अपना शहर चुनें

States

सुर्खियां: ऑनर किलिंग पर फांसी, मॉब लिंचिंग पर उम्रकैद की सजा, रेप केस की जांच CID-CB को

समाचार पत्रों की सुर्खियां. ( प्रतिकात्मक फोटो- राजस्थान विधानसभा)
समाचार पत्रों की सुर्खियां. ( प्रतिकात्मक फोटो- राजस्थान विधानसभा)

राजस्थान से प्रकाशित प्रमुख समाचार पत्रों की सुर्खियों में बुधवार को ऑनर किलिंग, मॉब लिंचिंग के खिलाफ सरकार की ओर से विधानसभा में पेश किए बिल, जयपुर में रेप पीड़िता के आत्मदाह मामले की जांच सीआईडी-सीबी को सौंपने की खबरें शामिल हैं.

  • Share this:
राजस्थान से प्रकाशित प्रमुख समाचार पत्रों की सुर्खियों में बुधवार को ऑनर किलिंग, मॉब लिंचिंग के खिलाफ सरकार की ओर से विधानसभा में पेश किए बिल, जयपुर में रेप पीड़िता के आत्मदाह मामले की जांच सीआईडी-सीबी को सौंपना और मेहरानगढ़ दुखांतिका की रिपोर्ट को हाईकोर्ट के सीलबंद लिफाफे में पेश करने के निर्देश की खबरें शामिल हैं.

सरकार ने कहा- रिपोर्ट सार्वजनिक नहीं होगी, कोर्ट ने सीलबंद लिफाफे में मांगी

राजस्थान पत्रिका ने 11 साल पुराने मेहरानगढ़ हादसे की सुनवाई और सरकार को कानून-व्यवस्था बिगड़ने के अंदेशे की खबर को पहले पन्ने पर जगह दी है. अखबार ने लिखा है कि राजस्थान हाईकोर्ट ने महरानगढ़ दुखांतिका की जांच के लिए गठित जस्टिस जसराज चौपड़ा आयोग की रिपोर्ट सीलबंद लिफाफे में कोर्ट के समक्ष पेश करने के निर्देश दिए हैं.



स्कूल से बंक मारकर निकले 4 दोस्तों को ट्रेलर ने रौंदा
अलवर जिले के थानागाजी इलाके के गुढ़ा गांव के पास एक ट्रेलर ने बाइक सवार 4 छात्रों को रौंद दिया. दैनिक भास्कर के अनुसार चारों दोस्त स्कूल से बंक मारकर एक बाइक पर घूमने निकले थे. सरिस्का स्थित भृर्तहरि और पांडुपोल घूमने गए इन चारों छात्रों को ट्रेलर ने कुचल दिया. इनमें से तीन की मौके पर ही मौत हो गई जबकि एक ने अस्पताल के रास्ते में दम तोड़ दिया.

निजी बस संचालक आज हड़ताल पर

बजट में क्षमता से अधिक टैक्स बढ़ोतरी को लेकर प्रदेशभर में बुधवार को निजी बस संचालक हड़ताल पर चले गए हैं. दैनिक भास्कर के अनुसार प्रदेश में करीब 15 हजार बसे आज नहीं चलेंगी. इससे करीब 10 लाख यात्री प्रभावित होंगे.

ऑनर किलिंग पर फांसी, मांब लिंचिंग पर उम्रकैद 

राजस्थान विधानसभा में गहलोत सरकार की ओर से मंगलवार को ऑनर किलिंग और मॉब लिंचिंग के खिलाफ बिल पेश किए गए. दैनिक भास्कर ने लिखा है कि ऑनर किलिंग के मामले में अब षड़यंत्र में शामिली व्यक्ति को भी 5 साल तक की जेल होगी. मॉब लिंचिंग मामलों में अब दो या दो से अधिक व्यक्ति भी मॉब माने जाएंगे और सोशल मीडिया पर नफरत फैलाने पर तीन साल तक की सजा होगी.

ये भी पढ़ें-राजस्थान में भी प्रियंका गांधी को कमान सौंपने की मांग तेज
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज