अपना शहर चुनें

States

पीएम मोदी कैबिनेट में राजस्थान की भागीदारी, एक कैबिनेट और दो राज्यमंत्री मिले

गजेन्द्र सिंह शेखावत, कैबिनेट मंत्री।
गजेन्द्र सिंह शेखावत, कैबिनेट मंत्री।

पिछली बार की तरह इस बार भी प्रदेश की 25 की 25 सीटें बीजेपी की झोली में डालने वाले राजस्थान के तीन सांसदों को पीएम नरेन्द्र मोदी के कैबिनेट में जगह मिली है. इस बार प्रदेश के हिस्से में एक कैबिनेट और दो राज्य मंत्री आए हैं.

  • Share this:
पिछली बार की तरह इस बार भी प्रदेश की 25 की 25 सीटें बीजेपी की झोली में डालने वाले राजस्थान के तीन सांसदों को पीएम नरेन्द्र मोदी के कैबिनेट में जगह मिली है. इस बार प्रदेश के हिस्से में एक कैबिनेट और दो राज्य मंत्री आए हैं. पीएम मोदी की टीम में शामिल किए जोधपुर सांसद गजेन्द्र सिंह शेखावत को कैबिनेट मंत्री बनाया गया है. वहीं बीकानेर सांसद अर्जुनराम मेघवाल और बाड़मेर सांसद कैलाश चौधरी को राज्यमंत्री बनाया गया है.

राजस्थान: बदले सियासी समीकरणों में अब नजरें खींवसर और मंडावा विधानसभा सीटों पर

गजेन्द्र सिंह शेखावत, कैबिनेट मंत्री



जोधपुर से सांसद बने गजेन्द्र सिंह शेखावत ने सूबे के सीएम अशोक गहलोत के पुत्र वैभव गहलोत को उनके ही गृहक्षेत्र में जबर्दस्त मात दी है, जबकि शेखावत स्वयं मूल रूप से शेखावाटी के सीकर जिले से हैं. स्नातकोत्तर शिक्षा प्राप्त करीब 51 वर्षीय शेखावत जोधपुर से लगातार दूसरी बार जीते हैं. शेखावत पूर्व में भी मोदी सरकार में कृषि राज्य मंत्री का जिम्मा संभाल चुके हैं. प्रदेश में संघ की पहली पसंद माने जाने वाले शेखावत मोदी और शाह की गुडबुक में शामिल हैं. वे बीजेपी संगठन में कई पदों पर काम कर चुके हैं.
अर्जुनराम मेघवाल, राज्य मंत्री।


अर्जुनराम मेघवाल, राज्य मंत्री
बीकानेर से हैट्रिक लगाने वाले अर्जुनराम मेघवाल प्रदेश में पार्टी का बड़ा दलित चेहरा हैं. पिछली सरकार में मोदी कैबिनेट में जल संसाधन, नदी विकास और संसदीय मामलों के राज्यमंत्री रह चुके 66 वर्षीय मेघवाल रिटायर्ड आईएएस हैं. मूलतया बीकानेर के किसमीदेसर गांव निवासी मेघवाल का लंबा प्रशासनिक अनुभव है. मेघवाल की लोकसभा में उनकी परफोर्मेंस भी अच्छी रही है. मेघवाल ने बीकानेर में अपने ही मौसरे भाई कांग्रेस प्रत्याशी सेवानिवृत आईपीएस मदन गोपाल मेघवाल को हराया है.

कैलाश चौधरी, राज्य मंत्री।


कैलाश चौधरी, राज्य मंत्री
बाड़मेर सांसद कैलाश चौधरी बीजेपी के संस्थापक सदस्य रहे पूर्व केन्द्रीय मंत्री जसवंत सिंह के बेटे मानवेन्द्र सिंह को हराकर लोकसभा पहुंचे हैं. वे मोदी कैबिनेट में नए चेहरे हैं. पूर्व में बाड़मेर की बायतू विधानसभा क्षेत्र से विधायक रह चुके कैलाश चौधरी संघ के नजदीकी माने जाते हैं. करीब 45 वर्षीय चौधरी एमए, बीपीएड तक शिक्षा प्राप्त हैं. मूलत: बाड़मेर के बायतू निवासी चौधरी वर्ष 2013 में बायूत से बीजेपी की टिकट पर पहली बार विधायक चुने गए थे. वहीं विधानसभा चुनाव-2018 में बायतू से हार गए थे.

कौन हैं मोदी कैबिनेट में शामिल होने वाले कैलाश चौधरी?

सुर्खियां: प्रदेश के तीन सांसद बने मोदी कैबिनेट के सदस्य, गर्मी बना रही रिकॉर्ड

 

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज