी ऊंचाई पर है. वहां अधीक्षक डॉ राकेश छोलक के मुताबिक कम से कम 5 तड़ित चालक की ज़रूरत है. हालांकि विभाग ने अभी जानकारी सिर्फ नाहरगढ और आमेर की मांगी है. लेकिन जयपुर में हवामहल पर भी 2, जंतर मंतर में एक पहले से है. एक और लगाए जाने की ज़रूरत है. इसी तरह ईसरलाट पर एक तड़ित चालक, और सिसोदिया रानी में भी एक तड़ित चालक लगाए जाने को ज़रूरत है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज