Home /News /rajasthan /

बारिश और ओलावृष्टि प्रभावित जिलों में बढ़ाए जाएं मनरेगा कार्यदिवस : शकुंतला रावत

बारिश और ओलावृष्टि प्रभावित जिलों में बढ़ाए जाएं मनरेगा कार्यदिवस : शकुंतला रावत

अलवर जिले से कांग्रेस विधायक शकुंतला रावत ने ओलावृष्टि और बारिश से प्रभावित क्षेत्रों में नरेगा के अतिरिक्त कार्य दिवसों की संख्या बढ़ाने की मांग की है. शकुंतला रावत के मुताबिक प्रदेश के कई इलाकों में फिर से रविवार और सोमवार को भी भारी बारिश और ओलावृष्टि हुई जिससे कई किसानों की सौ फीसदी तक फसलें बर्बाद हो गईं. उनके विधानसभा क्षेत्र अलवर में भी बुरा हाल है.

अलवर जिले से कांग्रेस विधायक शकुंतला रावत ने ओलावृष्टि और बारिश से प्रभावित क्षेत्रों में नरेगा के अतिरिक्त कार्य दिवसों की संख्या बढ़ाने की मांग की है. शकुंतला रावत के मुताबिक प्रदेश के कई इलाकों में फिर से रविवार और सोमवार को भी भारी बारिश और ओलावृष्टि हुई जिससे कई किसानों की सौ फीसदी तक फसलें बर्बाद हो गईं. उनके विधानसभा क्षेत्र अलवर में भी बुरा हाल है.

अलवर जिले से कांग्रेस विधायक शकुंतला रावत ने ओलावृष्टि और बारिश से प्रभावित क्षेत्रों में नरेगा के अतिरिक्त कार्य दिवसों की संख्या बढ़ाने की मांग की है. शकुंतला रावत के मुताबिक प्रदेश के कई इलाकों में फिर से रविवार और सोमवार को भी भारी बारिश और ओलावृष्टि हुई जिससे कई किसानों की सौ फीसदी तक फसलें बर्बाद हो गईं. उनके विधानसभा क्षेत्र अलवर में भी बुरा हाल है.

अधिक पढ़ें ...
अलवर जिले से कांग्रेस विधायक शकुंतला रावत ने ओलावृष्टि और बारिश से प्रभावित क्षेत्रों में नरेगा के अतिरिक्त कार्य दिवसों की संख्या बढ़ाने की मांग की है. शकुंतला रावत के मुताबिक प्रदेश के कई इलाकों में फिर से रविवार और सोमवार को भी भारी बारिश और ओलावृष्टि हुई जिससे कई किसानों की सौ फीसदी तक फसलें बर्बाद हो गईं. उनके विधानसभा क्षेत्र अलवर में भी बुरा हाल है.

सरकार की ओर से हाल में जारी आदेशों के मुताबिक सिर्फ दस दिन ही प्रभावित क्षेत्रों में अतिरिक्त काम देने का निर्णय लिया गया है, लेकिन इससे गरीब ग्रामीणों को कोई राहत नहीं मिलेगी. यह काम के दिन 10 से बढ़ाकर सौ दिवस किए जाने चाहिए. हालांकि, शकुंलता रावत ने सदन में इस मसले पर उन्हें अपनी बात रखने का मौका नहीं दिए जाने पर नाराजगी भी जाहिर की.

जिलों की मिली सर्वे रिपोर्ट

प्रदेश में पिछले दिनों ओलावृष्टि और तेज बारिश से हुए नुकसान के बाद सभी जिलों की सर्वे रिपोर्ट राज्‍य सरकार को प्राप्त हो गई है. इस रिपोर्ट के आधार पर ज्ञापन तैयार कर मंगलवार शाम तक रिपोर्ट केन्द्र सरकार को भेज दी जाएगी. हालांकि, इस रिपोर्ट में कल हुई ओलावृष्टि से हुए नुकसान का आंकलन अभी शामिल नहीं हो पाया है.

मंगलवार को विधानसभा में सांचौर विधायक सुखराम विश्नोई, बाडी विधायक गिर्राज सिंह, रामगढ़ विधायक ज्ञानदेव आहूजा, अलवर विधायक शकुंतला रावत सहित कई विधायकों की ओर से उठाए गए इस मुद्दे पर प्रदेश के आपदा एवं राहत मंत्री गुलाबचंद कटारिया ने सदन में यह जानकारी दी. साथ ही कटारिया ने कहा कि किसानों का नुकसान के लिए प्रतिशत के आधार पर मुआवजा मिले इसका भी प्रस्ताव केन्द्र सरकार के समक्ष रखा गया है.

इसके अलावा पशुधन की हानि के मामले में भी नियमों मे शिथिलता का प्रस्ताव रखा गया है. कटारिया ने इसके साथ ही कहा कि 1 अप्रैल से प्रभावित क्षेत्रों में पशु शिविरों का आयोजन फिर से किया जाएगा. इसका पैसा या तो केन्द्र दे ही देगा नहीं तो राज्य सरकार खुद अपने स्तर पर फंड की व्यवस्था कर शिविरों का आयोजन करेगी.

 

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर