Home /News /rajasthan /

राजस्थान के मदरसों पर गिर सकती है गाज, जयपुर के तीन मदरसों का पंजीयन रद्द

राजस्थान के मदरसों पर गिर सकती है गाज, जयपुर के तीन मदरसों का पंजीयन रद्द

मदरसा बोर्ड की तरफ से अल्पसंख्यक मामलात विभाग को दिए गए सुझावों में कम छात्र संख्या होने के कारण करीब 902 मदरसों पर गाज गिरने की तैयारी की. इसके बाद मदरसा बोर्ड ने कार्रवाई करते हुए 655 मदरसों के पंजीयन रद्द किए थे.

    राजस्थान में कांग्रेस सरकार ने भौतिक सत्यापन के बाद मदरसा बोर्ड ने राजधानी जयपुर के तीन मदरसों के रजिस्ट्रेशन रद्द करने के आदेश जारी कर दिए हैं, साथ ही मदरसा बोर्ड की ओरर मुहैया करवाया गया सामान भी जब्त करने का आदेश दिए हैं. साल 2015 में पूर्ववर्ती भाजपा सरकार ने मदरसों पर बड़ा एक्शन लेते हुए करीब 655 मदरसों का पंजीयन रद्द किया था. उस समय राजस्थान में करीब 3800 मदरसों का पंजीयन था. मदरसा बोर्ड को 2015 में 148 मदरसें भौतिक सत्यापन के दौरान मिले ही नहीं थे. इसके अलावा 507 मदरसे शुरू ही नहीं हुए थे और करीब 228 मदरसे ऐसे थे, जहां छात्रों की संख्या 20 से भी कम थी. इन मदरसों को दूसरे मदरसों में मर्ज किया गया था.

    मदरसा शिक्षा सहयोगी संघ के संरक्षक अमीन कायमखानी ने बताया कि 2015 में मदरसा बोर्ड की ओर से प्रदेश में एक डाटा कैप्चर रिपोर्ट तैयार करवाई गई थी. इस रिपोर्ट में बोर्ड की तरफ से अल्पसंख्यक मामलात विभाग को दिए गए सुझावों में कम छात्र संख्या होने के कारण करीब 902 मदरसों पर गाज गिरने की तैयारी की. इसके बाद मदरसा बोर्ड ने कार्रवाई करते हुए 655 मदरसों के पंजीयन रद्द किए थे.

    नई सरकार में मदरसों के विकास को लेकर कई बातें कही गई थी, जिनमें पहला कदम राजधानी के ही तीन मदरसों की मान्यता रद्द कर उठाया गया था. इन तीनों मदरसों से बोर्ड ने सामान जब्त करने के भी आदेश दिए हैं. इनमें भट्टा बस्ती के सफिया मदरसा, घाटगेट के मोहम्मदी गुलजार मदरसा और सूफी मोहल्ला बिलोचान मदरसा का पंजीयन रद्द किया गया है.

    2003 में मदरसा बोर्ड की ओर से मदरसों की पंजीयन किया जाना शुरू हुआ था, ताकि मदरसों को सरकारी सुविधाओं के साथ में अनुदान दिया जा सके और मदरसों के जरिए अल्पसंख्यत तबके में शिक्षा को बढ़ावा दिया जा सके. हालांकि एक ओर राज्य सरकार मदरसा शिक्षा को आधुनिक करने की तैयारी में हैं तो दूसरी तरफ नई सरकार मदरसा बोर्ड अध्यक्ष की नियुक्ति के बिना ही तीन मदरसों का पंजीयन रद्द कर देती है.

    यह भी पढ़ें-  राजस्थान में 20 मदरसों के पास नहीं है अपना भवन

    Tags: Jaipur news, Madarasa, Rajasthan news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर