Home /News /rajasthan /

PHOTOS: जनपथ पर साकार हुआ राजस्थान का ऐतिहासिक, सामाजिक और सांस्कृतिक वैभव

PHOTOS: जनपथ पर साकार हुआ राजस्थान का ऐतिहासिक, सामाजिक और सांस्कृतिक वैभव

रंग-बिरंगे परिधानों में सुसज्जित ऊंट, कदमताल करते मारवाड़ी घोड़े, प्रदेश के ऐतिहासिक, सामाजिक और सांस्कृतिक वैभव को दिखाने वाली संभागवार झांकियां और मोटरसाइकल पर पुलिस के जाबांजों के हैरतअंगेज करतबों के साथ जनपथ पर सोमवार रात आयोजित राजस्थान के स्थापना दिवस समारोह का गौरवशाली और गरिमापूर्ण आयोजन हुआ. सिंक्रनाइज्ड साउंड और लाइट शो के दौरान बिगुल की आवाज के साथ जैसे ही विधानसभा की भव्य इमारत रंग-बिरंगी रोशनी से जगमगाई, उपस्थित जनसमूह ‘जय-जय राजस्थान‘ की धुन के साथ अपने स्वर मिलाने लगा.

रंग-बिरंगे परिधानों में सुसज्जित ऊंट, कदमताल करते मारवाड़ी घोड़े, प्रदेश के ऐतिहासिक, सामाजिक और सांस्कृतिक वैभव को दिखाने वाली संभागवार झांकियां और मोटरसाइकल पर पुलिस के जाबांजों के हैरतअंगेज करतबों के साथ जनपथ पर सोमवार रात आयोजित राजस्थान के स्थापना दिवस समारोह का गौरवशाली और गरिमापूर्ण आयोजन हुआ. सिंक्रनाइज्ड साउंड और लाइट शो के दौरान बिगुल की आवाज के साथ जैसे ही विधानसभा की भव्य इमारत रंग-बिरंगी रोशनी से जगमगाई, उपस्थित जनसमूह ‘जय-जय राजस्थान‘ की धुन के साथ अपने स्वर मिलाने लगा.

रंग-बिरंगे परिधानों में सुसज्जित ऊंट, कदमताल करते मारवाड़ी घोड़े, प्रदेश के ऐतिहासिक, सामाजिक और सांस्कृतिक वैभव को दिखाने वाली संभागवार झांकियां और मोटरसाइकल पर पुलिस के जाबांजों के हैरतअंगेज करतबों के साथ जनपथ पर सोमवार रात आयोजित राजस्थान के स्थापना दिवस समारोह का गौरवशाली और गरिमापूर्ण आयोजन हुआ. सिंक्रनाइज्ड साउंड और लाइट शो के दौरान बिगुल की आवाज के साथ जैसे ही विधानसभा की भव्य इमारत रंग-बिरंगी रोशनी से जगमगाई, उपस्थित जनसमूह ‘जय-जय राजस्थान‘ की धुन के साथ अपने स्वर मिलाने लगा.

अधिक पढ़ें ...
रंग-बिरंगे परिधानों में सुसज्जित ऊंट, कदमताल करते मारवाड़ी घोड़े, प्रदेश के ऐतिहासिक, सामाजिक और सांस्कृतिक वैभव को दिखाने वाली संभागवार झांकियां और मोटरसाइकल पर पुलिस के जाबांजों के हैरतअंगेज करतबों के साथ जनपथ पर सोमवार रात आयोजित राजस्थान के स्थापना दिवस समारोह का गौरवशाली और गरिमापूर्ण आयोजन हुआ. सिंक्रनाइज्ड साउंड और लाइट शो के दौरान बिगुल की आवाज के साथ जैसे ही विधानसभा की भव्य इमारत रंग-बिरंगी रोशनी से जगमगाई, उपस्थित जनसमूह ‘जय-जय राजस्थान‘ की धुन के साथ अपने स्वर मिलाने लगा.



समारोह के मुख्‍य अतिथि राज्यपाल कल्याण सिंह थे और मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की. कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रुप में पर्यटन राज्य मंत्री कृष्णेन्द्र कौर मौजूद रहीं. जयपुर राजपरिवार सदस्य पद्मिनी देवी एवं लेफ्टिनेंट जनरल अरुण कुमार साहनी सपत्नीक उपस्थित रहे. इस अवसर पर राज्य मंत्रिमंडल के सदस्य, विधायक एवं विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद रहे.



