राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने केंद्र सरकार को देशव्यापी लॉकडाउन का सुझाव दिया

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सीएम अशोक गहलोत ने केंद्र से कहा कि देशव्यापी लॉकडाउन लगाया जाए. (फाइल फोटो)

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सीएम अशोक गहलोत ने केंद्र से कहा कि देशव्यापी लॉकडाउन लगाया जाए. (फाइल फोटो)

गहलोत ने आगाह किया है कि पहले से ही ऑक्सीजन, दवाइयों और दूसरे उपकरणों की कमी है. अगर इसी रफ्तार से कोविड पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़ती गई तो जल्द ही देश में मेडिकल स्टाफ की भी कमी हो जाएगी.

  • Share this:

जयपुर. राजस्थान में लगातार बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि केंद्र सरकार को देशव्यापी लॉकडाउन लगा देना चाहिए. अशोक गहलोत का मानना है कि ऐसा करके ही कोविड-19 की शृंखला तोड़ी जा सकती है. उन्होंने कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए आगाह किया है कि पहले से ही ऑक्सीजन, दवाइयों और दूसरे उपकरणों की कमी है. अगर इसी रफ्तार से कोविड पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़ती गई तो जल्द ही देश में मेडिकल स्टाफ की भी कमी हो जाएगी.

आपको याद दिला दें कि राजस्थान में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के बीच कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने ट्वीट किया था. जिसके बाद राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार राज्य में संपूर्ण लॉकडाउन (Complete lockdown) लगाने पर विचार कर रही है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गुरुवार को ही इसका संकेत देते हुए मंत्री समूह का गठन कर दिया था.

बुधवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में उनके निवास पर इस बारे में राज्य मंत्रिपरिषद की बैठक हुई थी. कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए और सख्त कदम उठाने के फैसले के साथ 5 मंत्रियों के एक समूह का गठन किया गया था. यह मंत्री समूह संभावित कदमों पर विचार कर आज यानी गुरुवार को अपने सुझाव देने वाला है. इसके बाद ही राजस्थान में संपूर्ण लॉकडाउन पर अंतिम निर्णय किया जाएगा.

बैठक में आम राय थी कि संक्रमण की इस चिंताजनक स्थिति पर अंकुश लगाने के लिए कुछ समय तक विवाह जैसे आयोजन स्थगित कर दिए जाएं. बहुत अधिक आवश्यकता हो तो केवल कोर्ट मैरिज की जाए. रेड अलर्ट कर्फ्यू की गाइडलाइन को सख्ती से लागू करते हुए आवागमन न्यूनतम किए जाने का सुझाव भी दिया गया था.
इस मंत्री समूह में नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल, जलदाय मंत्री डॉ. बीडी कल्ला, चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा, शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा और चिकित्सा राज्यमंत्री डॉ. सुभाष गर्ग शामिल हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज