लाइव टीवी

पी. चिदंबरम को जेल में डाले 70 दिन हो गए, बदले की भावना का यह सबसे बड़ा उदाहरण- गहलोत

News18 Rajasthan
Updated: November 1, 2019, 2:04 PM IST
पी. चिदंबरम को जेल में डाले 70 दिन हो गए, बदले की भावना का यह सबसे बड़ा उदाहरण- गहलोत
गहलोत ने कहा कि बदले की भावना के तहत चिदंबरम को जेल में डाल दिया गया.

आईएनएक्स (INX) मीडिया केस मामले में तिहाड़ जेल में बंद पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम (P. Chidambaram) से मुख्यमंत्री मंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने शुक्रवार को मुलाकात की. गहलोत ने कहा कि बदले की भावना के तहत चिदंबरम को जेल में डाल दिया गया.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान के मुख्यमंत्री मंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने शुक्रवार को आईएनएक्स  (INX) मीडिया केस मामले में तिहाड़ जेल में बंद पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम (P. Chidambaram) से मुलाकात की. चिदंबरम से तिहाड़ (Tihar Prison Complex) में मिलने के बाद सीएम गहलोत ने कहा कि यह पूरे देश में यह इकलौता उदाहरण है जिसमें आप बिना किसी आरोप के एक बयान के आधार पर किसी को जेल में डाल दो. पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम को जेल में डाले 70 दिन हो गए हैं. आप समझ सकते हैं कि देश में लोकतंत्र कहां है? चिदंबरम साहब को देश की न्याय व्यवस्था पर पूरा विश्वास है. देश के अंदर बदले की भावना से राजनीति की जा रही है. हमें पूरी उम्मीद है कि सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court of India) एक केस में जमानत दे चुका है. ऐसे में दूसरे मामले में भी जल्द बेल मिल जाएगी. जो मिसेज मुखर्जी अपनी बेटी की हत्या के आरोप में जेल में बंद हैं उनकी गवाही पर बदले की भावना के तहत चिदंबरम को जेल में डाल दिया गया.

Ashok Gehlot, P Chidambaram
तिहाड़ जेल में बंद पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम से मुख्यमंत्री मंत्री अशोक गहलोत ने मुलाकात की.


जेल में भी उद्योग-धंधों, किसान और एक्सपोर्ट के बारे में चिंता
उन्होंने कहा कि जो देशभक्त होता है उसे ही देश के भविष्य की चिंता होती है. पी. चिदंबरम जेल में भी उद्योग-धंधों, किसान और एक्सपोर्ट के बारे में चिंता कर रहे हैं. इस दौर में लोगों को डर बैठ गया है. लोग टेलीफोन पर बात करते हुए भी डरते हैं. सभी मामलों की मॉनिटरिंग पीएमओ से होती है. वहीं से अधिकारियों को आदेश दिए जाते हैं.

बदले की भावना से किए गए काम का सबसे बड़ा उदाहरण 
पी. चिदंबरम को षड़यंत्र के तहत जेल में डाला गया है क्योंकि वह केंद्र सरकार की नीतियों की आलोचना कर रहे थे. लगातार ट्वीट कर रहे थे, लेख लिख रहे थे. इसे सरकार सहन (Tolerate) नहीं कर पा रही थी. बदले की भावना से किए गए काम का अगर कोई सबसे बड़ा उदाहरण इस देश में है तो वह चिदंबरम का जेल में रहना है.
केंद्र सरकार को इसके नतीजे भुगतने पड़ेंगे
Loading...

सीएम गहलोत ने कहा कि केंद्र सरकार को इसके नतीजे भुगतने पड़ेंगे. हरियाणा और महाराष्ट्र के चुनावों में उन नतीजों की झलक दिख गई है. चुनाव जीतने के लिए वोटिंग से एक दिन पहले सर्जिकल स्ट्राइक की जा रही है, इसे पूरा देश देख रहा है. अगर आतंकवाद का खात्मा करें तो पूरा देश और कांग्रेस पार्टी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्र सरकार के साथ खड़ी है. लेकिन इनका उद्देश्य दूसरा है. (रिपोर्ट-अभिषेक आढ़ा)
ये भी पढ़ें-
टोल माफी का फैसला चुनावी फैसला था, प्राइवेट कार चलाने वाले सभी लोग सक्षम- CM
गहलोत सरकार ने BJP सरकार का फैसला पलटा, स्टेट हाईवे पर भी देना होगा TOLL!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 1, 2019, 1:50 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...