Rajasthan Crisis: पायलट के बगावती तेवर के बाद अब होगी कांग्रेस विधायकों की बाड़ेबंदी! जानिए पूरी कहानी
Jaipur News in Hindi

Rajasthan Crisis: पायलट के बगावती तेवर के बाद अब होगी कांग्रेस विधायकों की बाड़ेबंदी! जानिए पूरी कहानी
राजस्‍थान कांग्रेस में इस समय भूचाल आया हुआ है.

राजस्‍थान के डिप्‍टी सीएम सचिन पायलट ( Deputy CM Sachin Pilot) की नाराजगी से राजनीति में भूचाल आया हुआ है. वहीं, उनके बगावती तेवरों को देखने के बाद कांग्रेस ने अपने विधायकों की बाड़ेबंदी कर सकती है. इसके अलावा सचिन के सोमवार को जयपुर में होने वाली मीटिंग में शामिल होने की कोई संभावना नहीं है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 13, 2020, 12:05 AM IST
  • Share this:
जयपुर. राजस्‍थान के कांग्रेस चीफ और डिप्‍टी सीएम सचिन पायलट ( Deputy CM Sachin Pilot) की नाराजगी से राजनीति में भूचाल आया हुआ है. यही वजह है कि उनके बगावती तेवर को देखने के बाद कांग्रेस अपने विधायकों की बाड़ेबंदी कर सकती है. जबकि यह काम आज रात या फिर अल सुबह हो सकता है. वहीं, डिप्‍टी सीएम को लेकर खबर आ रही है कि वह सोमवार सुबह 10:30 बजे कांग्रेस विधायक दल की बैठक में शामिल नहीं होंगे. आपको बता दें कि सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) और सचिन के बीच कई मुद्दों पर जबरदस्‍त खींचतान चल रही है.

बाजी पलट सकते हैं सचिन पायलट
इस बीच एएनआई सूत्रों से जो जानकारी मिल रही है उसके मुताबिक कांग्रेस के 30 और कुछ निर्दलीय विधायकों (MLAs) के सचिन पायलट (Sachin Pilot) के संपर्क में होने की बात सामने आई है. इन विधायकों ने राज्‍य के डिप्‍टी सीएम सचिन पायलट को उनके हर फैसले में साथ देने की शपथ ली है. इससे साफ है कि वह राजस्‍थान में बाजी पलट सकते हैं. सूत्रों के मुताबिक सचिन पायलट रविवार सुबह दिल्ली में अपने पारिवारिक मित्र के आवास पर मौजूद थे. इसके अलावा सचिन ने अपने समर्थकों को आगे की रणनीति को लेकर संदेश दिया है. उन्होंने सभी को एकजुट रहने का संदेश दिया है. बहरहाल, सचिन पायलट के नजदीकी लोगों ने कहा कि 30 विधायकों के उनके समर्थन में आने से सरकार अल्पमत में है. इसी वजह से इसे पायलट की बगावत से जोड़कर देखा जा रहा है. आपको बता दें कि राज्यसभा चुनाव में विधायकों की खरीद-फरोख्त मामले में SOG का नोटिस मिलने के बाद डिप्टी सीएम सचिन पायलट नाराज बताए जा रहे हैं.

पायलट और उनके समर्थक विधायकों के CM गहलोत से रिश्ते अच्छे नहीं  
सूत्रों के मुताबिक राजस्थान कांग्रेस संकट और गुटबाजी में घिरी है. डिप्टी सीएम सचिन पायलट और उनके समर्थक विधायकों के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से रिश्ते अच्छे नहीं हैं. दोनों दिग्गज नेताओं के बीच तकरार की वजह पुलिस द्वारा विधायकों की 'खरीद-फरोख्त' मामले की जांच का आदेश देना और सचिन पायलट को नोटिस भेजना है, जिसे लेकर उपमुख्यमंत्री नाराज हैं. बता दें कि सीएम अशोक गहलोत ने शनिवार को आरोप लगाया था कि बीजेपी उनके (कांग्रेस) विधायकों को 15-15 करोड़ रुपए ऑफर कर सरकार गिराने का षडयंत्र रच रही है. हालांकि उन्होंने दावा किया कि उनकी सरकार स्थिर है और पांच साल का कार्यकाल पूरा करेगी.



विधानसभा का हाल
1- राजस्थान की 200 सदस्यीय विधानसभा में अभी कांग्रेस के 107 विधायक हैं, जबकि बीजेपी सदस्यों की संख्या 75 है.
2- कांग्रेस के विधायकों की संख्या 101 है, उसे बसपा के 6 विधायकों ने समर्थन दिया है. वहीं, बीजेपी के पास अपने कुल 72 विधायक हैं, वहीं पार्टी को आरएलपी के 3 सदस्यों का समर्थन प्राप्त है.
3- कांग्रेस और भाजपा के अलावा निर्दलीय या अन्य विधायकों की कुल संख्या 18 है.
4-इनमें बीटीपी के 2 MLA, 2 सीपीएम, 1 आरएलडी और 13 निर्दलीय विधायक शामिल हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading