राजस्थान बोर्ड का 60 लाख बच्चों को तोहफा, अब DigiLocker में मिलेगा ये डॉक्यूमेंट, ऐसे करें यूज
Jaipur News in Hindi

राजस्थान बोर्ड का 60 लाख बच्चों को तोहफा, अब DigiLocker में मिलेगा ये डॉक्यूमेंट, ऐसे करें यूज
डिजिटल फॉर्मेट में मार्कशीट बच्चों को मिलेगी.

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (Rajasthan Board) ने भारत रत्न पूर्व पीएम और डिजिटल क्रांति (Digital Revolution) के जनक राजीव गांधी की 76वी जयंती पर विद्यार्थियों को बड़ी सौगात दी है. 

  • Share this:


जयपुर. राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (Rajasthan Board of Secondary Education) ने प्रदेश के 60 लाख परीक्षार्थियों को एक बड़ी सौगात दी है. बोर्ड परीक्षा से जुड़े वर्ष 2018, 2019 और 2020 के परीक्षार्थियों को परीक्षा से जुड़े दस्तावेज जिसमें अंकतालिका, परीक्षा प्रमाण-पत्र उनके डिजिलॉकर (Digilocker) में उपलब्ध कराये जा रहे हैं. बोर्ड के अध्यक्ष डॉ. डीपी जारोली ने गुरूवार को देश में संचार क्रांति के जनक पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी (Rajiv Gandhi) की 76वीं जयन्ती के मौके पर राजस्थान बोर्ड के लाखों विद्यार्थियों को यह अनुपम भेंट दी है. राजस्थान बोर्ड के प्रमाण पत्र ऑनलाइन उपलब्ध होने से परीक्षार्थियों का रिकॉर्ड हमेशा के लिए डिजिटल फॉर्मेट (Digital Format) में ऑनलाइन उपलब्ध रहेगा.

डिटिलॉकर में मार्कशीट अपलोड करने से परीक्षार्थियों के प्रमाण पत्र खो जाने या नष्ट होने के कारण होने वाली असुविधा से मुक्ति मिलेगी. डॉ. डीपी जारोली ने बताया कि डिजिलॉकर पर राजस्थान बोर्ड के दस्तावेज प्राप्त करने के लिए परीक्षार्थी को प्ले स्टोर पर जाकर DIGILOCKER Govt of India app  डाउनलोड करना होगा.



ये भी पढ़ें: बड़ी खबर: होम क्वारंटाइन हुए CM मनोहर लाल खट्टर, जानें क्या रही कोरोना टेस्ट रिपोर्ट 
ऐसे इस्तेमाल करें डिजिलॉकर 

डॉ. डीपी जारोली ने बताया कि डाउनलोड करने के बाद एप पर अपना मोबाइल नम्बर या आधार नम्बर अंकित कर ओटीपी वेरिफिकेशन कर अपने पसन्द का पिन/पासवर्ड जनरेट करना होगा. पिन/पासवर्ड जनरेशन के बाद लॉगिन कर जरूरी दस्तावेज डाउनलोड कर देखा जा सकेगा. वहीं आवश्यकता होने पर उसका प्रिन्ट आउट भी प्राप्त किया जा सकेगा. बोर्ड अध्यक्ष ने बताया कि राजस्थान बोर्ड का प्रयास है कि विगत एक दशक के बोर्ड परीक्षार्थियों के दस्तावेज डिजिलॉकर में उपलब्ध कराये जाएं. उल्लेखनीय है कि राजस्थान बोर्ड ने जिला स्तर पर विद्यार्थियों के परीक्षा संबंधी दस्तावेज उपलब्ध कराने के लिए विद्यार्थी सेवा केन्द्र स्थापित किए हैं. इसकी मदद से परीक्षार्थी को अपने परीक्षा संबंधी दस्तावेज प्राप्त करने के लिए बोर्ड के मुख्य कार्यालय आने के लिए जरूरत भी नहीं होती है.


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज