राजस्थान: उपचुनाव को लेकर अजय माकन ने की सीएम गहलोत के साथ मंत्रणा

माना जा रहा है कि कांग्रेस ऐनवक्त पर ही प्रत्याशियों को लेकर अपने पत्ते खोलेगी.

माना जा रहा है कि कांग्रेस ऐनवक्त पर ही प्रत्याशियों को लेकर अपने पत्ते खोलेगी.

राजस्थान में राजनीतिक नियुक्तियों का मामला एक बार फिर से टलता हुआ नजर आ रहा है. जिन तीन सीटों पर उपचुनाव होने हैं, उनमें नामांकन दाखिल करने की 30 मार्च आखिरी तारीख है. माना जा रहा है कि कांग्रेस ऐनवक्त पर ही प्रत्याशियों को लेकर अपने पत्ते खोलेगी.

  • Share this:
जयपुर. प्रदेश की चार में से तीन सीटों पर उपचुनाव के लिए मंगलवार से नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी. कांग्रेस इन सीटों पर चुनाव जीतने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगा रही है. पार्टी के प्रदेश प्रभारी अजय माकन ने आज अपने जयपुर दौरे के दौरान उपचुनाव को लेकर महामंथन किया. पीसीसी में माकन ने पार्टी पदाधिकारियों से चर्चा कर उपचुनाव जीतने की रणनीति पर विचार किया. माकन ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ ही पीसीसी चीफ और पदाधिकारियों से कल तक नामों के पैनल दिल्ली भिजवाने का आग्रह किया है ताकि योग्य प्रत्याशियों का चयन समय रहते किया जा सके. पैनल भेजे जाने के बाद प्रत्याशियों के नामों को पार्टी आलाकमान से अप्रूव करवाया जाएगा. उन्होने कहा कि पैनल में नामों की संख्या निर्धारित नहीं की गई है. मीडिया से बात करते हुए माकन ने कहा कि चारों सीटों पर पार्टी की अच्छी तैयारी है और प्रभारियों और पदाधिकारियों ने अच्छा होमवर्क किया है. साथ ही सरकार के विकास कार्यों और बेहतर कोरोना प्रबंधन आदि का लाभ भी पार्टी को चुनाव में मिलेगा.

सीएम गहलोत से भी माकन की मंत्रणा

पीसीसी में बैठक में पूर्व माकन ने मुख्यमंत्री निवास में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से भी उपचुनाव को लेकर लंबी मंत्रणा की. पीसीसी चीफ गोविन्द सिंह डोटासरा के साथ ही उपचुनाव वाले क्षेत्रों से सम्बन्धित कुछ खास लोग भी इस दौरान मौजूद रहे. माकन ने कहा कि उपचुनाव कांग्रेस के लिए महत्वपूर्ण है. प्रभारी मंत्रियों और पर्यवेक्षकों द्वारा तैयार की गई रिपोर्ट उनके पास आ चुकी है जिसके अनुसार रणनीति तैयार की जा रही है. पार्टी में राजनीतिक नियुक्तियों का मामला एक बार फिर से टलता हुआ नजर आ रहा है. माकन ने कहा कि राजनीतिक नियुक्तियों पर चर्चा उपचुनाव के बाद करेंगे. तीन सीटों पर नामांकन दाखिल करने की 30 मार्च आखिरी तारीख है और माना जा रहा है कि कांग्रेस ऐनवक्त पर ही प्रत्याशियों को लेकर अपने पत्ते खोलेगी.

फोन टैपिंग पर पलटवार
फोन टैपिंग के मुद्दे पर माकन ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि जिनके ऊपर खुद फोन टैपिंग के आरोप हैं, वे मुद्दा उठा रहे हैं. उन्होंने कहा कि रक्षा मंत्री रहते हुए राजनाथ सिंह ने फोन टैपिंग के आरोप लगाए थे. उन्होंने कहा कि क्या यह हास्यास्पद बात नहीं है कि जिनके ऊपर खुद फोन टैपिंग के आरोप हैं वे फोन टैपिंग का मुद्दा उठाएं. उधर पिछले दिनों सामने आई पार्टी विधायकों की नाराजगी पर माकन ने कहा कि नाराजगी जैसी कोई बात नहीं है और सभी विधायक एकजुट होकर पार्टी को जिताने में लगे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज