Rajasthan Crisis: सचिन पायलट ने कांग्रेस के सामने रख दी इसी कार्यकाल में CM बनाने की मांग, बातचीत टूटी
Jaipur News in Hindi

Rajasthan Crisis: सचिन पायलट ने कांग्रेस के सामने रख दी इसी कार्यकाल में CM बनाने की मांग, बातचीत टूटी
कुछ महीने या एक साल बाद उनको कमान सौंप दी जाएगी. (PTI)

पायलट ने कांग्रेस नेतृत्‍व (Congress leadership) के सामने इसी कार्यकाल में खुद को राजस्‍थान का मुख्‍यमंत्री बनाए जाने की मांग रख दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 14, 2020, 12:38 PM IST
  • Share this:
जयपुर. सचिन पायलट (Sachin Pilot) और कांग्रेस के बीच दरार और चौड़ी होती जा रही है. पायलट ने कांग्रेस नेतृत्‍व (Congress leadership) के सामने इसी कार्यकाल में खुद को राजस्‍थान का मुख्‍यमंत्री (Chief Minister) बनाए जाने की मांग रख दी है. सूत्र बताते हैं कि इसके बाद पायलट और कांग्रेस के आला नेताओं के बीच बातचीत का सिलसिला थम गया है. जानकारी के मुताबिक, सचिन पायलट ने मांग रखी की पार्टी नेतृत्‍व सार्वजनिक तौर पर कम से कम इस बात की घोषणा करे कि अशोक गहलोत के बाद इसी कार्यकाल में उनको राजस्‍थान का मुख्‍यमंत्री बनाया जाएगा. कुछ महीने या एक साल बाद उनको कमान सौंप दी जाएगी.

दरअसल, सचिन पायलट को कांग्रेस नेतृत्व ने कहा था कि वो अकेले भी CLP बैठक में चले जाएं तो आगे उनकी बातों पर गहलोत और उनको बैठाकर नेतृत्व बात करेगा. लेकिन पायलट बैठक में नहीं पहुंचे. कांग्रेस नेतृत्व के अनुसार, ये अनुशासनहीनता है. वहीं, कहा जा रहा है कि कांग्रेस पार्टी बैठक में भाग न लेने वाले विधायकों को नोटिस भेजेगी और अनुशासनात्मक कार्रवाई करने पर विचार कर रही है. चूकि पार्टी मानती है कि सचिन बीजेपी के ट्रैप में फंस गए हैं और अपने विधायकों की संख्या 30 तक पहुंचाना चाहते हैं ताकि गहलोत सरकार को अस्थिर कर सकें.

यह आर-पार की लड़ाई है
बता दें कि कुछ देर पहले सचिन पायलट समर्थक एक विधायक ने न्‍यूज 18 हिन्‍दी से बात करते कहा था कि गहलोत को हटाने के अलावा किसी और शर्त पर समझौता नहीं होगा. सचिन पायलट समर्थक कांग्रेस के 15 और 3 निर्दलीय विधायकों का कहना है कि यह आर-पार की लड़ाई है. अशोक गहलोत के मुख्‍यमंत्री पर से हटने तक यह लड़ाई जारी रहेगी. सभी बगावती विधायक ITC Grand Bharat में ठहरे हुए हैं. वहीं, सचिन पायलट होटल में नहीं हैं. जबकि विधायकों ने बताया कि यह आर-पार की लड़ाई है. गहलोत के मुख्यमंत्री पद से हटने तक यह लड़ाई जारी रहेगी. जयपुर में विधायक दल के साथ भी सचिन गुट के 8 से ज्यादा विधायक के मौजूद होने की बात कही जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading