Home /News /rajasthan /

गहलोत ने चला दांव, पायलट समर्थक विधायक मुश्किल में, आखिर जाएं तो जाएं कहां

गहलोत ने चला दांव, पायलट समर्थक विधायक मुश्किल में, आखिर जाएं तो जाएं कहां

सीएम अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच की तल्‍खी एक बार फिर दिख रही है. (सांकेतिक फोटो)

सीएम अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच की तल्‍खी एक बार फिर दिख रही है. (सांकेतिक फोटो)

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने राजेश पायलट के पुण्यतिथि कार्यक्रम के दिन ही प्रदेश में पेट्रोल और महंगाई के खिलाफ प्रदर्शन का ऐलान किया है. इस दिन सचिन पायलट अपने समर्थक विधायकों के साथ दौसा में जुट कर शक्ति प्रदर्शन करते हैं लेकिन अब पार्टी कार्यक्रम होने के चलते सभी असमंजस की स्थिति में हैं.

अधिक पढ़ें ...
जयपुर. राजस्‍थान में सचिन पायलट (Sachin Pilot) और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बीच की तल्‍खी समय-समय पर देखने को मिल ही जाती है. अब ऐसा ही कुछ एक बार फिर शुक्रवार को देखने को मिलेगा. एक तरफ सीएम गहलोत ने पेट्रोल की बढ़ती कीमतों और मंहगाई के खिलाफ विरोध प्रदर्शन का ऐलान किया है, वहीं इसी दिन सचिन पायलट के पिता राजेश पायलट की बरसी भी है. इसको लेकर हर साल एक कार्यक्रम दौसा में आयोजित किया जाता है. सचिन कुछ सालों से इस कार्यक्रम को शक्ति प्रदर्शन के तौर पर मानते हैं. लेकिन अब बड़ी समस्या ये है कि वे दौसा में समर्थकों और विधायकों के साथ कार्यक्रम में जाएं या फिर कांग्रेस की ओर से घोषित विरोध प्रदर्शन का हिस्सा बनें.

विधायक भी असमंजस में
सचिन पायलट के साथ ही अब उनके समर्थक विधायक भी असमंजस में हैं कि विरोध प्रदर्शन में जाएं या फिर दौसा के भडाना में आयोजित होने वाले पुण्यतिथि कार्यक्रम में. वहीं गहलोत की ओर से घोषित विरोध प्रदर्शन के लिए सभी विधायकों और जिले के नेताओं को पेट्रोल पंपों पर शुक्रवार सुबह 11 बजे प्रदर्शन में शामिल होने के लिए कहा गया है.

सचिन पहले दौसा जाएंगे
जानकारी के अनुसार सचिन पायलट इस दिन पहले दौसा जाएंगे और कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे. इस दौरान उनके समर्थक और विधायक भी था होंगे. इसके बाद वे प्रदर्शन के लिए रवाना होंगे. हालांकि कोई भी अभी सचिन पायलट के कार्यक्रम के बारे में किसी भी तरह का खुलासा करने से बच रहा है. हालांकि दबी जबान से कुछ विधायकों का ये कहना है कि वे दोनों कार्यक्रमों में भाग लेंगे.

सीएम की नजर दौसा पर
वहीं सीमए गहलोत की नजर दौसा के कार्यक्रम पर भी रहेगी. वे इस बात का पूरा ध्यान रखेंगे कि पायलट के समर्थक कितने विधायक और कितने समर्थक दौसा पहुंचते हैं. इस पूरी बात की जानकारी खुफिया एजेंसियों को देने के लिए कहा गया है. गहलोत कैंप की सबसे बड़ी चिंता ये है कि पिछले साल भी राजेश पायलट की बरसी के कार्यक्रम के बाद सचिन समर्थक विधायक हरियाणा के मानेसर चले गए थे और बगावत कर दी थी. वहीं परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि वे जयुपर में सुबह 11 बजे महंगाई के खिलाफ प्रदर्शन करेंगे.

Tags: Ashok Gehlot Vs Sachin Pilot, Dausa news, Rajasthan Congress Committee, Rajasthan news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर