Rajasthan Crisis: सचिन पायलट समर्थकों पर BJP की नजर, गहलोत सरकार गिराने पर ये है प्लान!

राजस्थान में सियासी संकट के बीच बीजेपी नेता का बयान सामने आया है.

राजस्थान (Rajasthan) में चल रहे सियासी घमासान के बीच नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया (Leader of Opposition Gulabchand Kataria) जयपुर (Jaipur) की बजाय उदयपुर (Udaipur) में डेरा डाले बैठे हैं.

  • Share this:
उदयपुर. राजस्थान (Rajasthan) में चल रहे सियासी घमासान के बीच नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया (Leader of Opposition Gulabchand Kataria) जयपुर (Jaipur) की बजाय उदयपुर (Udaipur) में डेरा डाले बैठे हैं. कटारिया का कहना है कि बीजेपी का इस पुरे मामले से कोई ताल्लुक नहीं है. यदि बीजेपी मामले को लेकर गंभीर होती तो वे स्वयं भी उदयपुर में ना होकर जयपुर में होते. सीएम अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट के बीच चल रहे इस विवाद के साथ ही राजस्थान में सियासी संकट गहराया हुआ है. ऐसे में बीजेपी पूरे मामले पर पैनी निगाहें जरूर रख रही है.

नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने इस बात को स्वीकार किया कि बीजेपी और कांग्रेस के बीच विधायकों का बडा गेप है. ऐसे में बीजेपी सरकार गिराने की सोच भी नहीं सकती. हालांकि कटारिया ने कहा कि यदि कांग्रेस पार्टी के विधायक टूटते हैं, तभी सरकार गिरने की संभावनाएं बनेगी. कटारिया ने कहा कि कांग्रेस इस पूरे मामले में बीजेपी को जानबुझ कर घसीट रही है. जबकी यह पूरा मामला उनकी अन्दरूनी लड़ाई का है. कांग्रेस में मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री की लड़ाई जग जाहिर है और जब से कांग्रेस की सरकार बनी तब से कभी पायलट को तवज्जों नहीं दी गई.

ये भी पढ़ें: सचिन पायलट की पत्नी का CM गहलोत पर निशाना, लिखा- बड़े बड़े जादूगरों के पसीने छूट जाते हैं जब..

अब विस्फोटक स्थिति
कटारिया ने कहा कि पायलट का यही असंतोष अब जाकर विस्फोटक स्थिति में नजर आ रहा है. बीजेपी इस बात पर नजर बनाये हुए है कि पायलट अपने साथ कांग्रेस को कितने विधायकों को रखने में सफल होते हैं. हालांकि कटारिया ने राष्ट्रीय नेतृत्व के साथ विचार कर आगे की रणनीति पर कार्य करने की बात कही है. कटारिया ने कहा कि अभी बीजेपी किस विषय पर विचार करे, वह विषय ही पैदा नहीं हुआ है. गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि यदि कांग्रेस के पास पूर्ण बहुमत है तो फिर इतनी घबराहट क्यों है. कटारिया ने देर रात कांग्रेस के राष्ट्रीय नेताओं की प्रेस कांफ्रेंस को भी उनके भय का कारण बताया. कटारिया ने स्पष्ट किया कि यदि सरकार मजबूत है तो अपनी पूरी शक्ति को एक जगह इकट्ठा कर सब कुछ साफ कर दे. यही नहीं बॉर्डर सील करने के सरकार के फैसले पर कटारिया इसे पुलिस महकमें का दुरुपयोग बताया.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.