पर्यटन विभाग द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में राजस्थान दिवस के ग्राफिक्स के साथ रंग-बिरंगे सुसज्जित ऊंट एवं घोड़ों के जुलूस के बाद राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पदक जीतने वाले प्रदेश के खिलाडियों ने मार्चपास्ट कर युवा शक्ति का प्रतिनिधित्व किया. महावीर पब्लिक स्कूल, बिड़ला पब्लिक स्कूल पिलानी एवं राजस्थान पुलिस के बैंड ने अपनी मधुर स्वरलहरियों के साथ मार्चपास्ट कर वातावरण को मनमोहक धुनों से सराबोर कर दिया.



प्रदेश के सातों संभागों का प्रतिनिधित्व करने वाली झांकियों को इस तरह से सजाया गया था कि ये न केवल उस संभाग में शामिल जिलों के ऐतिहासिक व सामाजिक वैभव को दिखा रही थी, बल्कि ये सांस्कृतिक धरोहरों का भी प्रतिनिधित्व कर रही थीं. झांकियों के साथ सतरंगी परिधानों में लोक कलाकारों ने राजस्थान के कच्ची घोड़ी, गैर, चकरी, कालबेलिया आदि नृत्यों के साथ ही मयूर और लट्ठमार होली जैसे नृत्यों का भी मनमोहक प्रदर्शन किया. उदयपुर संभाग की झांकी में गणगौर की सवारी आकर्षक तरीके से निकाली गयी. जोधपुर संभाग की झांकी में ‘मेक इन राजस्थान‘ के साथ स्वच्छता, डिजिटल राजस्थान, रोजगार, स्वावलम्बन और ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ‘ का संदेश दिया गया.



कार्यक्रम के दौरान ‘आओ साथ चलें‘ गीत के साथ जब शहर के करीब सौ नन्हे-मुन्ने स्केट्स पर सवार होकर स्टंट्स करते हुए निकले, तो मौजूद जनसमूह तालियों की गडगड़ाहट के साथ उनका उत्साहवर्धन कर रहा था. इस अवसर पर ‘राजस्थान दिवस समारोह‘ का ‘लोगो‘ लिखे रंग-बिरंगे गुब्बारे भी छोड़े गए. पुलिस के जाबांजों ने मोटरसाइकल पर आश्चर्यजनक करतबों के दौरान खड़े होकर, उल्टे बैठकर, पिरामिड बनाकर और मल्लखंभ के करतब दिखाकर एवं सिंक्रनाइज्ड तरीके से कई वाहनों को एक साथ चलाकर दर्शकों को रोमांचित कर दिया. मोटरसाइकल पर स्टंट दिखाने के मामले में महिला पुलिसकर्मी भी पीछे नहीं रहीं. उन्होंने भी विभिन्न प्रकार के स्टंट दिखाते हुए प्रदर्शित किया कि महिला सशक्तिकरण के मामले में देश के किसी अन्य राज्य से पीछे नहीं है.



शहर में सफाई अभियान के प्रति लोगों में चेतना जगाने के लिए जयश्री पेड़ीवाल स्कूल के विद्यार्थियों ने ‘सफाई एंथम‘ प्रस्तुत किया. इसके बाद राजस्थान पुलिस सेंट्रल बैंड और राजपूत रेजिमेंटल सेंट्रल मिलिट्री बैंड ने धरती धोरा री, जय हो, वन्दे मातरम् जैसी कर्णप्रिय धुनों से देशभक्ति एवं प्रदेश के प्रति समर्पण की भावना से ओतप्रोत कर दिया.



‘मां तुझे सलाम‘ गीत पर प्रिंस डांस ग्रुप की ओर से डांस की आकर्षक प्रस्तुति दी गई. इस प्रस्तुति में मशाल हाथों में लिए नर्तकों ने देशभक्ति का भाव जगाया और साथ ही क्रेन्स की मदद से एरियल स्टंट्स दिखाकर दर्शकों की वाहवाही बंटोरी.

फोटो: रविशंकर व्‍यास

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर