फिर चौंकाएंगे पीएम मोदी? राजस्थान में इस शख्स को साैंपी जा सकती है BJP की कमान

मदन लाल सैनी के देहांत के बाद एक बार फिर से सियासी गलियारों में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष को लेकर अटकलों का दौर शुरू हो गया है. चर्चा में जो नाम बताए जा रहे हैं उनमें तीन संघ पृष्ठभूमि के हैं. वहीं एक युवा चेहरा भी शामिल है.

sambrat chaturvedi | News18Hindi
Updated: June 27, 2019, 4:55 PM IST
फिर चौंकाएंगे पीएम मोदी? राजस्थान में इस शख्स को साैंपी जा सकती है BJP की कमान
विधायक मदन दिलावर.
sambrat chaturvedi
sambrat chaturvedi | News18Hindi
Updated: June 27, 2019, 4:55 PM IST
राजस्थान में पिछले साल विधानसभा चुनाव में हार के बाद बीजेपी प्रदेश अशोक परनामी के इस्तीफे से शुरू हुई नए अध्यक्ष के चुनाव की कवायद एक बार फिर शुरू हो गई है. मदनलाल सैनी से पहले प्रदेश संगठन की जिम्मेदारी अरुण चतुर्वेदी, सतीश पूनिया के नामों पर अटकलों के बाद आखिर गजेंद्र सिंह शेखावत को सौंपी जानी लगभग तय थी, लेकिन पार्टी ने सबको चौंकाते हुए मदनलाल सैनी को पार्टी चीफ बनाया गया.

अब मदनलाल सैनी के देहांत के बाद फिर से सियासी गलियारों में नए प्रदेश अध्यक्ष को लेकर अटकलों का दौर शुरू हो गया है. चर्चा में जो नाम बताए जा रहे हैं, उनमें तीन संघ पृष्ठभूमि के हैं तो एक युवा चेहरा भी बताया जा रहा है. लेकिन सूत्रों की मानें तो एक बार फिर पीएम नरेंद्र मोदी चौंका सकते हैं और एक बार फिर पार्टी के एक सामान्य कार्यकर्ता को प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है.

रामगंजमंडी से विधायक मदन दिलावर रेस में सबसे आगे!
राजस्थान में बीजेपी अध्यक्ष की दौड़ में कोटा की रामगंजमंडी से विधायक मदन दिलावर सबसे आगे बताए जा रहे हैं. संघ पृष्ठभूमि, जमीनी जुड़ाव, कार्यकर्ताओं के बीच साफ सुथरी छवि और नेताओं के साथ तालमेत दिलावर की खासियत रही हैं. पार्टी सूत्रों की मानें तो पार्टी दिलावर को पार्टी की कमार सौंपकर एक बार फिर चौंकाने वाली है.

ये भी पढ़ें- OMG! विधानसभा में ये क्या पहनकर पहुंच गए माकपा विधायक?

bjp state president, rajasthan
(बाएं से) वासुदेव देवनानी, मदन दिलावर और सतीश पूनिया.


चर्चा में हैं ये तीन नाम भी
Loading...

वैश्य, जाट, राजपूत और दलित को केंद्र में अहम जिम्मेदारी देने के बाद बने समीकरणों के बाद दो पूर्व मंत्रियों वासुदेव देवनानी और अरुण चतुर्वेदी का नाम भी चर्चा में है. वहीं सतीश पूनिया को भी भावी प्रदेश अध्यक्ष के तौर देखा जा रहा है. ये तीनों नेता ही संघ पृष्ठभूमि के हैं. पार्टी अभी तक संगठन की जिम्मेदारी ऐसे ही किसी संघ पृष्ठभूमि वाले नेता को सौंपती आई है.

ये भी पढ़ें- राजस्थान विधानसभा में पत्रकारों पर पाबंदी, धरने पर पत्रकार
First published: June 27, 2019, 2:06 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...