liveLIVE NOW
  • Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • Rajasthan News Live Updates: बजट पर बोले खेल मंत्री अशोक चांदना, कहा- केवल चुनाव वाले राज्यों पर फोकस किया गया है

Rajasthan News Live Updates: बजट पर बोले खेल मंत्री अशोक चांदना, कहा- केवल चुनाव वाले राज्यों पर फोकस किया गया है

Rajasthan News, 1 February-2021: प्रदेश की गहलोत सरकार के मंत्रियों ने केन्द्रीय बजट को निराशाजनक बताया है. परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि इसमें केवल कमाने पर फोकस किया गया है. वहीं खेल मंत्री अशोक चांदना ने कहा कि बजट में राजस्थान के लोगों को अवॉइड किया गया है.

  • News18 Rajasthan
  • | February 01, 2021, 16:01 IST
    facebookTwitterLinkedin
    LAST UPDATED 10 MONTHS AGO

    AUTO-REFRESH

    14:31 (IST)

    वहीं कांग्रेस सरकार समर्थक निर्दलीय विधायक संयम लोढ़ा ने भी बजट को निराशाजनक बताया है. लोढ़ा ने कहा कि बजट में राज्य को कुछ नहीं मिला है. उम्मीद थी कि सरकार कोरोना काल में रोजगार की कोई योजना लाएगी, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ. बजट उम्मीदों पर पानी फेरने वाला है. 


    कांग्रेस नेता अर्चना शर्मा ने कहा कि केन्द्रीय बजट ने देश की आम जनता को निराश किया है. उन्होंने बजट को थोथी घोषणाओं, पुरानी योजनाओं और खोखले वायदों का पुलिंदा बताया है. शर्मा ने कहा कि वित्त मंत्री ने केवल आंकड़ेबाजी की है और जिन राज्यों में चुनाव है उनके लिए लुभावनी घोषणायें की है. गैर भाजपाई शासित राज्यों के साथ भेदभाव किया गया है. राजस्थान, पंजाब, छत्तीसगढ़, झारखण्ड और महाराष्ट्र के लिए बजट में कुछ नहीं है.

    14:24 (IST)

    प्रदेश के खेल मंत्री अशोक चांदना ने बजट पर प्रतिक्रिया देते हुये कहा कि इसमें राजस्थान के लोगों को अवॉइड किया गया है. राजस्थान ने बीजेपी को 25 एमपी दिये हैं, लेकिन बजट में राजस्थान का नाम भी नहीं आया. उन्होंने कहा कि युवा वर्ग को बजट से कोई राहत नहीं मिली. केन्द्र सरकार मिडिल क्लास की कमर तोड़ रही है. हर बार खोखला बजट पेश किया जाता है. बजट में केवल चुनाव वाले राज्यों पर फोकस किया गया है. उन्होंने आरोप लगाया कि देश में ऐसा कुछ भी नहीं छोड़ा जो बिकना नहीं है. 

    14:24 (IST)
    जयपुर. कोरोना काल में बिगड़ी देश की अर्थव्यवस्था के बाद आज केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की ओर से संसद में पेश किये केन्द्रीय बजट को अशोक गहलोत सरकार के परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने निराशाजनक बताया है. खाचरियावास ने बजट पर प्रतिक्रिया देते हुये कहा कि किसी भी वर्ग को राहत नहीं मिल नहीं दी गई है. बजट में सारा फोकस केवल कमाने पर रहा है देने में कुछ नहीं है. खाचरियावास ने कहा कि टैक्स पेयर को कोई राहत नहीं दी गई है. किसानों को भी कुछ नहीं दिया गया है. 

    12:59 (IST)
    जयपुर. नगरीय निकाय के नतीजों में कांग्रेस बीजेपी पर फिर भारी पड़ी है. कुल 3035 वार्डों में से बीजेपी के खाते में सिर्फ 1140 वार्ड आये हैं. जबकि कांग्रेस ने 1197 वार्डों में जीत हासिल की है. इन चुनावों में निर्दलीयों ने कांग्रेस के बजाय बीजेपी को जबर्दस्त नुकसान पहुंचाया है. निर्दलीय 634 वार्डों में जीते हैं. चुनावों में बीजेपी के कई गढ़ ढह गये हैं लेकिन उसने अजमेर नगर निगम और किशनगढ़ नगरपरिषद जैसे बड़े नगर निकायों में शानदार जीत हासिल की है.
     

    निकाय चुनाव में पिछड़ी बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया कह रहे हैं कि पार्टी आत्मचिंतन करेगी कि आखिर कमी कहां रह गई ? हाल ही में हुये इन 90 निकायों में से बीजेपी पहले 60 पर काबिज थी. लेकिन इन निकायों के नतीजों में पार्टी पिछड़ गई है. शहरों में हमेशा आगे रहने वाली पार्टी के कई गढ़ या तो ढह गये या फिर निर्दलीयों ने खेल बिगाड़ दिया. कांग्रेस सत्त्ता में है इसलिए स्वाभाविक है कि निर्दलीयों का झुकाव भी उसकी तरफ ही रहेगा. यही चिंता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां को परेशान करने के लिए काफी है. अब उनकी कोशिश निर्दलीयों को साथ लेने की है. 

    11:06 (IST)
    चूरू. प्रदेश के 20 जिलों के 90 निकायों में संपन्न हुये चुनाव में कई बड़े रोचक परिणाम सामने आये हैं. ऐसा ही एक रोचक परिणाम चूरू जिले की सुजानगढ़ विधानसभा क्षेत्र की बीदासर नगर पालिका में सामने आया है. बीदासर में 35 वार्ड के लिए हुए चुनाव में वार्ड संख्या-16 के चुनाव काफी रोचक रहे. यहां बीजेपी के प्रत्याशी धर्मेंद्र को महज 1 ही वोट मिला है जबकि उनके प्रतिद्वंदी कांग्रेस के यूनुस को 401 वोट मिले हैं.

    यहां एक खास बात यह भी रही कि बीजेपी के धर्मेंद्र को नोटा से भी कम वोट मिले हैं. इस वार्ड में तीन मतदाताओं ने नोटा का बटन दबाया है. कस्बे के वार्ड-16 के इस परिणाम की चर्चायें जोरों पर हैं. सुजानगढ़ विधानसभा क्षेत्र से मास्टर भंवरलाल मेघवाल विधायक थे. उनका पिछले दिनों बीमारी के चलते निधन हो गया था. यहां आने वाले दिनों में उपचुनाव होने हैं. इस वजह से भी लोगों की नजरें इस क्षेत्र के निकाय चुनाव के परिणामों पर टिकी हुई थी.

    10:17 (IST)
    जयपुर. प्रदेश में 90 नगर निकायों के चुनावों के नतीजे आ चुके हैं. प्रदेश में आगामी दिनों में 4 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव भी होने हैं. जिन क्षेत्रों में विधानसभा उपचुनाव होने वाले हैं उनके तहत आने वाले निकायों के चुनाव परिणामों ने बीजेपी और कांग्रेस दोनों का आईना दिखा दिया है. इन चार क्षेत्रों के पांच निकायों में चुनाव हुये हैं. इन चारों विधानसभा क्षेत्रों के विधायकों का गत दिनों बीमारी के कारण निधन हो गया था. 

    इन चार विधानसभा क्षेत्रों में से तीन विधायक कांग्रेस के थे और एक में बीजेपी की थीं. इन चार विधानसभा क्षेत्रों के पांच निकायों में से बीजेपी और कांग्रेस को महज 1-1 निकाय में स्पष्ट बहुमत मिला है. कांग्रेस को जहां बीजेपी विधायक वाले क्षेत्र राजसमन्द में स्पष्ट बहुमत मिला है. वहीं बीजेपी को कांग्रेस विधायक वाले सहाड़ा क्षेत्र के गंगापुर निकाय में स्पष्ट बहुमत मिला है. सुजानगढ़ निकाय में कांग्रेस बहुमत के नजदीक है, जबकि इसके बीदासर निकाय में बीजेपी. इस क्षेत्र में कांग्रेस के विधायक थे. वहीं उदयपुर के वल्लभनगर विधानसभा क्षेत्र में मतदाताओं ने कांग्रेस और बीजेपी से ज्यादा निर्दलीयों पर विश्वास जताया है. यहां निर्दलीय पार्षद बहुसंख्यक हैं. यहां भी कांग्रेस के विधायक थे. कुल मिलाकर इन क्षेत्रों में मतदाताओं ने दोनों पार्टियों के लिये खतरे का अलार्म बजा दिया है. 

    7:51 (IST)
    जयपुर. नगरीय निकायों के चुनावी नतीजों में बीजेपी भले ही कांग्रेस के मुकाबले पिछड़ गई हो, लेकिन प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने इस हार में जीत के आंकड़े गिनाये हैं. पूनिया ने कहा कि बीजेपी का प्रदर्शन शानदार रहा है. कांग्रेस ने सरकारी मशीनरी का जमकर दुरुपयोग कर नतीजों को प्रभावित करने की कोशिश की है. बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया चुनावी नतीजों के बाद आत्मविश्वास से लबरेज नजर आ रहे हैं. 

    पूनिया ने कहा कि बीजेपी की स्ट्राइक रेट बेहतर रही है. गहलोत सरकार जीत के झूठे आंकड़े पेश कर रही है. पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा, सीएम अशोक गहलोत और कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी अजय माकन खुद की पीठ थपथपा रहे हैं. जबकि सच्चाई ये है कि कांग्रेस सिर्फ 19 निकायों में बहुमत हासिल कर पाई है. पूनिया ने सवाल किया कि माकन और डोटासरा किस जादू से 50 से ज्यादा निकायों में अपना बोर्ड बनाने का दावा कर रहे हैं. 64 फीसदी से ज्यादा वोट सरकार के खिलाफ पड़े हैं. 

    7:07 (IST)
    जयपुर. प्रदेश में कक्षा 6 से 8 तक के बच्चे 8 फरवरी से स्कूल जा सकेंगे. सीएम अशोक गहलोत ने प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामलों की संख्या में लगातार कमी आने और स्थिति नियंत्रण में रहने के चलते आगामी 8 फरवरी से स्कूलों को कक्षा 6 से 8 तक के बच्चों के लिए खोलने का निर्णय किया है. कॉलेजों को स्नातक प्रथम, द्वितीय वर्ष और स्नातकोत्तर कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए भी हैल्थ प्रोटोकॉल की पूर्ण पालना की शर्तों के साथ खोलने का निर्णय किया गया है. 

    इसके साथ ही सभी सिनेमा हॉल, थियेटर और स्विमिंग पूल आदि भी 8 फरवरी से खुल सकेंगे. हालांकि अभी 50 प्रतिशत उपस्थिति या क्षमता के साथ ही ये सब खोलने की छूट दी गई है. इस दौरान हेल्थ प्रोटोकॉल की भी पूरी तरह पालना करनी होगी. वहीं सामाजिक एवं अन्य आयोजनों में 200 लोगों तक उपस्थिति की छूट होगी. 

    जयपुर. प्रदेश में कक्षा 6 से 8 तक के बच्चे अब 8 फरवरी से स्कूल (School) सकेंगे. सीएम अशोक गहलोत ने प्रदेश में कोरोना संक्रमण (COVID-19) के मामलों की संख्या में लगातार कमी आने और स्थिति नियंत्रण में रहने के चलते आगामी 8 फरवरी से स्कूलों को कक्षा 6 से 8 तक के बच्चों के लिए खोलने का निर्णय किया है. कॉलेजों को स्नातक प्रथम, द्वितीय वर्ष और स्नातकोत्तर कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए भी हैल्थ प्रोटोकॉल की पूर्ण पालना की शर्तों के साथ खोलने का निर्णय किया गया है.

    इसके साथ ही सभी सिनेमा हॉल, थियेटर और स्विमिंग पूल आदि भी 8 फरवरी से खुल सकेंगे. हालांकि अभी 50 प्रतिशत उपस्थिति या क्षमता के साथ ही ये सब खोलने की छूट दी गई है. इस दौरान हेल्थ प्रोटोकॉल की भी पूरी तरह पालना करनी होगी. वहीं सामाजिक एवं अन्य आयोजनों में 200 लोगों तक उपस्थिति की छूट होगी.

    समीक्षा बैठक में ये महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए
    मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में रविवार को हुई कोरोना संक्रमण और वैक्सीनेशन कि समीक्षा बैठक में ये महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए हैं. बैठक में पटाखों की दुकानों और विभिन्न धर्मों के मेलों के आयोजन के विषय में पूर्व में लगाए गए प्रतिबन्धों में शिथिलता देने के लिए नए दिशा-निर्देश तैयार करने का भी निर्णय लिया गया है. मुख्यमंत्री ने राजस्थान में हैल्थकेयर वर्कर्स के कोविड टीकाकरण अभियान में और अधिक तेजी लाकर लक्ष्य को शीघ्र पूरा करने के निर्देश दिए हैं.

    आयोजनों में आगन्तुकों की उपस्थिति 200 व्यक्ति तक रह सकेगी
    आपको बता दें कि राजस्थान में कोरोना पॉजिटिविटी की दर अब मात्र 5.44 प्रतिशत है. यह राष्ट्रीय औसत से बेहतर है. वहीं रिकवरी रेट 98.42 प्रतिशत पहुंच गई है. वर्तमान में पूरे प्रदेश में केवल 2260 व्यक्ति ही कोरोना पॉजिटिव हैं. सिनेमा, थिऐटर, मल्टीप्लेक्स आदि को कुल क्षमता की 50 प्रतिशत सीटों तक ही खोलने की अनुमति होगी. केन्द्र सरकार द्वारा कुंभ मेले के लिए जारी एसओपी के अनुरूप ही प्रदेश में आयोजित होने वाले विभिन्न धार्मिक मेलों के लिए नई एसओपी जारी करने के निर्देश दिए गए हैं. शादी-विवाह समारोह के लिए उपखण्ड मजिस्ट्रेट को पूर्व सूचना और अन्य सामाजिक आयोजनों के लिए जिला कलक्टर को पूर्व सूचना देने के साथ ही सभी हैल्थ प्रोटोकॉल की पालना की शर्त के साथ अब ऐसे आयोजनों में आगन्तुकों की उपस्थिति 200 व्यक्ति तक रह सकेगी.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन