राजस्थान : आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं-सहायिकाओं के लिए खुशखबरी, मिलेंगी 2-2 अतिरिक्त साड़ियां

सीएम अशोक गहलोत ने पोशाक खरीदने के लिए बजट का अनुमोदन कर दिया है.

सीएम अशोक गहलोत ने अतिरिक्त पोशाक देने के प्रस्ताव के लिए 9 करोड़ 92 लाख रुपये के अतिरिक्त बजट प्रावधान का अनुमोदन कर दिया है. इसका लाभ 1 लाख 24 हजार कार्यकर्ताओं-सहायिकाओं को मिलेगा.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान की आंगनबाड़ियों में काम कर रहीं 1 लाख 24 हजार कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं के लिए खुशखबरी है. राज्य सरकार इन आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं को दो-दो अतिरिक्त साड़ी या पोशाक देगी. सीएम अशोक गहलोत ने इसके लिए 9 करोड़ 92 लाख रुपये के अतिरिक्त बजट प्रावधान का अनुमोदन कर दिया है. प्रदेश में कुल 62 हजार 20 आंगनबाड़ी केन्द्र हैं. प्रत्येक आंगनबाड़ी केन्द्र पर एक कार्यकर्ता और सहायिका कार्यरत होती हैं. इनके लिए कुल 2 लाख 48 हजार साड़ियां या पोशाक खरीदे जाएंगे. प्रस्ताव के अनुसार 400 रुपये प्रति यूनिट की दर से खरीदारी की जाएगी. इस प्रकार कुल साड़ियों या पोशाक की खरीद पर 9 करोड़ 92 लाख रुपये खर्च होंगे. अभी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं को दो-दो साड़ी प्रति वर्ष देने का प्रावधान है. सीएम के निर्णय से उन्हें अब 4 साड़ियां मिल पाएंगी. सभी पोशाकों पर पोषण अभियान का लोगो भी लगाया जाएगा.

राज्य निधि से संचालित होगी पेयजल परियोजना

सीएम अशोक गहलोत ने एक और बड़ा फैसला करते हुए राजीव गांधी लिफ्ट नहर के फेज-3 को राज्य निधि से संचालित करने के प्रस्ताव का भी अनुमोदन किया है. यह परियोजना जोधपुर क्षेत्र से ताल्लुक रखती है. सीएम अशोक गहलोत ने 1 हजार 454 रुपये लागत की परियोजना के प्रस्ताव का अनुमोदन कर दिया है. यह परियोजना जोधपुर शहर की साल 2051 की अनुमानित आबादी के साथ ही 5 अन्य कस्बों और करीब 2100 गांवों की कुल करीब साढ़े 76 लाख की आबादी के लिए तैयार की गई है. क्षेत्र की औद्योगिक आवश्यकताएं भी इस परियोजना से पूरी होंगी. इस परियोजना के तहत इंदिरा गांधी मुख्य नहर से वर्तमान खुली नहर के समानान्तर 205 किलोमीटर लम्बी पाइपलाइन के जरिए 4 पम्पिंग स्टेशन की मदद से पानी लाया जाएगा. राज्य निधि से परियोजना संचालित होने से इसकी क्रियान्विति समय पर हो पाएगी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.