लाइव टीवी

LIVE पंचायत चुनाव: पहले चरण का मतदान सम्पन्न, कुछ देर में होगी घोषणा- कौन बना सरपंच?

News18Hindi
Updated: January 17, 2020, 6:17 PM IST
LIVE पंचायत चुनाव: पहले चरण का मतदान सम्पन्न, कुछ देर में होगी घोषणा- कौन बना सरपंच?
सरपंच पदों के लिए आज ही मतगणना होगी. (GettyImages)

राजस्थान (Rajasthan) में 87 पंचायत समितियों (Panchayat Samiti) की 2726 ग्राम पंचायतों (Gram Panchayat) के 26800 वार्डों में सुबह 8 बजे से मतदान जारी है. यह मतदान प्रक्रिया शाम 5 बजे तक जारी रहेगी. सरपंच (Sarpanch) पदों के लिए आज ही मतगणना होगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 17, 2020, 6:17 PM IST
  • Share this:
जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) में 87 पंचायत समितियों (Panchayat Samiti) की 2726 ग्राम पंचायतों (Gram Panchayat) के 26800 वार्डों में शुक्रवार को मतदान प्रक्रिया पूरी हुई. शाम पांच बजे तक मतदान के बाद अब निर्वाचन आयोग की ओर से सरपंच पद के लिए कुल 17 हजार 242 उम्मीदवारों में जीतने वाले प्रत्याशियों की घोषणा की जाएगी. प्रदेश के 87 पंचायत क्षेत्र में 36 सरपंच निर्विरोध चुने जाने के बाद प्रथम चरण में सरपंच पद के लिए कुल 17 हजार 242 उम्मीदवारों ने ताल ठोकी थी. इनके नतीजों की घोषणा के बाद अगले दिन यानी 18 जनवरी को उप सरपंच के नतीजों का ऐलान किया जाएगा.

यहां देखें सरपंच-पंच चुनाव की Live कवरेज News18 राजस्थान पर...




धूप के साथ बढ़ा मतदान प्रतिशत, 3 बजे तक 55. 44% मतदान

पंचायती राज चुनाव के इस प्रथम चरण में 3 बजे तक हुआ 55. 44% मतदान हुआ. इससे पहले दोपहर 12 बजे तक 27.66% मतदान हो चुका था. यह मतदान प्रक्रिया शाम 5 बजे तक जारी रही. बता दें कि प्रदेश के 31 जिलों की 2726 ग्राम पंचायतों के 26 हजार 800 वार्डों में 70 हजार 732 उम्मीदवारों ने 70 हजार 936 नामांकन पत्र दाखिल किए. संवीक्षा के बाद 68 हजार 808 उम्मीदवारों के नामांकन सही पाए गए. इन उम्मीदवारों में से 15 हजार 70 उम्मीदवारों ने नाम वापसी के दिन अपने नाम वापस ले लिए. प्रदेश भर में 11 हजार 35 पंच निर्विरोध चुन लिए गए हैं. वर्तमान में 42 हजार 704 उम्मीदवार पंच पद के लिए मैदान में हैं

 

11 हजार से ज्यादा ईवीएम मशीनों से हुआ चुनावप्रथम चरण के चुनाव में 11 हजार से ज्यादा ईवीएम मशीनें काम में ली गईं. सभी संस्थाओं के चुनाव में लगभग 30 प्रतिशत मशीनें रिजर्व में रखी गई. चुनाव के दौरान मशीनों में किसी भी तरह की परेशानी आने पर प्रत्येक जिले में भारत इलेक्ट्रोनिक्स लिमिटेड और इलेक्ट्रोनिक्स काॅरपोरेशन आफ इंडिया लिमिटेड के इंजीनियर्स को हर समय उपलब्ध रहने को पाबंद किया गया. मशीनों की देखरेख के लिए इंजीनियर्स 10 जनवरी से ही जिलों में पहुंचे.

ये भी पढ़ें-

पंचायत चुनाव 2020: पंच-सरपंच चुनाव पर इन 32 अफसरों की निगाहें

सरपंच प्रत्याशी का 1 पत्नी से मुकाबला, दूसरी बीवी का समर्थन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 17, 2020, 8:15 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर