Rajasthan News: गहलोत सरकार की कोरोना से लड़ाई तेज, विदेशों से आयात करेगी वैक्सीन

सीएम अशोक गहलोत ने ग्रामीण क्षेत्रों में हैल्थ मशीनरी को पूरी तरह एक्टिव करने का आदेश दिया है.

सीएम अशोक गहलोत ने ग्रामीण क्षेत्रों में हैल्थ मशीनरी को पूरी तरह एक्टिव करने का आदेश दिया है.

Rajasthan Corona Vaccination News: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने शनिवार की रात कोरोना संक्रमण, लॉकडाउन और अन्‍य संसाधनों की उपलब्धता की समीक्षा के दौरान कहा कि राज्‍य के लोगों का जल्‍दी वैक्‍सीनेशन करने के लिए सरकार विदेशों से वैक्‍सीन के आयात पर भी मंथन कर रही है. यही नहीं, सीएम ने ग्रामीण इलाकों में कोरोना संक्रमण को लेकर अधिकारियों को सर्तक रहने के आदेश भी दिए हैं.

  • Share this:

जयपुर. राजस्‍थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने कहा कि कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण और जीवन रक्षा के लिए वैक्सीनेशन (Corona Vaccination) को गति देने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि प्रदेश में वैक्सीन की उपलब्धता के लिए सभी विकल्पों पर विचार किया जाए. प्रदेशवासियों को जल्द से जल्द वैक्सीनेट करने के लिए यदि आवश्यकता है, तो राज्य सरकार विदेशों से आयात पर भी विचार करेगी.

इसके अलावा सीएम अशोक गहलोत ने ग्रामीण लोगों को टीकाकरण के प्रति जागरूक करने के लिए विशेष अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं. सीएम ने शनिवार रात को वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से कोविड संक्रमण, लॉकडाउन और संसाधनों की उपलब्धता सहित अन्य संबंधित विषयों पर उच्च स्तरीय समीक्षा की.

तीसरी लहर की आशंका

गहलोत ने कहा कि दूसरी लहर के साथ-साथ विशेषज्ञ तीसरी लहर की भी आशंका जता रहे हैं. उनके अनुसार तीसरी लहर और अधिक घातक हो सकती है और बच्चों में इसका अधिक प्रसार होने की आशंका जताई जा रही है. इसे देखते हुए बच्चों के अस्पतालों में उपचार की व्यवस्थाएं पुख्ता की जाएं. इन अस्पतालों में गहन चिकित्सा सुविधाओं एनआईसीयू और पीआईसीयू आदि को मजबूत किया जाए. उन्होंने कहा कि कोरोना रोग के इलाज में जीनोम सिक्वेंसिंग का विशेष महत्व है. चिकित्सा विशेषज्ञ वायरस की प्रकृति का समुचित अध्ययन करें, ताकि उसके अनुरूप बचाव के तमाम प्रयास अमल में लाए जा सकें.
हैल्थ मशीनरी को पूरी तरह एक्टिव हो

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि शहरों के साथ-साथ कोरोना संक्रमण गांवों में भी बड़ी तेजी से फैल रहा है. इसके प्रसार को रोकने और संक्रमितों को तत्काल इलाज उपलब्ध कराने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में हैल्थ मशीनरी को पूरी तरह एक्टिव किया जाए. साथ ही लोगों को जागरूक करने और अन्य व्यवस्थाओं के लिए राज्य सरकार के सभी कार्मिकों और पंचायत स्तर के जनप्रतिनिधियों की अधिक से अधिक भागीदारी सुनिश्चित की जाए. उन्होंने कहा कि गांवों में संक्रमण इसी तरह बढ़ा, तो इसे नियंत्रित करना बेहद मुश्किल होगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज