राजस्थान विधानसभा चुनाव: बीजेपी ने तैयार किया पैनल, पार्टी वेट एवं वॉच पॉजिशन में

18 मार्च को भाजपा ने टिकट नहीं मिलने पर निर्दलीय मैदान में उतरने वाले 15 नेताओं को पार्टी से छह साल के लिए निकाल दिया था.

18 मार्च को भाजपा ने टिकट नहीं मिलने पर निर्दलीय मैदान में उतरने वाले 15 नेताओं को पार्टी से छह साल के लिए निकाल दिया था.

Rajasthan assembly by-election: उपचुनावों के लिये बीजेपी (BJP) पूरी तैयारी करके बैठी है. वह कांग्रेस की रणनीति (Congress strategy) का आकलन करने के लिये वेट एवं वॉच पॉजिशन बनाये हुये है. इससे पहले रूठों को मनाया जा रहा है वहीं पराये को पाले में लाने की योजना पर काम हो रहा है.

  • Share this:
जयपुर. विधानसभा उपचुनावों (Rajasthan assembly by-election) की घड़ी नजदीक आती जा रही है. बीजेपी और कांग्रेस (BJP & Congress) दोनों ने चुनावी रण को जीतने के लिये कमर कस रखी है. बीजेपी ने उपचुनाव वाली तीनों सीटों के लिये पैनल (Panel) तैयार कर लिया है. पार्टी को सिर्फ आलाकमान के निर्देश का इंतजार है. जिस दिन दिल्ली (Delhi) से बुलावा आयेगा प्रदेश के नेता संसदीय बोर्ड से उम्मीदवारों के नाम तय करा लेंगे और घोषणा हो जायेगी. फिलहाल बीजेपी कांग्रेस के उम्मीदवारों पर नजर गड़ाये हुये हैं. बीजेपी वेट एंड वॉच की पॉजिशन में है.

उपचुनाव के लिये बीजेपी ने पहले सर्वे कराये. फिर पार्टी आलाकमान को रिपोर्ट भेजी. नेताओं के दौरे हुए. रायशुमारियां हुईं. उसके बाद ग्राउंड रिपोर्ट तैयार की गई. अब टिकट का काउंटडाउन शुरू हो गया है. इस बीच बीत रहा एक एक दिन दावेदारों के दिलों की धड़कनें बढ़ा रहा है. प्रदेश नेतृत्व भी पूरा सतर्क और सावधान है. पैनल तैयार हैं. बस दिल्ली से बुलावे का इंतजार है.

एक दूसरे की ताकत और कमजोरी का होकवर्क कराया जा रहा है

30 मार्च को नामांकन की आखिरी तारीख है. कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही इस वक्त एक दूसरे की रणनीति का आकलन कर रही है. एक दूसरे की ताकत और कमजोरी का होकवर्क कराया जा रहा है. रूठे मनाये जा रहे हैं तो पराये को पाले में लाने की योजना पर काम हो रहा है. बीजेपी में केन्द्र के नेता पांच राज्यों के चुनाव में व्यस्त हैं. फिलहाल बीजेपी कोई जल्दबाजी भी नहीं दिखा रही. टिकट पर टकटकी लगाये बैठे दावेदार जरूर बेचैन हैं. आखरी वक्त तक टिकट पाने की जद्दोजहद जारी रहेगी.
एक नहीं कई दावेदार रंग गुलाल अबीर उड़ायेंगे

वहीं प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां संकेत दे रहे हैं कि पार्टी का टिकट नामांकन की अंतिम तिथि से ठीक पहले ही घोषित किया जायेगा. चुनाव से पहले होली का हुड़दंग खूब मचेगा. टिकट के इंतजार में एक नहीं कई दावेदार रंग गुलाल अबीर उड़ायेंगे. लेकिन होली का धमाल धुलंडी के बाद उसी के घर मचेगा जिसके खाते में टिकट जायेगा. भले ही जीत मिले या ना मिले.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज