हाईकोर्ट ने सरकार को दी छूट, हड़ताली डॉक्टरों को तुरंत करें गिरफ्तार

demo Pic
demo Pic

हाईकोर्ट ने कहा है कि हड़ताल पर चल रहे डॉक्टरों के खिलाफ कड़ा एक्शन लें और उन्हें तुरंत गिरफ्तार करें.

  • Share this:
राजस्थान हाईकोर्ट ने सोमवार को पहली बार क्रिसमस के दिन सुनवाई करते हुए हड़ताली डॉक्टरों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के लिए सरकार को छूट दी है. हाईकोर्ट ने कहा है कि हड़ताल पर चल रहे डॉक्टरों के खिलाफ कड़ा एक्शन लें और उन्हें तुरंत गिरफ्तार करें.

इससे पहले सेवारत डॉक्टरों की हड़ताल मामले में सुनवाई करते हुए मुख्य न्यायाधीश प्रदीप नंदराजोग ने डॉक्टरों के अधिवक्ताओं से पूछा था कि, क्या डॉ. अजय चौधरी और डॉ. दुर्गा शंकर आज ड्यूटी ज्वाइन करने के लिए तैयार है? कोर्ट के इस सवाल पर डॉक्टरों के अधिवक्ता कोई जवाब नहीं दे सके. इस पर महाधिवक्ता ने कहा, हम अखिल राजस्थान सेवारत चिकित्सा संघ के प्रदेशाध्यक्ष डॉ. अजय चौधरी और डॉ. दुर्गा शंकर दोनों पदाधिकारियों को एस्कॉर्ट करते हुए लाने के लिए है. उन्हें गिरफ्तार नहीं किया जाएगा.

मुख्य न्यायाधीश प्रदीप नंदराजोग की खंडपीठ में सुनवाई के दौरान डॉक्टरों के अधिवक्ताओं की ओर से कहा गया कि हाईकोर्ट के आदेश के बाद भी पुलिस ने धड़पकड़ चालू रखी. इस पर महाधिवक्ता एनएम लोढ़ा ने विरोध करते हुए कहा कि हाईकोर्ट के आदेश के बाद एक भी चिकित्सक की गिरफ्तारी नहीं की गई है.

बता दें कि राजस्थान में विभिन्न मांगों को लेकर दस दिन से हड़ताल पर चल रहे सरकारी डॉक्टरों और रेजीडेंट डॉक्टरों के समर्थन में सोमवार को निजी क्षेत्र के अस्पतालों में भी कार्य बहिष्कार किया गया. मेडिकल कॉलेज के टीचर्स ने भी हड़ताल के समर्थन में दो घंटे कार्य का बहिष्कार किया. वहीं आईएमए की राजस्थान शाखा की ओर से कहा गया कि सरकार ने जल्द ही मांगे नहीं मानी तो निजी अस्पतालों भी हड़ताल पर चले जाएंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज