LIVE NOW

Rajasthan News Live Updates: पंचायतों के पीडी खाते खोलने का प्रदेशभर में शुरू हुआ विरोध

Rajasthan News, 18-January-2021: नई व्यवस्था में अब सरपंच खुद पैसा खर्च नहीं कर पाएंगे. सरपंचों का कहना है कि पीडी खाते खुलने से सरपंचों के अधिकार छीन लिए गए हैं. उनकी मांग है कि राजस्थान में पहले की तरह पंचायतों के खाते में ही पैसा आना चाहिए.

Hindi.news18.com | January 21, 2021, 4:04 PM IST
facebook Twitter Linkedin
Last Updated January 21, 2021
1:19 pm (IST)
जयपुर. ग्राम पंचायतों के पीडी खाते खोलने का प्रदेशभर में विरोध शुरू हो गया है. आज से सरपंचों ने ग्राम पंचायतों पर सांकेतिक तालाबंदी करने की शुरुआत कर दी है. सरपंच संघ राजस्थान के आह्वान पर तालेबन्दी की जा रही है. सरपंचों को आरोप है कि इससे उनके वित्तीय अधिकारों में कटौती हो रही है. उनके अधिकार छीने जा रहे हैं. 

 

नई व्यवस्था पर सरपंचों ने उठाये सवाल
नई व्यवस्था के अनुसार अब पंचायतों का पैसों पर कोई कंट्रोल नहीं होगा. सरकार ने हर पंचायत के लिए पीडी अकाउंट खोले है. ये वित्त विभाग के कंट्रोल में होगा. सरपंचों को पंचायत के विकास कार्यों के लिए वित्त विभाग से पैसा लेना होगा. अब सरपंच खुद पैसा खर्च नहीं कर पाएंगे. सरपंचों का कहना है कि पीडी खाते खुलने से सरपंचों के अधिकार छीन लिए गए हैं. उनकी मांग है कि राजस्थान में पहले की तरह पंचायतों के खाते में ही पैसा आना चाहिए ताकि विकास कार्य की गति धीमी ना हो. पीडी खाते से पैसा लेने के लिए लंबी प्रक्रिया से गुजरना पड़ेगा और सरपंचों के अधिकार भी खत्म हो जाएंगे.

12:35 pm (IST)

12:34 pm (IST)
नागौर. गणतंत्र दिवस की परेड इस बार राजस्थान के लिए गर्व का मौका लेकर आई है. गणतंत्र दिवस के मौके पर इस बार राजस्थान का देश में मान और बढ़ेगा. वीरों की भूमि नागौर की बेटी को इस परेड में जो गौरव मिलने जा रहा है उससे सभी प्रदेशवासियों का सीना चौड़ा हो जाएगा. इस बार राजपथ पर होने वाली फ्लाई पास्ट का नेतृत्व नागौर की बेटी वायुसेना की फ्लाइट लेफ्टिनेंट स्वाति राठौड़ करेंगी. गणतंत्र दिवस के इतिहास में पहली बार किसी महिला पायलट को फ्लाई पास्ट को यह जिम्मा मिला है.

 

स्वाति इससे पहले वायुसेना दिवस पर फ्लाई पास्ट की अगवानी कर चुकी हैं. मूल रूप से नागौर के प्रेमपुरा निवासी स्वाति ने जयपुर के आईसीजी कॉलेज और अजमेर में रहकर पढ़ाई पूरी की है. स्वाति के पिता डॉ. भवानी सिंह कृषि विभाग में उप निदेशक हैं.

11:45 am (IST)
जयपुर. महज 4 माह में चार विधायकों के निधन से प्रदेश की राजनीति भले ही सदमे में है, लेकिन अब इनके कारण रिक्त हुई विधानसभा की चार सीटों के उप चुनाव के लिये कांग्रेस और बीजेपी में अंदर ही अंदर राजनीतिक सरगर्मियां भी शुरू हो गई हैं. आगामी कुछ महीनों में इन सीटों पर उप चुनाव होंगे. इन उप चुनावों में सीएम अशोक गहलोत और बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया के प्रतिष्ठा दांव पर रहेगी. पूनिया से भी ज्यादा सीएम गहलोत की साख दांव पर होगी. क्योंकि इनमें से तीन सीटें कांग्रेस के खाते में थीं. उन सीटों को पुन: हासिल करना मौजूदा राजनीतिक माहौल में गहलोत के लिये बेहद चुनौतीभरा काम होगा.  

 

राजस्थान विधानसभा के इतिहास में संभवत यह पहला मौका है जब महज 4 माह में 4 विधायकों का बीमारी के कारण निधन हो गया है. इनमें तीन विधायक कांग्रेस के तो एक बीजेपी का शामिल है. विधायकों के निधन से खाली हुई भीलवाड़ा की सहाड़ा, चूरू की सुजानगढ़ ओर उदयपुर की वल्लभनगर सीट कांग्रेस के कब्जे में थी. जबकि राजसंमद सीट पर बीजेपी काबिज थी. इन चारों सीटों पर आगामी महीनों में उप चुनाव होंगे. 

9:51 am (IST)
उदयपुर. वल्लभनगर विधायक गजेंद्र सिंह शक्तावत की पार्थिव देह आज पंचतत्व में विलीन की जायेगी. सुबह 11 बजे बाद शक्तावत के पैतृक गांव भिंडर में उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा. उदयपुर के न्यू फतेहपुरा स्थित निवास स्थान से शक्तावत की अंतिम यात्रा सुबह 8 बजे रवाना हो गई है. शक्तावत की अंत्येष्टि के समय पूर्व पीसीसी चीफ सचिन पायलट समेत कई मंत्री और नेता मौजूद रहेंगे.

 

गजेंद्र सिंह शक्तावत की पार्थिव देह को बुधवार देर रात उदयपुर स्थित उनके निवास स्थान पर लाया गया. कोरोना प्रोटोकॉल के चलते पार्थिव देह को एम्बुलेंस में ही रखा गया. रातभर शक्तावत के समर्थक और चाहने वाले उनके घर के बाहर ही बैठे रहे. लिवर की बीमारी के कारण विधायक शक्तावत का लंबे इलाज के बाद बुधवार को सुबह निधन हो गया था. इससे पहले वे कोरोना संक्रमित भी हो गये थे.

9:07 am (IST)
जयपुर. कांस्टेबल भर्ती- 2019 के मामले में परिणाम एक बार फिर लाखों अभ्यर्थियों को बड़ा झटका लगा है. परीक्षा का परिणाम जारी करने पर लगाई गई रोक आगामी 5 फरवरी तक जारी रहेगी. विभाग का जवाब बुधवार को रिकॉर्ड पर नहीं आने के कारण इस मामले की सुनवाई नहीं हो सकी. मामले का नंबर आते ही सरकारी अधिवक्ता ने कोर्ट से कहा कि विभाग ने कल जवाब पेश किया है. इससे वह अभी रिकॉर्ड पर नहीं आ सका है. ऐसे में कोर्ट कोई भी नजदीक की तारीख दे दे. इस पर जस्टिस एसपी शर्मा ने अंतरिम रोक जारी रखते हुए सुनवाई 5 फरवरी तक के लिये टाल दी. 

LOAD MORE
जयपुर. कांस्टेबल भर्ती परीक्षा-2019 (Police Constable Recruitment Exam) के परिणाम को लेकर एक बार फिर लाखों अभ्यर्थियों को बड़ा झटका लगा है. परीक्षा परिणाम जारी करने पर लगाई गई रोक 5 फरवरी तक जारी रहेगी. विभाग का जवाब बुधवार को रिकॉर्ड पर नहीं आने के कारण इस मामले की सुनवाई नहीं हो सकी. मामले का नंबर आते ही सरकारी अधिवक्ता ने कोर्ट से कहा कि विभाग ने 19 जनवरी को जवाब पेश किया है. इससे वह अभी रिकॉर्ड पर नहीं आ सका है. ऐसे में कोर्ट कोई भी नजदीक की तारीख दे दे. इस पर जस्टिस एसपी शर्मा ने अंतरिम रोक जारी रखते हुए सुनवाई 5 फरवरी तक के लिये टाल दी.

सुनवाई टलने से भर्ती परीक्षाा में शामिल हुए लाखों अभ्यर्थियों को बड़ा झटका लगा है. उन्‍हें रोक हटने की उम्‍मीद थी. मामले में याचिका दायर करने वाले जहीर अहमद जाजोद की ओर से पैरवी करने वाले अधिवक्ता एजाज नबी ने बताया कि राजस्थान पुलिस अधीनस्थ सेवा नियम-1989 के तहत भर्ती परीक्षा में राज्यवार एक मेरिट लिस्ट बननी चाहिए थी, लेकिन पुलिस विभाग भर्ती में जिलेवार मेरिट लिस्ट जारी कर रहा है. इसकी लीगल प्रक्रिया को हमने हाईकोर्ट में चुनौती दी थी. इस पर कोर्ट ने सुनवाई करते हुए 8 जनवरी को भर्ती के परिणाम पर अंतरिम रोक लगा दी थी. एजाज नबी ने कहा कि हमारी मांग है कि विभाग भर्ती नियमों के अनुसार एक स्टेट मेरिट लिस्ट जारी करे.

उल्लेखनीय है कि राजस्‍थान में बीते वर्ष 5438 पदों के लिए पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा आयोजित की गई थी. 6, 7 और 8 नवंबर को आयोजित हुई लिखित परीक्षा में करीब 15 लाख अभ्यर्थियों ने हिस्सा लिया था. इस परीक्षा के लिए 17 लाख से अधिक अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था. भर्ती की विज्ञप्ति 4 दिसंबर 2019 को जारी हुई थी. इस भर्ती परीक्षा से प्रदेश के लाखों युवाओं का भविष्य जुड़ा हुआ है.

फोटो

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज