Rajasthan: किसानों का मददगार बनेगा ‘राज किसान साथी’ पोर्टल, 150 एप में होंगी सभी तरह की जानकारियां
Jaipur News in Hindi

Rajasthan: किसानों का मददगार बनेगा ‘राज किसान साथी’ पोर्टल, 150 एप में होंगी सभी तरह की जानकारियां
पोर्टल के माध्यम से अनुदान योजनाओं में आवेदन प्रक्रिया का सरलीकरण किया जा रहा है.

प्रदेश का कृषि विभाग (Agriculture Department) अब किसानों और पशुपालकों को सभी योजनाओें की जानकारी ऑनलाइन प्लेटफार्म (Online platform) पर मुहैया कराने जा रहा है. इसके लिये ‘राज किसान साथी’ पोर्टल ('Raj Kisan Sathi' Portal) तैयार करवाया जा रहा है.

  • Share this:
जयपुर. किसानों (Farmers) को अब सरकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए सरकारी दफ्तरों के चक्कर लगाने की जरुरत नहीं पड़ेगी. काश्तकारों को सभी योजनाओं का लाभ अब ऑनलाइन (Online) मुहैया करवाने की तैयारी चल रही है. इसके लिए राज्य सरकार द्वारा ‘राज किसान साथी’ पोर्टल ('Raj Kisan Sathi' Portal) तैयार करवाया जा रहा है. यह पोर्टल किसानों और पशुपालकों के लिए खासा मददगार (Helpful) साबित होगा.

पोर्टल से किसानों को सरकारी कार्यालयों के चक्कर लगाने से तो निजात मिलेगी ही वहीं विभागों के कामकाज में भी इससे पारदर्शिता आएगी. कृषि एवं सहकारिता विभाग के प्रमुख शासन सचिव कुंजीलाल मीणा ने पोर्टल का काम समयबद्ध रूप से पूरा करने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं. पोर्टल तैयार करने के लिए कृषि पंत भवन में प्रोजेक्ट मैनेजमेंट यूनिट की स्थापना की गई है.

Rajasthan: 15 सितंबर तक हो सकती है 3850 ग्राम पंचायतों के चुनावों की घोषणा



150 एप होंगे तैयार
‘राज किसान साथी’ पोर्टल पर कुल 150 एप विकसित किए जाने हैं. इनके जरिए योजनाओं और खेती से सम्बन्धित हर जानकारी किसानों को मिलेगी. कृषि आयुक्त डॉ. ओमप्रकाश के मुताबिक इनमें से 20 से ज्यादा एप का काम पूरा भी किया जा चुका है. प्रमुख सचिव कुंजीलाल मीणा ने निर्देश दिए हैं कि जो एप ज्यादा जरुरी हैं उन्हें पहले तैयार किया जाये. प्रत्येक एप के निर्माण की तारीख तय होगी और हर महीने इसकी समीक्षा की जाएगी. गौरतलब है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बजट भाषण में ईज ऑफ बिजनेस की तर्ज पर ईज ऑफ डूइंग फार्मिंग की घोषणा की थी. उसके तहत यह पोर्टल विकसित किया जा रहा है.

Rajasthan: जैसलमेर में इस बार बारिश ने तोड़ा रिकॉर्ड, औसत से 87.9 फीसदी ज्यादा बरसे बादल

प्रक्रिया होगी सरल
‘राज किसान साथी’ पोर्टल पर कृषि के साथ ही सम्बन्धित विभागों की सभी जानकारियां भी एक ही जगह ऑनलाइन उपलब्ध होंगी. इनमें उद्यान विभाग, कृषि विपणन विभाग, पशुपालन विभाग, सहकारिता विभाग, मत्स्य पालन विभाग, राज्य बीज निगम और जैविक प्रमाणीकरण संस्था को शामिल किया गया है. कृषि आयुक्त डॉ. ओमप्रकाश के अनुसार पोर्टल के माध्यम से अनुदान योजनाओं में आवेदन प्रक्रिया का सरलीकरण किया जा रहा है. आवेदन से लेकर किसान के खाते में अनुदान के भुगतान तक की सम्पूर्ण प्रक्रिया अब ऑनलाइन ही होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading