Rajasthan Crisis: बाड़ाबंदी के बीच 2 विधायकों की तबीयत बिगड़ी, चेकअप को पहुंचे डॉक्टर
Jaipur News in Hindi

Rajasthan Crisis: बाड़ाबंदी के बीच 2 विधायकों की तबीयत बिगड़ी, चेकअप को पहुंचे डॉक्टर
गहलोत खेमे के 2 विधायकों की तबीयत अचानक खराब हुई.

राजस्थान के सियासी संग्राम (Rajasthan Crisis) के बीच गहलोत सरकार के समर्थक विधायकों को जयपुर के फेयरमाउंट होटल से जैसलमेर के होटलों में भेज दिया गया है. इन विधायकों को जैसलमेर के सूर्यागढ़, रंगमहल और गोरबंद होटलों में ठहराया गया है.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान के सियासी संकट के आज 22 दिन हो चुके हैं. सत्ता और विपक्ष के विधायकों को अब 14 अगस्त का बेसब्री से इंतजार है, जिस दिन विधानसभा के सत्र (Rajasthan Assembly Session) की शुरुआत होनी है. इस बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) और बागी सचिन पायलट (Sachin Pilot) के समर्थक विधायक अलग-अलग होटलों में दिन गुजार रहे हैं. सत्तापक्ष के विधायक जहां कुछ दिन जयपुर के होटल में गुजारने के बाद अब जैसलमेर के अलग-अलग होटलों में शिफ्ट कर दिए गए हैं. वहीं सचिन पायलट गुट से समर्थक अब दिल्ली के नजदीक स्थित शहरों के होटल में टिके हुए हैं. इधर, खबर है कि गहलोत समर्थक दो विधायकों की तबीयत आज अचानक खराब हो गई. उनके चेकअप के लिए डॉक्टर होटल पहुंचे हैं.

प्रदेश के सियासी संग्राम के बीच गहलोत सरकार के समर्थक विधायकों को जयपुर के फेयरमाउंट होटल से जैसलमेर के होटलों में भेज दिया गया है. इन विधायकों को जैसलमेर के सूर्यागढ़, रंगमहल और गोरबंद होटलों में ठहराया गया है. आज सुबह सूर्यागढ़ होटल में ठहराए गए दो विधायकों- गुरमीत सिंह और बाबूलाल नागर की तबीयत बिगड़ गई. दो विधायकों की तबीयत खराब होने की जानकारी मिलते ही तत्काल मेडिकल टीम को अलर्ट किया गया. सूर्यागढ़ होटल में एक एंबुलेंस से डॉक्टरों की टीम भेजी गई. डॉ. रेवता राम पवार ने विधायकों की जांच की.

आपको बता दें कि आगामी 14 अगस्त को विधानसभा सत्र के शुरू होने तक इन विधायकों का सियासी पर्यटन जारी रहेगा. इस बीच सरकार समर्थक इन विधायकों को सियासी 'खरीद-फरोख्त' से बचाने के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कोई कोर-कसर नहीं छोड़ रहे हैं. बताया गया खुफिया विभाग से मिले इनपुट के आधार पर विधायकों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर शिफ्ट किया जा रहा है, ताकि विधानसभा सत्र तक इन्हें जोड़े रखा जाए. इस बीच, बागी गुट के विधायकों को कांग्रेस में मिलाने का प्रयास भी जारी है. शनिवार को सीएम गहलोत ने कहा था कि अगर कांग्रेस आलाकमान बागियों को माफ कर देता है, तो उन्हें उनका स्वागत करने में खुशी होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading