Home /News /rajasthan /

rajasthan made a record in paper leak even after the new anti copying law paper leak of police recruitment nodps

राजस्थान ने बनाया पेपर लीक में नया रिकॉर्ड, 12 साल में 11 बड़ी भर्ती परीक्षाओं के पेपर लीक, नया कानून भी बेअसर

Jaipur news :  सरकारी सिस्टम में गहरी जडें जमा चुका है नकल माफिया

Jaipur news : सरकारी सिस्टम में गहरी जडें जमा चुका है नकल माफिया

Jaipur News: राजस्थान में सरकारी नौकरियों में भर्ती के सिस्टम का हाल बेहाल है. इसी सिस्टम की ख़ामी का खामियाजा भुगत रहे राजस्थान के लाखों बेरोज़गार. बदतर हालातों की आंकड़े चुगली खा रहे हैं. बीते 12 साल 11 बड़ी परीक्षाओं के पेपर आउट हुए है. कई भर्तियां ऐसी हैं, जो पेपर आउट की वजह से विवादों में हैं. पेपर लीक होने के मामले में राजस्थान अन्य राज्यों से आगे निकल गया है. त्रुटि-रहित भर्तियां न करने पर हाल ही में हाईकोर्ट ने भी सरकार पर तल्ख टिप्पणी की है.

अधिक पढ़ें ...

जयपुर. राज्य में नकल विरोधी कानून (Anti copying law) बनने के बाद राजस्थान की सरकार ने जमकर वाहवाही लूटी थी. मगर फिर भी राजस्थान में लंबे समय बाद हुई पुलिस भर्ती (Police recruitment) का पेपर भी लीक हो गया. सिस्टम का हाल यह है कि प्रिटिंग प्रेस से लेकर परीक्षा केंद्र तक नक़ल माफिया दखल दे रहे हैं. अब सरकार के पेपर बनाने से लेकर परीक्षा लेने तक के सिस्टम पर भी कई तरह के सवाल उठ रहे हैं. पेपर लीक के चलते राजस्थान सरकार (Rajasthan government) लगातार बीजेपी और विपक्ष के निशाने पर है.

प्रदेश में सरकारी नौकरियों के लिए होने वाली भर्ती परीक्षाओं की गोपनीयता ताक पर है. कभी यूपी-बिहार प्रश्न पत्र आउट होने के मामले में सबसे ज्यादा चर्चा में रहते थे. लेकिन यह दाग अब राजस्थान के दामन पर लगता जा रहा है.

युवा सरकार से गुहार लगा रहे हैं- नकल रोको सरकार 
बीते 12 साल में 11 बड़ी परीक्षाओं के प्रश्न पत्र आउट हुए है. वहीं पिछले नौ महीने में रीट और कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के प्रश्न पत्र आउट होने से युवा सड़कों पर है. रीट का पर्चा आउट होने के बाद सरकार ने दावा किया था कि नकल माफिया पर चोट करने के लिए नया कानून बनाया है. इसके लिए सरकार ने सदन में जमकर वाहवाही भी बटोरी, लेकिन इसके कुछ महीने बाद ही पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा की एक पारी का पर्चा आउट हो गया. ऐसे में प्रदेश के युवाओं का भर्ती एजेन्सियों से लेकर सरकारी सिस्टम से विश्वास उठ रहा है.

हाईकोर्ट की तल्ख टिप्पणी: कहा- सरकार नौकरियां देना ही नहीं चाहती, 80 हजार भर्तियां तो अटकी है
सरकारी सिस्टम में गहरी जडें जमा चुका है नकल माफिया
नकल माफिया गहरी जडें जमा चुका है. रीट में प्रश्न पत्र स्ट्रॉन्ग रूम से चोरी हुआ था, जबकि कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में प्रश्न पत्र सेंटर से ही लीक हो गया. एसओजी की जांच में यह भी सामने आ चुका कि नकल गिरोह के सदस्य प्रिंटिंग प्रेस से लेकर सेंटर तक पहले ही जाल बिछा लेते हैं. परीक्षा से कुछ दिन पहले तक यदि प्रिंटिंग प्रेस से पेपर चोरी करने में सफलता नहीं मिलती तो वे सेंटर को निशाना बनाते हैं. अब तो भर्ती परीक्षा आयोजित करने वाली एजेंसी भी विपक्ष के निशाने पर आ गई है, जिस पर सीधे तौर पर आरोप लग रहे हैं.

प्रदेश के लाखों युवा हर साल ओवरएज होने को मजबूर
ऐसे में पेपर लीक की घटनाओं का खामियाजा राज्य के होनहार युवाओं को भुगतना पड़ता है. नौकरी में देरी के साथ-साथ कई युवाओं पर ओवरएज की तलवार भी लटक जाती है. और हाल यह है कि भर्तियों की तैयारी करने वाले प्रदेश के लाखों युवा हर साल ओवरएज हो जाते हैं. वहीं परीक्षा रद्द होने पर युवाओं को दोबारा से तैयारी में जुटना पड़ता है. कोचिंग फीस फिर से चुकानी पड़ती है. मगर सिस्टम कब सुधरेगा इस सवाल का जवाब किसी के पास नही है. त्रुटि-रहित भर्तियां न करने पर हाल ही में हाईकोर्ट ने भी सरकार पर तल्ख टिप्पणी की है.

आइये, सबसे पहले एक नजर डालते हैं कि कौन-कौनसी बड़ी भर्ती परीक्षाओं के पेपर लीक हुए हैं. पिछले 12 साल में इन 11 बडी भर्ती परीक्षाओं के पेपर हुए लीक

  • एपीपी भर्ती 2011: आंदोलन हुए तो रद्द की परीक्षा. 159 पदों के लिए राजस्थान लोक सेवा आयोग ने 21 दिसम्बर 2011 को परीक्षा कराई थी. प्रश्न पत्रों में गड़बड़ी के कारण परीक्षा को रद्द कर दिया गया था.
  • आरएएस 2013: परिणाम के बाद रद्द हुई यह परीक्षा. राजस्थान लोक सेवा आयोग की 978 पदों के लिए प्री-परीक्षा 26 अक्टूबर 2013 में कराई गई थी. परिणाम 11 जून 2014 को जारी हुआ. इसका पेपर लीक हो चुका था. संज्ञान में आने के बाद 11 जुलाई 2014 को परीक्षा रद्द कर दी गई.
  • एलडीसी भर्ती 2013: पेपर आउट की वजह से तीन साल में भर्ती अटकी. लगभग 7 हजार पदों के लिए राजस्थान लोक सेवा आयोग ने 11 जनवरी 2014 को भर्ती परीक्षा का आयोजन कराया था. प्रश्न पत्र आउट होने की वजह से यह भर्ती लगभग तीन साल में पूरी हो सकी.
  • शिक्षक भर्ती 2013: तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 2013 में कई जिलों में पेपर लीक होने व प्रश्न पत्रों में गड़बड़ी मिली थी. कई सेंटरों में पेपर दोबारा आयोजित हुआ.
  • आरपीएमटी 2014: सवालों में गड़बड़ी, नकल के आरोप लगे. राजस्थान स्वास्थ्य विज्ञान विवि ने 28, 29 व 30 मई 2014 को आरपीएमटी का आयोजन कराया था. 6 जून को परिणाम आया. प्रश्नपत्र में 86 सवालों में गड़बड़ी पाई गई. बाद में परीक्षा रद्द कर दी गई. नकल से लेकर प्रश्न पत्र लीक के आरोप लगे थे.
  • कॉन्स्टेबल भर्ती 2018: पहले भी पुलिस की परीक्षा विवादों में रही है. लगभग 15 हजार पुलिस कांस्टेबल पदों की भर्ती परीक्षा में पुलिस को 11 मार्च 2018 को प्रश्न पत्र लीक होने की जानकारी मिली. इसके बाद 17 मार्च को परीक्षा रद्द कर दी गई. इससे पहले हुई पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में सीकर के एक ही सेंटर के एक ही कमरे से कई विद्यार्थियों का चयन सवालों के घेरे में आया था.
  • लाइब्रेरियन भर्ती 2018: नकल गिरोह के तार शेखावाटी तक फैले. राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड की ओर से 29 दिसम्बर 2019 को आयोजित हुई परीक्षा को पेपर लीक होने पर रद्द कर दिया गया. परीक्षा रद्द होने की वजह से बेरोजगारों को परीक्षा के लिए दोबारा कई महीनों तक इंतजार करना पड़ा. नकल गिरोह के तार शेखावाटी तक जुड़े थे.
  • जेईएन सिविल डिग्रीधारी भर्ती 2020: इस गंभीर मामले में बोर्ड अध्यक्ष को देना पड़ा इस्तीफा. राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड की ओर से जेईएन सिविल डिग्रीधारी के 533 पदों के लिए 6 दिसम्बर 2020 को भर्ती परीक्षा का आयोजन कराया गया. पेपर लीक होने पर रद्द कर दिया गया. बोर्ड के चेयरमैन बीएल जाटावत को इस्तीफा देना पड़ा था.
  • शिक्षक भर्ती 2021: रीट का परिणाम सबसे कम समय में जारी करने का रेकॉर्ड बनाने वाली सरकार खुद इस परीक्षा के फेर में उलझ गई. खुद मुख्यमंत्री को रीट द्वितीय लेवल का प्रश्न पत्र आउट होने की घोषणा करनी पड़ी. एसओजी अब तक 60 से ज्यादा आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है.
  • बिजली विभाग की जेईएन भर्ती 2022 : इस भर्ती में जयपुर के राजधानी इंजीनियरिंग में ऑनलाइन पेपर लीक करने पर बवाल मचा. ऑनलाइन हो रही इस परीक्षा में तकनीकि समस्या के चलते एक सेंटर का पेपर दोबारा करवाया जाएगा.
  • पुलिस कांस्टेबल भर्ती 2022: जयपुर से वायरल पेपर शेखावाटी तक पहुंच गया. पेपर 14 मई की दूसरी पारी का प्रश्न पत्र आखिरकार खुद पुलिस ने रद्द कर दिया. अब प्रदेश के ढाई लाख से अधिक अभ्यर्थियों को दोबारा परीक्षा देनी होगी.

Tags: Jaipur news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर