होम /न्यूज /राजस्थान /

राजस्थान विधानसभा बजट सत्र 2022: रीट, रेप, गैंगरेप और महिला उत्पीड़न के मामलों से गूंजेगा सदन

राजस्थान विधानसभा बजट सत्र 2022: रीट, रेप, गैंगरेप और महिला उत्पीड़न के मामलों से गूंजेगा सदन

विधानसभा में सरकार रीट परीक्षा के मामले में अब तक हुई कार्रवाई का जवाब भी दे सकती है.

विधानसभा में सरकार रीट परीक्षा के मामले में अब तक हुई कार्रवाई का जवाब भी दे सकती है.

Rajasthan Legislative Assembly Budget Session- 2022: राजस्थान की 15वीं विधानसभा का सातवां सत्र कल से शुरू होगा. यह सत्र काफी हंगामेदार रहने के आसार हैं. इस बार विपक्ष रीट से लेकर प्रदेशभर में लगातार बढ़ रही रेप और गैंगरेप (Rape and Gang rape) की घटनाओं पर सत्ता पक्ष को घेरेगा. विपक्षी पार्टी बीजेपी ने इसकी जबर्दस्त तैयारियां की है. वहीं सरकार भी सभी मुद्दों पर विपक्ष का सामना करने के लिये तैयारियों में जुटी है.

अधिक पढ़ें ...

जयपुर. राजस्थान की 15वीं विधानसभा का सातवां सत्र (Rajasthan Legislative Assembly Budget Session- 2022) बुधवार को राज्यपाल के अभिभाषण के साथ शुरू होगा. सत्र के दौरान बीजेपी (BJP) ने सरकार को घरने के लिए प्रश्नकाल से लेकर शून्यकाल तक की जमकर तैयारी की है .सदन के नियमित प्रश्नकाल और शून्यकाल शुरू होते ही विपक्ष की ओर से सत्ता पक्ष (Ruling party) के सामने महिला उत्पीड़न, रीट भर्ती परीक्षा (Women Harassment and REET Recruitment Exam), अलवर में मूक बधिर नाबालिग पीड़िता का मामला सदन में जोरदार तरीके से उठाने की रणनीति बनाई गई है. वहीं बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया (Satish Poonia) की कार पर हुए हमले के मामले में भी सरकार पर हमलावर रहेंगी.

भले ही राज्य सरकार ने रीट परीक्षा के मामले में सोमवार को अहम फैसला लेते हुए रीट लेवल-2 की परीक्षा दुबारा करवाने की निर्णय लिया हो लेकिन विपक्ष अभी इस मुद्दे को छोड़ने को तैयार नहीं है. लिहाजा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया, उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़, नारायण सिंह देवल और नरपत सिंह राजवी ने रीट परीक्षा के संबंध में पहले ही सवाल लगा दिए थे. इनमें रीट परीक्षा के पेपर लीक होने से लेकर अब तक सरकार की ओर से उठाय गये कदमों की जानकारी मांगी गई है.

रीट मामले की जांच सीबीआई से करवाने का मु्द्दा उठेगा
वहीं शून्काल में विभिन्न प्रस्तावों के जरिए बीजेपी रीट मामले की जांच सीबीआई से करवाने का मु्द्दा सदन में उठाने वाली है. यह बात बीजेपी विधायक दल की बैठक में भी साफ हो गई है कि भले ही सरकार ने रीट परीक्षा लेवल 2 को रद्द कर दिया हो लेकिन वह इस मामले की जांच सीबीआई से करवाने की मांग जारी रखेगी. हालांकि यह बात दीगर है कि सरकार ने रीट लेवल 2 की परीक्षा को रद्द कर भर्ती के पदों को बढाकर 62 हजार कर दिया है. ऐसे में अब बीजेपी सत्ता पक्ष के सामने कितनी हमलावर रह पायेगी यह देखने वाली बात होगी.

महिला उत्पीड़न की घटनाओं को लेकर विपक्ष होगा हमलावर
सदन में नियमित बैठक प्रश्नकाल से साथ शुरू होगी. इसमें गृह, आबकारी, खान, शिक्षा, स्वास्थ्य और महिलाओं व बच्चियों के साथ हो रहे रेप तथा गैंगरैप से जुड़े सवाल बीजेपी विधायकों ने लगाए हैं. बीजेपी विधायक अनिता भदेल, वासुदेव देवनानी, राजेन्द्र राठौड़, कालीचरण सराफ और चन्द्रभान सिंह आक्या ने राजस्थान में बच्चियों और महिलाओं के साथ हुए दुष्कर्म के मामले में सवाल लगाए हैं.

रेप, गैंगरेप, और छेड़छाड़ पर होगी बहस
इन्होंने सरकार ने पूछा है कि साल 2018 से लेकर 2021 तक महिलाओं से रेप, गैंगरेप, और छेड़छाड़ के कितने मामले दर्ज हुए हैं. बीजेपी विधायक दल की बैठक में अलवर में मूक बधिर नाबालिग पीड़िता का मामला सदन में जोरदार तरीके से उठाने की रणनीति बनी है. वहीं बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया की कार पर हुए हमले के मामले पर भी बीजेपी सरकार पर हमलावर रहेगी. इसका अलावा किसान कर्ज माफी का मुद्दा भी सदन में विपक्ष की ओर से उठाया जाएगा.

सदन में रीट मामले पर सरकार दे सकती है जवाब
दूसरी तरफ विधानसभा में सरकार रीट परीक्षा के मामले में अब तक हुई कार्रवाई का जवाब भी दे सकती है. विपक्ष लगातार इस मामले में हमलावर रहा तो आसन की ओर से सरकार की ओर से जवाब देने के लिए कहा जा सकता है.

Tags: BJP Congress, Jaipur news, Rajasthan news, Rajasthan Politics, Rajasthan vidhan sabha

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर