UPSC की तर्ज पर RPSC भर्ती परीक्षाओं का बनेगा कैलेंडर, तय समय पर हो सकेंगी RAS परीक्षाएं

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि वो आरपीएससी एग्जाम की टाइम बाउंड शेड्यूल बनाएं (फाइल फोटो)
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि वो आरपीएससी एग्जाम की टाइम बाउंड शेड्यूल बनाएं (फाइल फोटो)

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने समीक्षा बैठक (Review Meeting) के दौरान UPSC की तर्ज पर समय पर भर्ती निकालने, नियमित परीक्षा और इंटरव्यू समय पर करवाने के निर्देश दिए ताकि भर्तियां ज्यादा लंबित नहीं रहें

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 20, 2020, 12:22 AM IST
  • Share this:
जयपुर. अब संघ लोक सेवा आयोग की तर्ज पर राजस्थान में भी RAS और अधीनस्थ सेवाओं की भर्ती के लिए समयबद्ध कैलेंडर तैयार होगा. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने विभागवार लंबित और प्रक्रियाधीन भर्तियों की समीक्षा बैठक (Review Meeting) में इसके निर्देश दिए हैं. उन्होंने राजस्थान लोक सेवा आयोग (आरपीएससी) और राजस्थान राज्य कर्मचारी चयन बोर्ड (आरएसएसबी) को आरएएस और अधीनस्थ सेवाओं को भर्ती कैलेंडर के अनुसार समयबद्ध रूप से पूरा करने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने UPSC की तर्ज पर समय पर भर्ती निकालने, नियमित परीक्षा और इंटरव्यू समय पर करवाने के निर्देश दिए ताकि भर्तियां ज्यादा लंबित नहीं रहें.

सीएम गहलोत ने कहा कि किसी भी विभाग के अभ्यर्थना भेजे जाने के बाद परीक्षा और परिणाम में वक्त नहीं लगे, विभाग इसके लिए RPSC से समन्वय करें. उन्होंने कहा कि सेवा नियमों की अड़चनों के कारण कई बार भर्तियां अटकती हैं. ऐसे में आवश्यकता पड़ने पर सेवा नियमों में संशोधन किया जाए. जहां तक संभव हो भर्ती का विज्ञापन निकालने से पहले ही संबंधित विभाग यह सुनिश्चित करें कि उस परीक्षा की तिथि पर कोई अन्य परीक्षा पहले से ही निर्धारित नहीं हो जिससे परीक्षा स्थगित करने की नौबत नहीं आए. यह प्रयास हो कि एक बार भर्ती विज्ञापन निकालने के बाद उसमें बार-बार संशोधन नहीं करना पड़े. चयनित अभ्यर्थियों के दस्तावेज सत्यापन का कार्य तय समय में करने के निर्देश दिए. मुख्यमंत्री ने कोर्ट में मामला लंबित होने के कारण अटकी भर्तियों के मामले में प्रभावी पैरवी करके जल्द रास्ता निकालने को कहा है.


रीट परीक्षा समय पर करवाने के निर्देश



मुख्यमंत्री ने रीट की परीक्षा भी समय पर आयोजित कराने के निर्देश दिए. उन्होंने शिक्षा, चिकित्सा, महिला एवं बाल विकास, ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज, कृषि, राजस्व, वन एवं पर्यावरण एवं आयुर्वेद सहित अन्य विभागों में प्रक्रियाधीन भर्तियों की वर्तमान स्थिति की जानकारी विभाग के अधिकारियों से ली.

चयनित अभ्यर्थियों के दस्तावेज वेरीफाई का काम समय पर करने के निर्देश  
सीएम ने कहा कि चयनित अभ्यर्थियों के दस्तावेज सत्यापन का कार्य तय समय में हो. आरपीएससी और अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड विज्ञापन के माध्यम से अभ्यर्थियों को इस संबंध में सूचना दें. इसके लिए एक समय अवधि तय कर दी जाए. दस्तावेज सत्यापन के लिए अभ्यर्थियों को बार-बार अवसर देने के बजाए कट-ऑफ डेट एक बार ही तय कर दी जाए. उन चयनित अभ्यर्थियों का परीक्षा काल पूरा करने के बाद स्थायीकरण समय पर हो यह सुनिश्चित किया जाए.

मौजूदा सरकार के कार्यकाल में अब तक 76,265 नियुक्तियां  
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान कार्मिक विभाग की प्रमुख सचिव रोली सिंह ने बताया कि वर्तमान सरकार के कार्यकाल में 10 अगस्त, 2020 तक 76 हजार 265 नियुक्तियां दी जा चुकी हैं. वहीं 2,560 के परिणाम जारी हो चुके हैं, 1,571 के साक्षात्कार होने हैं, 7,053 पदों के लिए परीक्षा आयोजित हो चुकी है और परिणाम जारी करना शेष है. जबकि 21,500 पदों की भर्ती के लिए विज्ञापन जारी हो चुके हैं और परीक्षा आयोजित होनी है. उन्होंने बताया कि कोविड-19 महामारी के प्रकोप के कारण भी कई भर्ती परीक्षाएं आयोजित करने में देरी हो रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज