LIVE NOW

Rajasthan News Live Updates: जम्मू कश्मीर में शहीद हुआ राजस्थान का 19 साल का लाडला निखिल

Rajasthan News, 30 January-2021: वीरों की धरा राजस्थान के एक और बेटे ने देश सेवा में अपने प्राण न्योछावर कर दिये हैं. अलवर के सैदपुरा गांव के महज 19 साल के जांबाज निखिल दायमा (Nikhil Dayma) जम्मू कश्मीर में शहीद हो गये हैं.

Hindi.news18.com | January 30, 2021, 3:40 PM IST
facebook Twitter Linkedin
Last Updated January 30, 2021
11:52 am (IST)

11:26 am (IST)

जानकारी के अनुसार भिवाड़ी इलाके का सबसे कम उम्र में शहीद होने वाला देश का जाबांज सिपाही निखिल दायमा अप्रैल 2019 में 3 राजपूत रेजिमेंट में भर्ती हुआ था. शुक्रवार को उसने पाकिस्तान की ओर से सीज फायर का उल्लंघन करने के बाद पाकिस्तानियों से लोहा लेते हुए भारत के लिए अपने प्राणों को न्योछावर कर दिया. निखिल दायमा के पिता एक टैक्सी ड्राइवर हैं. शहीद का छोटा भाई चंदन दायमा भिवाड़ी में 10वीं की पढ़ाई कर रहा है. 

 

 

दो भाइयों में बड़े निखिल दायमा के दादा भी आर्मी से रिटायर्ड हैं. उनसे प्रेरणा लेकर ही निखिल ने देश की सेवा के लिए आर्मी को चुना था. महज पौने दो साल के सर्विस काल में उसने अपनी बहादुरी का परिचय देते हुए देश सेवा में अपने प्राणों की आहुति दे दी. जांबाज निखिल दायमा 14 जनवरी को ही अपनी छुट्टी खत्म करके वापस देश सेवा के लिए लौटा था. निखिल दायमा के शहीद होने की सूचना मिलते ही उसके पैतृक गांव सैदपुर सहित भिवाड़ी में भी शोक की लहर छा गई है. परिवार के कुछ सदस्य दिल्ली गये हैं.  

10:54 am (IST)

10:53 am (IST)
अलवर. जिले के भिवाड़ी के सैदपुर गांव का महज 19 साल जाबांज निखिल दायमा शुक्रवार को जम्मू कश्मीर में उरी सेक्टर में पाकिस्तान की ओर से किये गये सीज फायर के उल्लंघन के बाद हुई मुठभेड़ में शहीद हो गया. शहीद निखिल दायमा के पार्थिक देह को आज कश्मीर से दिल्ली लाया जाएगा. वहां से पार्थिव देह को शहीद के पैतृक गांव सैदपुर लाया जाएगा. उसके बाद सैदपुर में शहीद का पूरे सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जायेगा। 

 

सीएम अशोक गहलोत ने ट्वीट कर कहा कि निखिल ने देश के लिये सर्वोच्च बलिदान दिया है. गहलोत ने जाबांज निखिल की शहादत को नमन करते हुये ईश्वर से परिजनों को संबल प्रदान करने की प्रार्थना की है। सीएम ने कहा है इस कठिन घड़ी में हम सब शोक संतप्त परिवार के साथ खड़े हैं.  

10:01 am (IST)

10:01 am (IST)
जयपुर. राजस्थान में जाते जाते सर्दी अपना जबर्दस्त असर दिखा रही है. प्रदेश के कई जिलों में शीतलहर चलने का दौर जारी है. राज्य के एकमात्र हिल स्टेशन मांउट आबू में जनवरी के अंत में सर्दी का गत 15 बरसों का रिकार्ड टूट गया है. वहां गुरुवार रात को जहां पारा माइनस 4.6 डिग्री दर्ज किया गया था. वहीं शुक्रवार रात को पारा 0 डिग्री पर अटका रहा. मौसम विभाग के अनुसार शनिवार और रविवार को भी शीतलहर से राहत नहीं मिलेगी. सोमवार से मौसम में बदलाव होगा और सर्दी का असर काफी हद तक कम हो जायेगा.

 

राजधानी जयपुर के रात के पारे में हालांकि मामूली बढ़ोतरी हुई लेकिन शनिवार को अलसुबह से हाड़ कंपाने वाली सर्दी रही. सर्दी से बचाव के लिए लोग सड़क किनारे अलाव का सहारा लेते भी दिखे. मौसम विभाग के मुताबिक जयपुर के तापमान में मामूली गिरावट दर्ज की गई है. यहां शुक्रवार रात को न्यनूतम तापमान 6.0 डिग्री सेल्सियस रहा. लेकिन सर्दी का असर बरकरार है.

9:07 am (IST)
जोधपुर. सनसिटी जोधपुर में नगर निगम में एक महिला सफाईकर्मी से अवकाश के बदले अस्मत मांगने का मामला अभी ठंडा भी नहीं हुआ है कि अब इसी तरह का एक और मामला सामने आया है. इस बार मामला जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय से जुड़ा हुआ है. आरोप है कि यहां कार्यरत एक महिला संविदा कर्मचारी से सहकर्मी ने उसके स्थायीकरण के केस को निपटाने और रूके हुये पेमेंट को दिलवाने के नाम पर अस्मत मांगी है. मानसिक रूप से प्रताड़ित हुई महिला कर्मचारी ने अब पुलिस की शरण ली है. उसने शहर के रातानाड़ा थाने में सहकर्मी के खिलाफ केस दर्ज कराया है. पुलिस ने सहकर्मी के खिलाफ लज्जा भंग का केस दर्ज किया है.

 

रातानाड़ा थानाधिकारी लीलाराम ने बताया कि जेएनवीयू में एक महिला संविदा पर लगी हुई है. उसके स्थायीकरण को लेकर मामला चल रहा है. इसके चलते उसका पेमेंट भी अटका हुआ है. महिला ने आरोप लगाया है कि उसके साथ में काम करने वाला कर्मचारी उसे मानसिक रूप से परेशान कर रहा है. वह स्थायीकरण और पेमेंट का केस का हल करवाने के नाम पर उससे अनैतिक बातें करता है. महिला का आरोप है कि सहकर्मी उस पर अनैतिक संबंध बनाने का दबाव बना रहा है. पीड़िता ने इस बारे में मामला दर्ज कराया है. 

8:17 am (IST)

8:16 am (IST)
जयपुर. सेवानिवृत्त आईपीएस हरिप्रसाद शर्मा को राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड का अध्यक्ष बनाया गया है. हरिप्रसाद शर्मा डॉ. बीएल जाटावत का स्थान लेंगे. बीएल जाटावत ने 16 जनवरी को अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. राज्य सरकार ने डॉ. इरफान मेहर और राम सिंह मीणा को कर्मचारी चयन बोर्ड का सदस्य बनाया है. 

 

चयन बोर्ड में एक अध्यक्ष और 4 सदस्य होते हैं. लेकिन पिछले साल मई के बाद से ही यहां कोई सदस्य नहीं था. 8 अक्टूबर 1958 को जयपुर में जन्मे शर्मा 2018 में पुलिस महानिरीक्षक के पद से सेवानिवृत्त हुये थे. हरिप्रसाद शर्मा 7 जिलों के एसपी रहे हैं. शर्मा श्रीगंगानगर, बीकानेर, उदयपुर, नागौर, जोधपुर शहर, अजमेर और झुंझुनूं जिलों के एसपी रहे हैं.

7:43 am (IST)
जयपुर. प्रदेश के परिवहन विभाग का अब नाम बदलेगा. सड़क सुरक्षा के प्रति गंभीरता दर्शाने के लिए ऐसा किया जा रहा है. विभाग को अब परिवहन और सड़क सुरक्षा विभाग के नाम से जाना जाएगा. इसे लेकर जल्द ही राज्य सरकार नोटिफिकेशन जारी करेगी. परिहवन विभाग की समीक्षा बैठक में मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने इसका ऐलान किया है. वहीं उन्होंने अधिकारियों को बकाया टैक्स वसूलने के निर्देश भी दिये हैं. 
 

मरुधरा में पिछले दिनों सड़क दुर्घटनाओं में बेशक 11 फीसदी तक की कमी आई है. लेकिन अभी भी लोगों में सड़क सुरक्षा को लेकर गंभीरता नजर नहीं आ रही है. सड़क सुरक्षा के प्रति गंभीरता दर्शाने और लोगों में जागरुकता लाने के लिए परिवहन विभाग का नाम बदला जा रहा है. विभाग की समीक्षा बैठक में मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावस ने शुक्रवार को इसका ऐलान किया. मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने वीसी के जरिए प्रदेशभर के आरटीओ और डीटीओ की समीक्षा बैठक लेते हुए कहा कि सड़क सुरक्षा के प्रति हमारी जिम्मेदारी है. लोगों में भी इसे लेकर जागरुकता पैदा हो इसके लिए यह बड़ा कदम उठाया जा रहा है.    

 

LOAD MORE
जयपुर. प्रदेश के परिवहन विभाग (Transport Department) का अब नाम बदलेगा. सड़क सुरक्षा के प्रति गंभीरता दर्शाने के लिए ऐसा किया जा रहा है. विभाग को अब परिवहन और सड़क सुरक्षा विभाग (Transport and Road Safety Department) के नाम से जाना जाएगा. इसे लेकर जल्द ही राज्य सरकार नोटिफिकेशन जारी करेगी. परिहवन विभाग की समीक्षा बैठक में मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने इसका ऐलान किया है. वहीं उन्होंने अधिकारियों को बकाया टैक्स वसूलने के निर्देश भी दिये हैं.

मरुधरा में पिछले दिनों सड़क दुर्घटनाओं में बेशक 11 फीसदी तक की कमी आई है. लेकिन अभी भी लोगों में सड़क सुरक्षा को लेकर गंभीरता नजर नहीं आ रही है. सड़क सुरक्षा के प्रति गंभीरता दर्शाने और लोगों में जागरुकता लाने के लिए परिवहन विभाग का नाम बदला जा रहा है. विभाग की समीक्षा बैठक में मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावस ने शुक्रवार को इसका ऐलान किया. मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने वीसी के जरिए प्रदेशभर के आरटीओ और डीटीओ की समीक्षा बैठक लेते हुए कहा कि सड़क सुरक्षा के प्रति हमारी जिम्मेदारी है. लोगों में भी इसे लेकर जागरुकता पैदा हो इसके लिए यह बड़ा कदम उठाया जा रहा है.

एनएचएआई के खिलाफ कार्रवाई करने के भी निर्देश
समीक्षा बैठक में सड़क सुरक्षा के साथ राजस्व कलेक्शन पर भी मंथन हुआ. मंत्री ने तमाम अधिकारियों को टारगेट प्राप्त करने के निर्देश दिये. कोरोना काल के चलते इस बार विभाग टारगेट प्राप्त करने में काफी पीछे रह गया है. यही कारण है कि समीक्षा बैठक में मंत्री प्रताप सिंह ने अधिकारियों को बकाया टैक्स वसूलने के निर्देश दिये हैं. इसके साथ ही अधिकारियों को ब्लैक स्पॉट खत्म करने, हाइवे पर दुर्घटनायें कम करने और सड़कों को लेकर एनएचएआई के खिलाफ कार्रवाई करने के भी निर्देश दिये.

दुर्घटनाओं में अगर कमी आती है तो इसे सार्थक पहल माना जाएगा
नाम बदलने से अगर सड़क दुर्घटनाओं में कमी आती है तो इसे सार्थक पहल माना जाएगा. लेकिन जरुरत इस बात कि है कि जागरुकता अभियान को सड़क सुरक्षा सप्ताह या माह के बजाय सालभर चलाया जाना चाहिये. लोगों को लगातार जागरुक किया जाना चाहिये.

फोटो

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज