7000 करोड़ के कर्जमाफी के दावे पर विधानसभा में घिरी गहलोत सरकार

किसानों को कर्जमाफी की राहत के दावे पर शुक्रवार को बीजेपी ने विधानसभा के बजट सत्र में अशोक गहलोत सरकार को घेरा.

News18Hindi
Updated: July 12, 2019, 1:27 PM IST
7000 करोड़ के कर्जमाफी के दावे पर विधानसभा में घिरी गहलोत सरकार
फोटो- विधानसभा के बजट सत्र में सहकारिता मंत्री.
News18Hindi
Updated: July 12, 2019, 1:27 PM IST
राजस्थान में 20 लाख 46 हजार किसानों को कर्जमाफी की राहत के दावे पर शुक्रवार को बीजेपी ने अशोक गहलोत सरकार को विधानसभा के बजट सत्र में घेरा. फुलेरा से बीजेपी विधायक ने सदन में किसान कर्जमाफी पर सरकार से सवाल किया था. सवाल का जवाब देते हुए सहकारिता मंत्री उदयलाल अंजना ने कहा कि किसानों के 7000 करोड़ के कर्ज माफ किए गए है. लेकिन जब बीजेपी विधायक कुमावत ने पूछा कि, क्या किसानों के खाते में जमा करवा दिए? तो मंत्री सीधे जवाब नहीं दे पाए. कर्जमाफी के इस मुद्दे पर मंत्री के जवाब से असंतुष्ट बीजेपी विधायकों ने सदन से वाकआउट किया. किसानों के कर्ज माफी के मुद्दे पर सहकारिता मंत्री के जवाब से बीजेपी विधायक संतुष्ट नहीं हुए. उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने स्पीकर पर मंत्री को बचाने का अरोप भी लगाया. और इसके बाद बीजेपी ने वाकआउट किया.

बीजेपी सरकार ने 50 हजार का कर्ज माफ किया



अपने बजट भाषण में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा था कि पिछली सरकार ने सहकारी बैंकों के किसानों कर्ज सिर्फ 50 हजार रुपए का अल्पकालीन फसली कर्ज माफ किया था. बाद में आनुपातिक रूप से शेष रहे किसानों को शामिल करते हुए गत सरकार ने कर्जमाफी के पेटे 8 हजार करोड़ की माफी का ऐलान तो किया लेकिन 2 हजार करोड़ ही उपलब्ध करावाए.

ये भी पढ़ें- किसानों से गहलोत ने कहा- 'सरकार एहसान नहीं कर रही'

गहलोत सरकार ने 20 लाख 46 हजार किसानों का किया कर्ज माफ

हमारी सरकार ने एक तरफ शेष रहे 6 हजार करोड़ चुकाकर किसानों को कर्जमाफी का पूरा लाभ दिया. दूसरी तरफ 30 नवंबर 2018 तक किसानों के बकाया रहे 9 हजार 513 करोड़ के अल्पकालीन फसली कर्ज भी माफ किए. इससे 20 लाख 46 हजार किसानों को कर्ज माफी की राहत मिली. सरकार ने 2 लाख के मध्यकालीन एवं दीर्घकालीन कृषि कर्ज माफ करने से किसानों की 1 लाख 10 हजार बीघा भूमि रहन मुक्त हो गई है.

ये भी पढ़ें- 'राजस्थान में भी हाेगी उठापटक, 2 महीने में भगदड़ मचना तय'
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...