राजस्थान विधानसभा उपचुनाव में डेढ़ करोड़ रुपयों की शराब व अन्य सामग्री जब्त

सांकेतिक फोटो.

सांकेतिक फोटो.

राजस्थान (Rajasthan) के 3 निर्वाचन क्षेत्रों में होने वाले विधानसभा उप चुनाव (Assembly By-Election) के लिए सतर्कता टीम काम कर रही है.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) के 3 निर्वाचन क्षेत्रों में होने वाले विधानसभा उप चुनाव (Assembly By-Election) के लिए सतर्कता टीम काम कर रही है. निर्वाचन विभाग के निर्देश पर संबधित विभागों ने 1.50 करोड़ रुपयों से ज्यादा मूल्य की अवैध शराब, नकद राशि, नशीले पदार्थ व अन्य सामग्री जब्त की है. मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने बताया कि विधान सभा उप चुनाव की घोषणा होने के साथ ही संबंधित विभागों की टीमों ने काम करना शुरू कर दिया था. सुजानगढ़ (चूरू), राजसमन्द एवं सहाडा (भीलवाडा) में 30 मार्च तक 1.56 करोड़ की विभिन्न सामग्री जब्त की है. उन्होंने बताया कि क्षेत्रों में काम कर रही एफएसटी, एसएसटी और पुलिस ने मिलकर 6.32 लाख रुपए मूल्य  की अवैध शराब, 98 लाख रुपए मूल्य के  नशीले पदार्थ और 52 लाख से ज्यादा मूल्य की अन्य संदेहास्पद सामग्री को जब्त किया है.

रखी जा रही है कड़ी निगरानी

मुख़्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने बताया कि क्षेत्र में विभागों द्वारा कड़ी निगरानी रखी जा रही है और किसी भी संदेहास्पद मामले पर कड़ी कार्रवाई की जा रही है. गौरतलब है कि तीनों विधानसभा क्षेत्रों  में 17 अप्रैल को प्रातः 7 बजे से सायं 6 बजे तक मतदान होगा, जबकि 2 मई को मतगणना करवाई जाएगी.

महज 100 मिनट में होगी प्रभावी कार्रवाई
मुख्य निर्वाचन अधिकारी  प्रवीण गुप्ता ने बताया कि 2021 में आदर्श आचार संहिता (एमसीसी) के उल्लंघन पर प्रभावी कार्यवाही के लिए आमजन ‘सी-विजिल‘(नागरिक सतर्कता) एप का इस्तेमाल कर सकते हैं. इस एप की खास बात यह है ​कि आचार संहिता से जुड़ी किसी भी शिकायत का समाधान महज 100 मिनट में हो जाता है. भारत निर्वाचन आयोग निर्वाचन प्रक्रिया को सुगम और प्रभावी बनाने के लिए नित नई तकनीक का इस्तेमाल कर रहा है. इसी कड़ी में आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन को रोकने में इस एप अहम भूमिका निभा रहा है. भारत निर्वाचन आयोग ने कई राज्यों में इस एप के जरिए प्रभावी कार्रवाई की है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज