लाइव टीवी

बोर्ड परीक्षा में पेपर आउट न हों, इसके लिए किए गए खास इंतजाम

Babulal Dhayal | News18 Rajasthan
Updated: March 6, 2019, 7:01 PM IST
बोर्ड परीक्षा में पेपर आउट न हों, इसके लिए किए गए खास इंतजाम
पेपर आउट होने से बचाने के लिए इंतजाम पहले के मुकाबले पुख्ता दिखाई दिए हैं.

राजस्थान बोर्ड परीक्षाओं में नकल रोकने के लिए पुलिस का पहरा पहले से कड़ा नजर आया है. पेपर आउट होने से बचाने के लिए इंतजाम पहले के मुकाबले पुख्ता किए गए हैं.

  • Share this:
राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड परीक्षाओं के पारदर्शी संचालन के लिए इस बार संभल संभल कर कदम रख रहा है. बोर्ड की परीक्षाएं 7 मार्च से शुरू हो रही हैं और परीक्षा पूर्व प्रश्न पत्रों के वितरण का काम शुरू हो चुका है. मंगलवार से शुरू हुए प्रश्न-पत्र वितरण कार्य के दौरान पुलिस का पहरा पहले से कड़ा नजर आया है. पेपर आउट होने से बचाने के लिए इंतजाम पहले के मुकाबले खासे मुस्तैद दिखाई दिए है.

ये भी पढ़ें- पाली बस हादसा: मामूली सी चूक ने ली 6 लोगों की जान, 25 घायल, 2 की हालत गंभीर

राजस्थान बोर्ड परीक्षाओं का आगाज गुरुवार को हो रहा है और उससे पहले संगीनों के साये में परीक्षाओं के प्रश्न पत्र पुलिस थानों के लिए रवाना किए गए हैं. प्रदेश भर में पेपर्स की हिफाजत के लिए पुलिस ने भी कड़े इंतजाम किए हैं. सुबह से ही पेपर लेने के लिए संस्था प्रधानों से लेकर शिक्षक और अधिकारी अपनी बारी का इंतजार करते दिखाई दिए.

ये भी पढ़ें- राजस्थान में MSP पर गेहूं की खरीद 15 मार्च से, यहां पढ़ें- इन 11 दस्तावेजों से होगा रजिस्ट्रेशन

पेपर थानों में रखवाए गए हैं. परीक्षा के एक घंटे पहले थाने से निकाले जाएंगे. सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता की गई हैं.
रामचंद्र पिलानियां, शिक्षा अधिकारी माध्यमिक मुख्यालय


फेक्ट फाइल
7 मार्च से हैं माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की परीक्षाएं
Loading...

20 लाख से ज्यादा छात्र देंगे परीक्षाएं
7 मार्च से बारहवीं और 14 मार्च से 10 वीं की परीक्षाएं होंगी शुरू
5600 परीक्षा केंद्रों पर होगी परीक्षा


ये भी पढ़ें- शिवरात्रि पर क्यों करनी पड़ी बिजली के खंभे की पूजा? देखें- VIRAL VIDEO

नकल रोकने के लिए चौकस निगाहें
बोर्ड परीक्षाओं में नकल रोकने के लिए उड़न दस्तों की निगाहें भी चौकस रहेंगी. दो ब्लॉक के बीच में एक उड़न दस्ता जिला शिक्षा अधिकारी तैनात करेंगे. वहीं बोर्ड के फ्लाइंग स्क्वॉयड प्रदेश के किसी भी हिस्से में औचक निरीक्षण करेंगे. भरतपुर संभाग और शेखावाटी अंचल की स्कूलों पर बोर्ड की पैनी निगाह हैं. संवेदनशील परीक्षा केंद्रों पर नकल रोकने के लिए सीसीटीवी कैमरों की भी मदद ली जाएगी. निजी स्कूलों के परीक्षा केंद्रों पर भी इस बार सतर्कता बढ़ाई गई है.

ये भी पढ़ें- DRONE: बॉर्डर पर इन 4 तरीकों से घुसपैठ कर सकता है पाकिस्तान!
बोर्ड परीक्षाएं निष्पक्ष हों और बच्चे निडर होकर परीक्षाएं दे सकें इसके लिए तमाम व्यवस्थाएं की गई है. जहां से शिकायतें आती थी वहां सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं. आगे आने वाले समय में पादर्शिता के लिहाज से सभी सेंटरों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाने पर विचार किया जा रहा है.
गोविंद सिंह डोटासरा, शिक्षा राज्य मंत्री


माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की परीक्षाओं के सुचारू संचालन के लिए सरकार ने हर संभव कदम उठाये हैं. युवा आईएएस नथमल डीडेल को बोर्ड अध्यक्ष का कार्यभार सौंपा गया है. जाहिर है पूर्व की गलतियों से बोर्ड अधिकारियों ने काफी कुछ सीखा है और अपनी छवि को बेदाग बनाये रखने के लिए इस बार वो किसी भी तरह का जेाखिम उठाने को तैयार नहीं है.

ये भी पढ़ें- PHOTOS: राजस्थान के बड़े शहरों में क्या है आज के पेट्रोल-डीजल के भाव

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अजमेर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 6, 2019, 5:46 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...