• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • Rajasthan Crisis: मंत्री पद छिनने के बाद बोले सचिन पायलट- सत्‍य को परेशान किया जा सकता है, पराजित नहीं

Rajasthan Crisis: मंत्री पद छिनने के बाद बोले सचिन पायलट- सत्‍य को परेशान किया जा सकता है, पराजित नहीं

मंत्री पद से हटाए जाने के बाद सचिन पायलट ने सोशल मीडिया के जरिए रखी अपनी बात.

मंत्री पद से हटाए जाने के बाद सचिन पायलट ने सोशल मीडिया के जरिए रखी अपनी बात.

Rajasthan Crisis: राजस्थान में मंत्री पद से बर्खास्तगी के बाद सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने सोशल मीडिया के जरिए बयां किया दर्द. कांग्रेस विधायक दल की आज हुई बैठक के बाद उन्हें डिप्टी सीएम के पद से हटा दिया गया है.

  • Share this:
    जयपुर. राजस्‍थान में उठा सियासी बवाल थमने के बजाय और बढ़ता जा रहा है. कांग्रेस विधायक दल की बैठक में सचिन पायलट (Sachin Pilot) के खिलाफ कार्रवाई को लेकर प्रस्‍ताव पारित किया गया. इसके तुरंत बाद पायलट को मंत्री पद से हटा दिया गया. कार्रवाई के बाद सचिन पायलट ने ट्वीट किया, 'सत्‍य  को परेशान किया जा सकता है, पराजित नहीं.' कार्रवाई से  पहले सचिन पायलट और उनके समर्थकों ने अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) को सीएम मानने से इनकार कर दिया था. सूत्रों के हवाले से यह भी खबर सामने आई कि पायलट ने कांग्रेस नेतृत्‍व के सामने खुद को सीएम बनाने की शर्त रख दी थी. इसके बाद पायलट और कांग्रेस के आला नेताओं के बीच चल रही बातचीत थम गई थी.

    आपको बता दें कि राजस्थान में सियासी घमासान के बीच आज सचिन पायलट को मंत्री पद से बर्खास्त किए जाने के साथ-साथ पीसीसी चीफ के पद से भी हटा दिया गया है. पायलट के साथ ही उनके समर्थक दो अन्य मंत्रियों को भी उनके पदों से हटा दिया गया है. कांग्रेस विधायक दल की आज हुई बैठक के बाद कैबिनेट मंत्री विश्वेन्द्र सिंह और रमेश मीणा को भी मंत्री पद से बर्खास्त कर दिया गया है. सचिन पायलट की जगह अब शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा को राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी (PCC) का नया अध्यक्ष बनाया गया है.



    ये भी पढ़ें- Rajasthan Crisis Live: राज्यपाल से मिलने पहुंचे CM अशोक गहलोत

    इससे पहले जयपुर से खबर आई कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजभवन पहुंचकर गवर्नर से मुलाकात की है. बताया जा रहा है कि संभावित सियासी हालात को देखते हुए राजभवन में कांग्रेस विधायकों की परेड करवाई जा सकती है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत विधायकों के समर्थन पत्र के साथ राज्यपाल से मिलने पहुंचे थे. उन्होंने राज्यपाल के समक्ष सरकार की स्थिति संभवतः स्पष्ट कर दी है. इधर, कांग्रेस के बागी विधायकों ने भी आलाकमान को पत्र भेजकर अपनी स्थिति स्पष्ट की है. पत्र में विधायकों ने लिखा है कि हम अपने आत्मसम्मान के लिए यह स्टैंड ले रहे हैं. सचिन पायलट और हम लोग छह साल तक मेहनत कर पार्टी को सत्ता में लाए. वर्षों तक पार्टी के लिए जी-जान से काम किया, फिर भी हमें नोटिस और कार्रवाई के नाम पर डराया जा रहा है  यह कांग्रेस और भारतीय लोकतंत्र में अभूतपूर्व है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज