• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • 'सचिन पायलट को CM बनाए पार्टी हाईकमान' राजस्थान कांग्रेस में कलह तेज!

'सचिन पायलट को CM बनाए पार्टी हाईकमान' राजस्थान कांग्रेस में कलह तेज!

राजस्थान में सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाने की मांग.

राजस्थान में सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाने की मांग.

Rajasthan Congress Politics: राजस्थान में एक बार फिर गहलोत (CM Ashok Gehlot) और पायलट गुट आमने-सामने हैं.  पूर्व चिकित्सा मंत्री विधायक राजेंद्र चौधरी ने सचिन पायलट (Sachin Pilot) को प्रदेश की बागडोर सौंपने की बात कही है. 

  • Share this:

    जयपुर. पंजाब (Punjab Congress Crisis) में मुख्यमंत्री बदलने के बाद अब राजस्थान में भी सियासी हलहल तेज हो गई है. सचिन पायलट (Sachin Pilot) गुट और गहलोत गुट एक बार फिर से आमने-सामने हैं. इसी बीच जब से खबर आई कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने बीमारी से उबरकर कामकाज फिर से शुरू कर दिया है, तब से पायलट गुट कुछ ज्याद ही मुखर हो गया है. सचिन पायलट के करीबी कांग्रेस नेता महेश शर्मा ने पार्टी हाईकमान से मांग की है कि वह पंजाब की तरह राजस्थान में बदलाव करे और सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाए. राजस्थान के पूर्व चिकित्सा मंत्री विधायक राजेंद्र चौधरी ने सचिन पायलट को प्रदेश की बागडोर सौंपने की बात कही है.

    इधर, गहलोत गुट ने जवाबी हमला करते हुए कहा है कि प्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन का सवाल ही नहीं उठता. गहलोत कैंप के विधायक महेंद्र चौधरी का कहना है कि गहलोत पूरे पांच साल सरकार चलाने में सक्षम हैं. गहलोत समर्थक विधायक ने तो यहां तक कह दिया कि पायलट अगर पार्टी के हिसाब से चलेंगे तो धरोहर रहेंगे.

    पायलट कैंप की बेसब्री बढ़ी

    पंजाब संकट के समाधान के बाद राजस्थान में सचिन पायलट कैंप की बेसब्री बढ़ गई है. इस बेसब्री को राहुल गांधी ने और बढ़ा दिया है. जब से राहुल गांधी और सचिन पायलट की मुलाकात दिल्ली में हुई है, पायलट समर्थकों की उम्मीदें बढ़ गई हैं. सूत्रों के मुताबिक, राजस्थान में जल्द बदलाव नजर आ सकता है. बताया जा रहा है कि पार्टी राजस्थान के समाधान के लिए सीएम अशोक गहलोत के स्वस्थ होने का इंतजार कर रही थी. यह बात राजस्थान कांग्रेस प्रभारी अजय माकन खुद कह चुके हैं.

    करीब तीन घंटे चली थी मुलाकात

    पिछले कुछ समय से अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच की तल्खी सबके सामने खुलकर बाहर आई. बयानबाजी से लेकर दिल्ली दौरों ने अलटकों का बाजार गर्म रखा. दोनों नेताओं के समर्थकों ने भी खुलकर बयानबाजी की जिससे साफ मैसेज गया कि राजस्थान में सब कुछ ठीक नहीं है. राहुल और पालयट के बीच मुलाकात करीब तीन घंटे तक चली थी. पार्टी सूत्रों का दावा है कि जिन तीन अहम मुद्दों पर चर्चा हुई थी उनमें एक पायलट की पार्टी में भूमिका का था. पायलट समर्थकों का दावा कि यह मुलाकात जरूर रंग लाएगी.

    राहुल और पालयट के बीच मुलाकात करीब तीन घंटे तक चली थी. पार्टी सूत्रों का दावा है कि जिन तीन अहम मुद्दों पर चर्चा हुई थी उनमें एक पायलट की पार्टी में भूमिका का था. पायलट समर्थकों का दावा कि यह मुलाकात जरुर रंग लाएगी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज