लाइव टीवी

पुलवामा CRPF अटैक: मुझे अभिमान है पिता की शहादत पर, तिरंगे के मान पर

Bhawani Singh | News18 Rajasthan
Updated: February 17, 2019, 3:25 PM IST
पुलवामा CRPF अटैक: मुझे अभिमान है पिता की शहादत पर, तिरंगे के मान पर
फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

शहीदों की अंतिम विदाई की तीन तस्वीरों ने मुल्क को शहादत के मायने बता दिए हैं. इन तस्वीरों में आंतकियों को और उनके पैरोकारों को चेतावनी भरा संदेश है कि हाथ कितने ही कोमल हों, नाजुक हों, लेकिन कमजोर नहीं हैं. शहीद की पार्थिव देह उठाने के लिए.

  • Share this:
शहीदों की अंतिम विदाई की तीन तस्वीरों ने मुल्क को शहादत के मायने बता दिए हैं. पहली तस्वीर है धौलपुर के जैतपुर गांव की. यहां शहीद भागीरथ को मुखाग्नि उनके तीन साल के बेटे विनय ने दी. लेकिन भागीरथ की डेढ़ साल की बेटी शिवांगी ने तिरंगे में लिपटे पिता के शव के साथ तिरंगे को ही चूम लिया. मानो शिवांगी का मुल्क के नाम संदेश है कि उसे अभिमान है पिता की शहादत पर. तिरंगे के मान पर.


दूसरी तस्वीर और भी भावुक है. जयपुर के गोविंदपुरा गांव के शहीद रोहिताश लांबा की अंतिम विदाई की. रोहिताश को मुखाग्नि डेढ़ महीने के बेटे ध्रुव ने दी. ध्रुव के जन्म की खुशी मनाकर पिछले शनिवार को ही रोहिताश ड्यूटी पर लौटा था.

पुलवामा CRPF अटैक: पंचतत्व में विलीन हुई शहीदों की पार्थिव देह, श्रद्धाजंलि देने उमड़ा जनसैलाब

शहीद रोहिताश लांबा को मुखाग्नि देता डेढ़ माह का बेटा ध्रुव। फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।
पति की मौत का बदला ही रोहिताश को असली श्रद्धांजलि है
पहले बात रोहिताश लांबा की करते हैं. जयपुर के गोविंदपुरा में शहीद रोहिताश को सीआरपीएफ के अंतिम सलामी देने के बाद वक्त आया अंतिम विदाई के लिए मुखाग्नि का. एक नजदीकी रिश्तेदार जैसे ही गोद में रोहिताश के डेढ़ महीने के बेटे ध्रुव को लेकर पार्थिव देह के पास पहुंचा सबकी आंखें नम हो गईं. ध्रुव के हाथ से मुखाग्नि दिलाई गई उसको पिता को. ध्रुव को भले ही ये तस्वीर अभी याद न रहें, लेकिन बड़ा होने पर वो सवाल पूछेगा कि पिता की शहादत के लिए जिम्मेदार आंतकियों का क्या हुआ ? रोहिताश की पत्नी मंजू देवी पति की शहादत की खबर सुनते ही बेहोश हो गई थी. अस्पताल में थी. उसे पति की अंतिम विदाई से कुछ वक्त पहले ही लाया गया था घर. वह खुद को संभाल नहीं पा रही थी. लेकिन ध्रुव के हाथों मुखाग्नि के बाद मानो साहस कहीं दौड़कर उसके शरीर में आ पहुंचा. बेटे को गोद में लेकर कहा 'पति की मौत का बदला ही रोहिताश को असली श्रद्धांजलि है'.

पुलवामा CRPF अटैक: श्रद्धाजंलि देने का सिलसिला जारी, आर्थिक सहयोग की भी घोषणा

मां की गोद में ध्रुव। फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।


कायरों ने पीठ से वार किया
बेटे की जलती चिता के सामने बैठे पिता बाबूलाल भी टूटने की व्यथा से अचानक बाहर निकले. कहा ''कायरों ने पीठ से वार किया. अगर सामने से वार करते तो उसका बेटा अकेला ही उन पर भारी पड़ता''. उन्होंने पीएम से अपील कि करते हुए कहा कि ''रोहिताश के बदले 100 आंतकी मारे जाएंगे तब बदला पूरा होगा''.

पुलवामा अटैक: राजस्थान में शहीदों के परिवारों के पैकेज में बढ़ोतरी, अब 50-50 लाख मिलेंगे

पुलवामा हमले में राजस्थान के पांच जवान हुए शहीद, यहां देखें- पूरी लिस्ट

शहीद भागीरथ का बेटा विनय। फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।


शिवांगी ने तिरंगे को चूम लिया
अब बात करते हैं धौलपुर के जैतपुर के जाबांज भागीरथ की. भागीरथ का पार्थिव देह जैसे ही अंतिम विदाई के लिए रवाना किए जाने लगी एक तस्वीर ने पूरे मुल्क को संदेश दिया. भागीरथ की डेढ़ साल की बेटी शिवांगी ने तिरंगे में लिपटे पिता के पार्थिव देह के बॉक्स को ही नहीं तिंरगे को चूम लिया. शिवांगी का मानो संदेश है मुल्क के लिए कि अभिमान है पिता की शहादत पर. तिंरगे की आन बान की रक्षा के नायक पर. खेल में बहन को चप्पल पहनाने वाले तीन साल के शिवांगी के मासूम भाई विनय ने बेटे का फर्ज अदा किया. पिता भागीरथ को खुद के हाथों से मुखाग्नि दी.

बहन को चप्पल  पहनाता विनय। फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।


हाथ कितने ही कोमल हों, नाजुक हों, लेकिन कमजोर नहीं हैं
मासूमों के हाथों ये मुखाग्नि आंतकियों को और उनके पैरोकारों को चेतावनी भरा संदेश है कि हाथ कितने ही कोमल हों, नाजुक हों, लेकिन कमजोर नहीं हैं. शहीद की पार्थिव देह उठाने के लिए.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 17, 2019, 2:00 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर