चालान से परेशान लोग, यहां सरकार 1000 के फाइन पर देगी मुफ्त हेलमेट!

राजस्थान सरकार के परिवहन मंत्री ने कहा कि संशोधित मोटर व्हीकल एक्ट के तहत बिना हेलमेट के दो पहिया वाहन चलाने वालों से जुर्माने के तौर पर 1000 रुपए वसूले जा रहे हैं. ऐसे में दो पहिया वाहन के मालिकों को मुफ्त में हेलमेट दिए जा सकते हैं.

News18 Rajasthan
Updated: September 5, 2019, 5:34 PM IST
चालान से परेशान लोग, यहां सरकार 1000 के फाइन पर देगी मुफ्त हेलमेट!
हेलमेट के लिए टेंडर कर सकती है राजस्थान सरकार
News18 Rajasthan
Updated: September 5, 2019, 5:34 PM IST
जयपुर. राजस्थान सरकार (Rajasthan Government) दो पहिया चालकों को हेलमेट (Helmet) देने की सोच रही है. इस बारे में परिवहन मंत्री (Transport Minister) प्रताप सिंह खाचरियावास (Pratap Singh Khachariyawas) ने अधिकारियों के साथ बैठक की है. मंत्री का कहना है कि संशोधित मोटर व्हीकल एक्ट (Amended Motor Vehicle Act) के तहत बिना हेलमेट के दो पहिया वाहन (Two Wheeler) चलाने वालों से जुर्माने के तौर पर 1000 रुपए वसूले जा रहे हैं.

ऐसे में दो पहिया वाहन के मालिकों को मुफ्त में हेलमेट दिए जा सकते हैं. मंत्री ने कहा कि हेलमेट मिल जाने के बाद लोग जागरूक (Awareness) होंगे. इसके बाद दो पहिया वाहनों के मालिक हेलमेट पहनकर ही गाड़ी चलाएंगे. मंत्री ने कहा कि इसके लिए टेंडर (Tender) किया जा सकता है. अभी इस बारे में विचार किया जा रहा है.

हाइवे पर दुघर्टनाओं से हो जाती है 70 फीसदी मौतें
परिवहन मंत्री ने कहा कि देश में हर वर्ष डेढ़ लाख लोगों की सड़क दुर्घटनाओं (Road Accident) में मौत हो जाती है. इनमें 70 प्रतिशत मौतें हाईवे पर हो रही हैं. उन्होंने कहा कि हाईवे (Highway) टोल कंपनियों पर निर्भर हैं.

टोल कंपनियों के पास एंबुलेंस तक नहीं
दुर्घटना में घायलों की जान बचाने के लिए टोल कंपनियों के पास एंबुलेंस (Ambulance) तक नहीं हैं. तत्काल राहत कार्य शुरू करने के लिए क्रेन तक भी नहीं है. दैनिक भास्कर में छपी खबर के अनुसार खाचरियावास ने कहा कि सड़क दुर्घटना रोकने के लिए केंद्र सरकार के पास कोई ठोस प्लान तक नहीं है.

ये भी पढ़ें - शिक्षक दिवस: सीएम गहलोत ने दिया बड़ा तोहफा, सम्मानित शिक्षकों को मिलेगा भूखंड
Loading...

ये भी पढ़ें - मुबंई की बारिश का असर, कई ट्रेनें रद्द और डाइवर्ट की, यहां देखें पूरी सूची

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 5, 2019, 3:43 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...