उमर हत्याकांड: मुस्लिम समुदाय ने निकाला पैदल मार्च, आज होगा पोस्टमार्टम

ETV Rajasthan
Updated: November 15, 2017, 4:04 PM IST
उमर हत्याकांड: मुस्लिम समुदाय ने निकाला पैदल मार्च, आज होगा पोस्टमार्टम
अलवर के चर्चित उमर हत्याकांड में निष्पक्ष जांच और पीड़ित परिवार को मुआवजे की मांग को पैदल मार्च.
ETV Rajasthan
Updated: November 15, 2017, 4:04 PM IST
अलवर के चर्चित उमर हत्याकांड में निष्पक्ष जांच और पीड़ित परिवार को मुआवजे की मांग को लेकर बुधवार को मुस्लिम समुदाय राजधानी जयपुर में पैदल मार्च निकाला.

पुलिस ने मुस्लिम समुदाय के जुलूस को लालकोठी थाने पर ही रोक दिया, जिसके बाद राजस्थान मुस्लिम फोरम ने इस तरह के कार्य को जुल्म बताया.

फोरम ने कहा कि सरकार खुले तौर पर जुल्म कर रही है. अब सरकार से मुआवजे को लेकर कोई मांग नहीं की जाएगी. इस मामले में सभी संगठनों ने खुद 5 लाख मुआवजे का ऐलान किया है.

उसने कहा कि बुधवार को  ही पोस्टमॉर्टम करवाया जाएगा. इस दौरान वीडियो रिकॉर्डिंग की जाएगी. इसके बाद गुरुवार को सुपुर्द-ए-खाक किया जाएगा. उमर के शव को पहाड़ी के पास घाटमिका गांव में  सुपुर्द-ए-खाक किया जाएगा.

मुस्लिम मुसाफिर खाने से दोपहर को शुरू हुए इस शांतिपूर्ण पैदल मार्च में उमर खान के परिजन भी शामिल हुए. मुसाफिर खाने से यह मार्च सीएम हाउस तक जाना था, लेकिन इसे बीच रास्ते में ही पुलिस ने रोक दिया.

बता दें कि अलवर में 9 नवंबर की रात कथित गौरक्षकों के हमले में मारे गए उमर खान का पोस्टमार्टम नहीं हो सका. उमर के परिजनों को इंसाफ दिलाने के लिए एकजुट हुए मुस्लिम समाज के संगठनों के प्रतिनिधि प्रदेश के सबसे बड़े प्रशासनिक अधिकारी अशोक जैन से मिलकर भी असंतुष्ट दिखे थे.

उमर के परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी, परिजनों को 50 लाख रुपए और घायल व्यक्ति को 25 लाख रुपए का मुआवजे की मांग पर सहमति नहीं बनने पर समाज के प्रतिनिधियों ने उमर के पोस्टमार्टम को भी हरी झंडी नहीं दी थी.

सीएस से वार्ता के बाद राजस्थान मुस्लिम फोरम मेव पंचायत की बैठक हुई थी. इस बैठक में उमर खान का पोस्टमार्टम नहीं करवाने का फैसला लिया गया था. साथ ही इंसाफ के लिए सभी समाजों से जयपुर कूच का आह्वान किया गया था.

 
First published: November 15, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर