राजस्थान: 24 घंटे में कोरोना के 17 हजार से अधिक नए मामले, संक्रमण से 160 लोगों की मौत

राजस्थान में 24 घंटे के अंदर 17 हजार से अधिक मामले, 160 लोगों की मौत. (File photo)

राजस्थान में 24 घंटे के अंदर 17 हजार से अधिक मामले, 160 लोगों की मौत. (File photo)

राजस्थान में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रदेश में 10 मई से 24 मई तक सख्त लॉकडाउन लागू करने का निर्णय किया गया है. मंत्रिपरिषद की ओर से गठित 5 सदस्यीय मंत्री समूह ने गुरुवार को अपने सुझाव दे दिए हैं.

  • Share this:

जयपुर. राजस्थान में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 17,987 नए केस सामने आए हैं. जबकि संक्रमण से 160 लोगों की मौत हुई हैं. वहीं 17,667 लोग डिस्चार्ज रिपोर्ट किए गए हैं. अब राजस्थान में सक्रिय मरीज बढ़कर 1,99,307 हो गए हैं. जबकि अब तक कुल  7,38,786 लोग संक्रमित हो चुके हैं. जबकि प्रदेश में 5,506 लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं 5,33,973 लोगों कोरोना से रिकवर हो चुके हैं.

इस बीच राजस्थान में कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए प्रदेश में 10 मई से 24 मई तक सख्त लॉकडाउन लागू करने का निर्णय किया गया है. मंत्रिपरिषद की ओर से गठित 5 सदस्यीय मंत्री समूह ने गुरुवार को अपने सुझाव दे दिए हैं. इन सुझावों पर चर्चा कर गहलोत सरकार ने गुरुवार रात लॉकडाउन लगाने का निर्णय लिया है. राज्य में 10 मई की सुबह 5 बजे से 24 मई की सुबह 5 बजे तक सख्त लॉकडाउन रहेगा. राज्य में विवाह समारोह 31 मई 2021 के बाद ही आयोजित किए जा सकेंगे. इसके लिए भी राज्य ने सख्त गाइडलाइन जारी की है.

10 मई से टोटल लॉकडाउन की तैयारी का जायजा


राजस्थान में 10 मई से लागू होने वाले लॉकडाउन से पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शुक्रवार देर रात कोरोना प्रबंधन पर समीक्षा बैठक ली. सभी विभागों के उच्च अधिकारियों  के साथ हुई बैठक में उन्होंने लॉकडाउन की तैयारियों पर फीडबैक लिया. बैठक में सभी विभागों के अफसरों ने मुख्यमंत्री को आश्वस्त किया की लॉकडाउन के दौरान प्रदेश में किसी प्रकार के अप्रिय हालात का सामना नहीं करना पड़ेगा. सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं.

समीक्षा बैठक में प्रमुख शासन सचिव गृह अभय कुमार ने बताया कि लॉकडाउन की गाइडलाइन में लोगों की आवाजाही रोकने के कड़े प्रावधान किए गए हैं. उन्होंने कहा कि संक्रमण को रोकने के लिए हमें जीरो मोबिलिटी की ओर बढ़ना पड़ेगा. डीजीपी एमएल लाठर ने बताया कि लॉकडाउन की गाइडलाइन के पालन के लिए एनफोर्समेंट बढ़ा दिया गया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज