राजस्थान विधानसभा उपचुनाव: सहाड़ा, राजसमंद और सुजानगढ़ में मतदान कल, 10 प्वाइंट में समझें आयोग की तैयारी

मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने मतदाताओं से 
कोरोना गाइडलाइन की पालना करने की अपील की है.

मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने मतदाताओं से कोरोना गाइडलाइन की पालना करने की अपील की है.

Rajasthan Assembly by-election: तीन विधानसभा सीटों के लिये 17 अप्रैल को मतदान (Voting) होगा. मतदान सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक होगा. राज्य चुनाव आयोग (State election department) ने सभी तैयारी करने का दावा किया है.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान में विधानसभा उपचुनावों (Rajasthan Assembly by-election) के लिए मतदान की घड़ी अब समीप आ गई है. उपचुनावों के लिए गुरुवार शाम को प्रचार बंद हो चुका है. शांतिपूर्ण, निष्पक्ष एवं पारदर्शी चुनाव कराने के लिए राज्य निर्वाचन विभाग (State election department) ने पूरी तैयारी का दावा किया है. 17 अप्रैल को प्रदेश की तीन विधानसभा सीटों सहाड़ा, राजसमंद और सुजानगढ़ के लिए सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक मतदान होगा.

कोराना के चलते इस बार मतदान का समय 1 घंटे बढ़ाया गया है. तीन सीटों के लिए कुल 27 उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं. संवेदनशील और अतिसंवेदनशील मतदान केन्द्रों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. मतदान केन्द्रों पर पर्याप्त संख्या में सुरक्षा बल तैनात कर दिए गये हैं. तीनों विधानसभा के उपचुनाव में कुल 7 लाख 43 हजार 802 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे. इनमें 3 लाख 80 हजार 192 पुरुष मतदाता हैं और 3 लाख 63 हजार 610 महिला मतदाता शामिल हैं. मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने मतदाताओं से कोरोना गाइडलाइन का पालन करने की अपील की है.

Youtube Video


आयोग की चुनाव तैयारियों पर एक नजर
- करीब 50 हजार कार्मिक चुनाव संपन्न करवाएंगे.

- कुल 27 उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं.

- संवेदनशील मतदान केन्द्रों पर वेबकास्टिंग से नजर रखी जाएगी.



- बलवा, बूथ कैप्चरिंग और अनाधिकृत लोगों के मतदान केन्द्रों पर प्रवेश पर राज्य निर्वाचन आयोग की कड़ी नजर रहेगी.

- कुल 1145 मतदान केन्द्र स्थापित किए गए हैं.

- इनमें से 100 संवेदनशील मतदान केन्द्रों पर वेब कैमरों के जरिए नजर रखी जाएगी.

- सहाड़ा विधानसभा के 39 केन्द्रों पर वेबकास्टिंग होगी.

- राजसमंद के 35 और सुजानगढ़ विधानसभा क्षेत्र में 26 मतदान केन्द्रों पर वेबकास्टिंग के जरिए नजर रखी जाएगी.

- निर्वाचन से जुड़ी किसी भी समस्या या शिकायत के लिए कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है.

- मतदाताओं से जुड़ी समस्याओं के लिए 1950 वोटर हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज