मंत्री शांति धारीवाल ने कहा, संघ राष्ट्र ध्वज और राष्ट्रगान दोनों का विरोधी

News18 Rajasthan
Updated: August 21, 2019, 10:52 AM IST
मंत्री शांति धारीवाल ने कहा, संघ राष्ट्र ध्वज और राष्ट्रगान दोनों का विरोधी
राजस्थान के मंत्री शांति धारीवाल

राजस्थान के संसदीय कार्य और शहरी विकास मंत्री शांति धारीवाल ने कहा कहा है कि आरएसएस राष्ट्र ध्वज और राष्ट्रगान दोनों का विरोधी रहा है.

  • Share this:
 राजस्‍थान सरकार के संसदीय कार्य और शहरी विकास मंत्री शांति धारीवाल ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस ) पर  निशाना साधते हुए एक विवादित बयान दिया है.  धारीवाल राजीव गांधी की जयंती पर जयपुर में एक सभा को संबोधित कर रहे थे. अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि संघ राष्ट्र ध्वज और राष्ट्रगान दोनों के विरोधी है. मंत्री धारीवाल ने यह भी कहा कि राजीव गांधी को भाजपा और संघ का चरित्र इसलिए अखरता था क्योंकि ये दोनों शुरू से दलित और अल्पसंख्यक विरोधी थे. धारीवाल ने राजीव गांधी महान मानवतावादी व्यक्ति बताया.

आरएसएस की प्रतीकात्मक तस्वीर


 धारीवाल ने 26 जनवरी 1930 का हवाला देते हुए कहा कि 1930 में जब महात्मा गांधी ने कहा कि सभी राष्ट्रीय ध्वज फहराएंगे तो भी संघ की शाखाओं में केसरिया ध्वज फहराया जा रहा था. इसके साथ साथ धारीवाल ने संघ को राष्ट्रगान का भी विरोध बताया. उनका कहना था कि संघ के लोग कहते थे कि जन गण मन से वो देश भक्ति की भावना नहीं आती.



Loading...

राजस्‍थान में कांग्रेस की सरकार है और इस वजह से कांग्रेस के निशाने पर संघ है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सरकार ने संघ से जुड़े लोगों या उनके समर्थकों को निशाना बनाया है. धारीवाल ने कहा, ‘राजीव गांधी सबसे ज्यादा परेशान राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की विचाराधारा से थे. उनकी यह पक्की सोच थी कि यह देश अगर सबसे ज्यादा नुकसान उठाएगा,  देश में सांप्रदायिक तनाव से सबसे अधिक नुकसान होगा तो वह आरएसएस की नीतियों की वजह से होगा. ’

मंत्री शांति धारीवाल ने कहा कि ‘1929 में जब महात्मा गांधी ने पूरे देशवासियों से 26 जनवरी 1930 को स्वतंत्रता दिवस मनाने का आह्वान किया और लोगों से अपने-अपने घरों पर और जहां- जहां भी लोग जाते हों, वहां तिरंगा झंडा लहराने की अपील की तब भी उस दिन संघ की शाखाओं में भगवा ध्वज की वंदना हो रही थी.’  उन्होंने कहा कि संघ के लोग खुलेआम कहते थे कि तिरंगा में तीन रंग कैसे एक ही रंग होना चाहिए मतलब भगवा रंग होना चाहिए।

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 21, 2019, 10:52 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...