राजस्थान विधानसभा उपचुनाव: 'वोटर हेल्पलाइन' एप से एक टच में मिलेगी मतदाता को सभी जानिकारियां, जानिये कैसे

भारत निर्वाचन आयोग द्वारा निर्मित इस एप को कोई भी मतदाता एंड्रायड फोन पर प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकता है.

भारत निर्वाचन आयोग द्वारा निर्मित इस एप को कोई भी मतदाता एंड्रायड फोन पर प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकता है.

Rajasthan Assembly by-election: भारत निर्वाचन आयोग की ओर से तैयार कराये गये ‘वोटर हेल्पलाइन' एप (Voter helpline app) के जरिये मतदाता एक टच पर पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

  • Share this:
जयपुर. प्रदेश के तीन विधानसभाओं में होने वाले उपचुनाव (Rajasthan Assembly by-election) में मतदाता अपना नाम, भाग संख्या और मतदान केन्द्र सहित कई तरह की जानकारियां भारत निर्वाचन आयोग (Election Commission of India) की ओर से निर्मित ‘वोटर हेल्पलाइन' एप (Voter helpline app) के जरिये एक टच पर प्राप्त कर सकते हैं. मतदाताओं के लिए निर्वाचन और मतदान प्रक्रिया को सहज बनाने के लिए आयोग द्वारा व्यापक स्तर पर आईटी और तकनीक (IT and technology) का इस्तेमाल किया जा रहा है.

मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने बताया मतदाताओं की मदद के लिए ‘वोटर हेल्पलाइन‘ खासा प्रभावी एप साबित हो रहा है. मतदाता अपना नाम मतदाता सूची में खोजने, नया वोटर कार्ड बनाने, मतदाता सूची में अपना नाम के अलावा भाग संख्या और क्रमांक संख्या देखने के लिए इस एप का इस्तेमाल कर सकते हैं. भारत निर्वाचन आयोग के आयुक्त सुनील अरोड़ा ने राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता को मतदाताओं को अधिक से अधिक सुविधा प्रदान करने के निर्देश दिए हैं.

1.9 करोड़ लोग इस सुविधा का उठा चुके हैं लाभ

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा भारत निर्वाचन आयोग द्वारा निर्मित इस एप को कोई भी मतदाता एंड्रायड फोन पर प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकता है. यह ऑनलाइन माध्यम इतना आसान और विश्वसनीय है कि मतदाता को कहीं बाहर जाने की जरूरत नहीं है. उन्होंने बताया कि अब तक 1.9 करोड से ज्यादा लोग इस एप की सुविधा का लाभ उठा चुके हैं. इस एप के माध्यम से मतदाता भारत निर्वाचन आयोग की वेबसाइट, स्वीप, एनवीएसपी, मतदाता सर्च और शिकायत पोर्टल का उपयोग भी कर सकते हैं.
मतदाताओं को होगी सुविधा

मुख्य निर्वाचन अधिकारी के अनुसार नए मतदाता के रूप में जिन लोगों ने अपने नाम का पंजीकरण करवाया है वे एनवीएसपी तथा इस एप के जरिए अपना ई-ईपिक (वोटर परिचय पत्र) डाउनलोड कर सकेंगे. इन तीनों विधानसभा क्षेत्रों की मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन किया जा चुका है. ऐसे में क्षेत्र के मतदाताओं द्वारा इस एप के जरिए नाम जुड़वाना, हटवाना या संशोधन संभव नहीं होगा. इसके अलावा अन्य सभी जानकारियां इस एप से हासिल की जा सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज