Home /News /rajasthan /

जयपुर समेत इन 3 शहरों में दो-दो जिलाध्यक्षों की नियुक्ति करेगी कांग्रेस, तैयारियां पूरी

जयपुर समेत इन 3 शहरों में दो-दो जिलाध्यक्षों की नियुक्ति करेगी कांग्रेस, तैयारियां पूरी


खींचतान की वजह जिला और ब्लॉक अध्यक्ष में हो रही देरी

खींचतान की वजह जिला और ब्लॉक अध्यक्ष में हो रही देरी

Jaipur news : कांग्रेस में इस बार राजधानी जयपुर के साथ जोधपुर और कोटा शहर में दो-दो जिलाध्यक्ष बनाए जाएंगे. इन शहरों में दो-दो नगर निगम होने के कारण दो जिलाध्यक्ष बनाने का प्रयोग किया जा रहा है. बड़े नेताओं में टकराव टालने और ज्यादा नेताओं को मौका दिए जाने के लिए तीन शहरों में दो जिलाध्यक्ष बनाए जाने का रास्ता निकाला है.

अधिक पढ़ें ...

    जयपुर. मंत्रिमंडल फेरबदल के बाद कांग्रेस (Rajasthan congress) में बड़ा टास्क संगठन में खाली पड़े पदों पर नियुक्तियां करना है. प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा (Govind singh Dotasara) ने इसकी तैयारी शुरू कर दी हैं. कई जगह विवाद और खींचतान के चलते पहले चरण में केवल बिना विवाद वाले जिलों में ही जिलाध्यक्षों (District president) की घोषणा की जाएगी. आधे जिलों में अब भी सहमति नहीं बनी है.

    डोटासरा पहले जिलाध्यक्षों की नियुक्ति की तैयारी कर रहे हैं. आधे से ज्यादा जिलाध्यक्षों का पैनल कांग्रेस हाईकमान के पास भेजा जा चुका है. हाईकमान की मंजूरी मिलते ही करीब 18 से 20 जिलों में जिलाध्यक्षों की नियुक्ति होगी.

    कांग्रेस में अभी 39 जिलाध्यक्ष के पद हैं. जयपुर, जोधपुर, कोटा, अजमेर, उदयपुर, बीकानेर में अभी शहर और ग्रामीण के जिलाध्यक्ष हैं. अब दो नगर निगम वाले तीन शहरों जयपुर, जोधपुर और कोटा में दो दो शहर जिलाध्यक्ष बनाए जाने के बाद इन तीन जिलों में तीन-तीन जिलाध्यक्ष हो जाएंगें. कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि जिलाध्यक्षों की नियुक्ति के लिए हाईमान से मंजूरी का इंतजार है.

    पायलट की बगावत के बाद से संगठन के पद खाली
    हाईकमान से मंजूरी मिलते ही जल्द ही इन जिलों में जिलाध्यक्षों की घोषणा कर दी जाएगी. कांग्रेस में पिछले साल जुलाई में सचिन पायलट की बगावत के बाद से जिलाध्यक्ष और ब्लॉक अध्यक्ष सहित सभी जिला-ब्लॉक कार्यकारिणी भंग चल रही हैं. डेढ़ साल से बिना जिला और ब्लॉक अध्यक्षों के ही संगठन चल रहा है. जिलाध्यक्षों की नियुक्ति के बाद ही जिला और ब्लॉक कार्यकारिणी में भी नियुक्तियां होंगी.

    खींचतान की वजह जिला और ब्लॉक अध्यक्ष में हो रही देरी
    कांग्रेस में बड़े नेताओं की खींचतान को ही जिला और ब्लॉक अध्यक्षों की नियुक्तियों में देरी की वजह बताई जा रही है. अब मंत्रिमंडल फेरबदल में सचिन पायलट और अशोक गहलोत खेमों के बीच बनी सहमति से संगठन में नियुक्तियों का रास्ता साफ हो गया है. अब दिसंबर में संगठन की नियुक्तियां होने की संभावना है. कांग्रेस में अब भी स्थानीय स्तर की खींचतान बरकरार है, इस वजह से पहले चरण में संगठन के जिलाध्यक्षों की घोषणा होगी.

    Tags: Ashok Gehlot Vs Sachin Pilot, Congress politics, Govind Singh Dotasara, Jaipur news, Rajasthan news in hindi

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर