राजस्थान सरकार ने Black Fungus के इलाज और दवाओं के बाद जांच की दरें तय कीं, आदेश जारी

राजस्थान सरकार ने ब्लैक फंगस के इलाज के लिए दवाओं और इलाज का मूल्य निर्धारण कर दिया है.

राजस्थान सरकार ने ब्लैक फंगस के इलाज के लिए दवाओं और इलाज का मूल्य निर्धारण कर दिया है.

राजस्थान सरकार ने ब्लैक फंगस के इलाज और दवाओं के बाद जांचों की दरों का भी निर्धारण कर दिया है. निजी अस्पतालों में ब्लैक फंगस और कोविड संबंधी जांचों की दरें निर्धारित, ब्लैक फंगस के उपचार के लिए अधिकृत अस्पातल भी 20 से बढ़कर हुए 25 कर दिये गये हैं.

  • Share this:

जयपुर. राजस्थान सरकार ने ब्लैक फंगस के इलाज और दवाओं के बाद जांचों की दरों का भी निर्धारण भी कर दिया है. निजी अस्पतालों में ब्लैक फंगस और कोविड संबंधी जांचों की दरें निर्धारित, ब्लैक फंगस के उपचार के लिए अधिकृत अस्पातल भी 20 से बढ़कर हुए 25 कर दिये गये हैं. प्रदेश में म्यूकोरमायकोसिस (Black Fungus) के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रदेश के निजी अस्पतालों में कोविड और ब्लैक फंगस से संबंधित विभिन्न जांचों की दरें निर्धारित कर दी गई है. निर्धारित दरों से अधिक राशि वसूलने वालों पर कड़ी नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं. निर्धारित मापदंड पूरा करने वाले 5 और अस्पतालों को ब्लैक फंगस के लिए अधिकृत अस्पतालों की सूची में शामिल किया गया है.

सीबीसी से लेकर एमआरआई की जांच भी शामिल

चिकित्सा विभाग के प्रमुख शासन सचिव अखिल अरोड़ा ने इस संबंध में आज विस्तार से अलग-अलग आदेश जारी किए हैं. कोविड-19 एवं ब्लैक फंगस की रोकथाम तथा इससे बचाव के लिए निजी अस्पतालों के प्रतिनिधियों एवं विषय विशेषज्ञों के साथ विचार विमर्श के बाद जन सामान्य के लिए संबंधित जांचों की दरें तय कर दी है. इन जांचों में सीबीसी से लेकर एमआरआई तक की विभिन्न जांचें शामिल हैं.

ब्लैक फंगस के मामलों में बढ़ोतरी को देखते हुए राज्य सरकार ने अधिकृत अस्पतालों की सूची में 4 नाम और जोड़े हैं. पूर्व में सभी मापदंडों और प्रोटोकॉल की पालना करने वाले 20 अस्पतालों की सूची जारी की गई थी, अब इनमें मेडिकल कॉलेज, भरतपुर, पेसिफिक मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पीटल, उदयपुर, जीबीएच अमरीकन हॉस्पीटल, उदयपुर, चिरायु हॉस्पीटल, जयपुर और अपेक्स हॉस्पीटल, जयपुर को भी शामिल कर लिया गया है. इन अस्पतालों को ब्लैक फंगस रोग के उपचार के लिए मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना से भी संबद्ध किया गया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज