Assembly Banner 2021

Rajasthan: बजट का एक पेज पढ़ना ही भूल गए थे गहलोत, आज कर दी ये बड़ी घोषणाएं

अजमेर में राजस्थान राज्य आयुष अनुसंधान केंद्र की स्थापना की जाएगी.

अजमेर में राजस्थान राज्य आयुष अनुसंधान केंद्र की स्थापना की जाएगी.

Rajasthan Budget 2021: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कल बजट भाषण में पृष्ठ संख्या 10 को पढ़ना भूल गए थे. आज उन्होंने सदन को जानकारी थी. गहलोत ने 6 करोड़ की लागत से 40 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और 25 प्राइमरी हेल्थ सेंटर के भवन निर्माण बनाने की घोषणा की. 11,000 से ज़्यादा कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर की भर्ती की जाएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 25, 2021, 9:55 PM IST
  • Share this:
जयपुर. मुख्यमंत्री गहलोत ने बुधवार को राजस्थान का बजट पेश किया था. बजट भाषण में पृष्ठ संख्या 10 को पढ़ना भूल गए थे. सदन में गहलोत ने आज कल की रही घोषणा के बारे में सदन को बताया. ये घोषणाएं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को अपग्रेड करने से जुड़ी हैं. गहलोत ने बताया कि नए ट्रॉमा सेंटर खोले जाएंगे. 6 करोड़ की लागत से 40 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और 25 प्राइमरी हेल्थ सेंटर के भवन निर्माण होंगे. 11,000 से ज़्यादा कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर की भर्ती की जाएगी. हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर के रूप में प्राथमिक सेवा केंद्रों को विकसित किया जाएगा. अजमेर में राजस्थान राज्य आयुष अनुसंधान केंद्र की स्थापना की जाएगी.

गहलोत ने अपने बजट भाषण में कहा, "माननीय अध्यक्ष महोदय, जैसा कि मैंने आपको सूचित किया था कि कल पृष्ठ संख्या 10 बजट स्पीच में गलती से बोलने से रह गया था. उसके लिए मैंने आपसे रिक्वेस्ट की थी कि मैं उसको सदन के सामने पेश करना चाहता हूं. शाहपुरा-भीलवाड़ा, नोखा-बीकानेर, हिंडौन-करौली, सागवाड़ा-डूंगरपुर, सवाई माधोपुर शहर (सीएचसी), नीमकाथाना-सीकर, शिवगंज-सिरोही, बालोतरा-बाड़मेर और प्रतापनगर-जोधपुर के चिकित्सा संस्थानों को जिला अस्पताल में क्रमोन्नत किया जाएगा. कुचामनसिटी, लाडनूं-नागौर, उदयपुरवाटी-झुंझुनू, हलैना-भरतपुर, मनियां (राजाखेड़ा)-धौलपुर व कोलायत-बीकानेर सहित 10 नवीन ट्रॉमा सेंटर खोले जाएंगे. 40 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों तथा 25 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के भवन निर्माण लगभग 206 करोड़ रुपए की लागत से किए जाएंगे."

उन्होंने आगे कहा, "मेडिकल कॉलेज के अस्पतालों के रोगी भार कम किए जाने के लिए कोटा में 150 बेड्स क्षमता के नवीन जिला चिकित्सालय की स्थापना और जोधपुर मंडोर अस्पताल को जिला अस्पताल में क्रमोन्नत किया जाएगा. राज्य के विभिन्न चिकित्सालयों में कुल 1000 बेड्स की बढ़ोतरी की जाएगी.
राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत लगभग 11 हजार प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और उप स्वास्थ्य केंद्रों को हैल्थ एंड वेलनेस सेंटर के रूप में विकसित कर 12 प्रकार की विभिन्न प्राथमिक स्वास्थ्य सेवाएं चरणबद्ध तरीके से उपलब्ध करवाई जाएंगी. इसके लिए 11 हजार से अधिक कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर्स (CHO) की भर्ती की जा रही है."
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज