जयपुर में छापे के बाद हुआ नकली दवा के बड़े कारोबार का भंडाफोड़, औषधि नियंत्रण ने बिक्री पर लगाई रोक

जयपुर में छापे में औषधि नियंत्रण संगठन ने नकली दवा के बड़े कारोबार का खुलासा किया है. औषधि नियंत्रण संगठन ने सहकारी उपभोक्ता दवा केंद्रों पर नकली दवा की सप्लाई का बड़ा मामला पकड़ा गया है. दो दिन चली इस कार्रवाई में 3 करोड़ 78 लाख रुपए की दवा बेचे जाने की इन सहकारी उपभोक्ता दवा केंद्रों से सबूत मिले हैं.

Sachin Sharma | News18 Rajasthan
Updated: August 8, 2019, 3:07 PM IST
जयपुर में छापे के बाद हुआ नकली दवा के बड़े कारोबार का भंडाफोड़, औषधि नियंत्रण ने बिक्री पर लगाई रोक
दवाओं की जांच करती औषधि नियंत्रण संगठन की टीम
Sachin Sharma | News18 Rajasthan
Updated: August 8, 2019, 3:07 PM IST
प्रदेश के औषधि नियंत्रण संगठन ने राजधानी जयपुर में छापेमारी की कार्रवाई करते हुए नकली दवा का बड़ा कारोबार पकड़ा है. ड्रग कंट्रोलर अजय फाटक के नेतृत्व में हुई इस कार्रवाई में सहकारी उपभोक्ता दवा केंद्रों पर नकली दवा की सप्लाई का बड़ा मामला पकड़ा गया है.

छापे के दौरान दवाओं का सैंपल लेते विभागीय अधिकारी


औषधि नियंत्रण संगठन ने नाहरगढ़ रोड स्थित विमल एजेंसी और गीतांजलि टॉवर अजमेर रोड पर गणपति फार्मा के यहां की छापेमारी की कार्रवाई की. दो दिन चली इस कार्रवाई में 3 करोड़ 78 लाख रुपए की दवा बेचे जाने की इन सहकारी उपभोक्ता दवा केंद्रों से सबूत मिले हैं. हरियाणा और पंजाब में बन रही ये दवाएं लैब जांच में नकली पाई गईं हैं. गाबाला एम नाम की दवा में जो मिक्स्ड साल्ट होने चाहिए थे , उसमें दवा के दोनों ही नहीं पाए गए. औषधि नियंत्रण संगठन ने जहां एक और श्रीगंगानगर से भी दवा के सैंपल लिए हैं, वहीं दूसरी ओर हरियाणा और पंजाब औषधि नियंत्रण संगठन को भी कार्रवाई की सूचना दे दी है. औषधि नियंत्रण संगठन ने दवा के विक्रय और संग्रहण पर रोक लगा दी है.

ये भी पढ़ें- वीडियो वायरल करने की धमकी देकर करता था रेप, हुआ गिरफ्तार

नाबालिग को शादी का झांसा देकर किया अगवा, बंधक बनाकर किया रेप

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 8, 2019, 3:02 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...