Home /News /rajasthan /

गहलोत ने चीन सीमा विवाद पर प्रधानमंत्री मोदी के दिए बयान को बताया सबसे बड़ी भूल

गहलोत ने चीन सीमा विवाद पर प्रधानमंत्री मोदी के दिए बयान को बताया सबसे बड़ी भूल

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने चीन विवाद पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पिछले दिनों दिए बयान की आलोचना की है

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने चीन विवाद पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पिछले दिनों दिए बयान की आलोचना की है

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में कहा कि 'जिस रूप में प्रधानमंत्री ने विपक्षी पार्टियों के साथ बैठक के दौरान कहा था कि चीन हमारी जमीन पर आया ही नहीं है, न हमारी किसी चौकी पर उसका कब्जा है, वो उन्होंने बड़ी भूल की है'

अधिक पढ़ें ...
    जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने चीन मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के दिए बयान पर सवाल उठाए. उन्होंने प्रधानमंत्री (Prime Minister) से उनके दिए इस बयान को वापस लेने की मांग की कि चीन (China) ने हमारी जमीन पर कोई घुसपैठ या किसी पोस्ट पर कब्जा नहीं किया है. रविवार को गहलोत ने वीडियो कांफ्रेंसिंग (Video Conferencing) के जरिए संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि प्रधानमंत्री को देश की जनता को बताना चाहिए कि सीमा पर क्या हुआ है. उन्होंने कहा कि 'जिस रूप में प्रधानमंत्री ने विपक्षी पार्टियों के साथ बैठक के दौरान कहा था कि चीन हमारी जमीन पर आया ही नहीं है, न हमारी किसी चौकी पर उसका कब्जा है, वो उन्होंने बड़ी भूल की है.'

    गहलोत ने कहा कि 'नरेंद्र मोदी देश के पहले प्रधानमंत्री हैं जिनके बयान का चीन में स्वागत हुआ है. वहां की मीडिया में भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयान का स्वागत हो रहा है, वहां की सरकार स्वागत कर रही है. चूंकि जो चीन चाहता था उसका प्रमाणपत्र हमारे देश के प्रधानमंत्री ने जाने-अनजाने में दे दिया, जिसकी जरूरत नहीं थी.’

    भारत के प्रति पड़ोसी देशों के बदले रवैये को लेकर खड़ा किया सवाल

    मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से पड़ोसी देशों का रवैया भारत के खिलाफ होने के बारे में स्पष्टीकरण की मांग करते हुए कहा कि वर्ष 2014 में जब एनडीए की सरकार बनी थी तब प्रधानमंत्री ने पड़ोसी देशों के राष्ट्रध्यक्षों को बुलाया था. उन्होंने कहा कि एक अच्छी शुरुआत हुई थी लेकिन अभी क्या कारण रहा कि इतने कम अरसे के अंदर आज तमाम पड़ोसी मुल्कों का रवैया हमारे खिलाफ हो गया?



    उन्होंने कहा, ‘क्या प्रधानमंत्री की नैतिक जिम्मेदारी नहीं है कि वो तमाम मुल्कों को विश्वास में लें. जब कभी भी सीमा पर घटनाएं हुईं तो पूरा देश एकजुट रहा है. आज भी विपक्षी पार्टियां बिना कोई शर्त के एकजुट हैं प्रधानमंत्री और सरकार के साथ है.’ (भाषा से इनपुट)

    Tags: Ashok gehlot, India china, India China Border Tension, Narendra modi, PM Modi

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर