राजस्थान : कांग्रेस में राजनीतिक नियुक्तियों का काउंटडाउन शुरू, जिलास्तर पर 3 हजार नियुक्तियां जल्द!

पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट भी यह बात कह चुके हैं कि नियुक्तियों में देरी की अब कोई वजह नहीं. (फाइल फोटो)

पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट भी यह बात कह चुके हैं कि नियुक्तियों में देरी की अब कोई वजह नहीं. (फाइल फोटो)

प्रदेश की 3 विधानसभा उपचुनाव में वोटिंग खत्म हो चुका है. अब जिला स्तर पर 3 हजार नियुक्तियां बहुत जल्द की जा सकती हैं. वहीं प्रदेश स्तर की करीब एक दर्जन संस्थाओं में भी जल्द ही राजनीतिक नियुक्तियां होंगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 17, 2021, 8:47 PM IST
  • Share this:
जयपुर. राजनीतिक नियुक्तियों की बाट जोह रहे कांग्रेस कार्यकर्ताओं का लंबा इंतजार अब खत्म होने वाला है. प्रदेश में जल्द ही बड़े स्तर पर राजनीतिक नियुक्तियां होने वाली हैं. प्रदेश की 3 विधानसभा सीटों सहाडा (भीलवाड़ा), सुजानगढ़ (चूरू), और राजसमंद के लिए मतदान की प्रक्रिया खत्म होने के साथ ही राजनीतिक नियुक्तियों का काउंटडाउन शुरू हो गया है. न्यूज18 को सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, अब किसी भी वक्त राजनीतिक नियुक्तियों का पिटारा खुल सकता है. खास तौर से जिला स्तर पर 3 हजार नियुक्तियां बहुत जल्द की जा सकती हैं. वहीं प्रदेश स्तर की करीब एक दर्जन संस्थाओं में भी जल्द ही राजनीतिक नियुक्तियां होंगी. जिलास्तर पर कई तरह की समितियां होती हैं, जिनमें 20 से 30 हजार कार्यकर्ताओं को एडजस्ट किया जाना है. वहीं प्रदेशस्तर पर भी कई महत्वपूर्ण बोर्ड, आयोग, समितियों में नियुक्तियां होनी हैं. इन नियुक्तियों के लिए 17 अप्रैल का दिन निकलने का इंतजार किया जा रहा था. आज उपचुनाव के लिए मतदान की प्रक्रिया खत्म होते ही कार्यकर्ताओं के लिए उम्मीद की घड़ियां शुरू हो गई हैं.

एक्सरसाइज पूरी, घोषणा बाकी

इन नियुक्तियों के लिए एक्सरसाइज पूरी की जा चुकी है और नाम भी फाइनल किए जा चुके हैं. बस अब घोषणा का इंतजार है जो किसी भी वक्त की जा सकती है. प्रदेशस्तर की बात करें तो फिलहाल जन अभाव अभियोग निराकरण समिति, महिला आयोग, अल्पसंख्यक आयोग, एससी आयोग, एसटी आयोग, ओबीसी आयोग, किसान आयोग, खादी बोर्ड और समाज कल्याण बोर्ड जैसी संस्थाओं में जल्द नियुक्तियों का संभावना है. वहीं जिलास्तर पर शुरुआती तौर पर 3 हजार नियुक्तियां की जा सकती हैं. इन राजनीतिक नियुक्तियों के जरिए कार्यकर्ताओं के असंतोष थामने का प्रयास होगा, वहीं बेहतर काम करने वाले कार्यकर्ता पुरस्कृत भी होंगे. गौरतलब है कि कार्यकर्ताओं को लंबे समय से इन नियुक्तियों का इंतजार है और अब विधायक भी इसे लेकर मुखर होने लगे हैं. हाल ही में पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट भी यह बात कह चुके हैं कि नियुक्तियों में देरी की अब कोई वजह नहीं है. संभावना जताई जा रही है कि एक-दो दिन में ही राजनीतिक नियुक्तियों की सूचियां आना शुरू हो जाएंगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज