राजस्थान: PCC चीफ की अटकलों के बीच सचिन पायलट बोले- राजनीति में कब क्या हो जाए मालूम नहीं
Jaipur News in Hindi

राजस्थान: PCC चीफ की अटकलों के बीच सचिन पायलट बोले- राजनीति में कब क्या हो जाए मालूम नहीं
राजस्थान डिप्टी सीएम सचिन पायलट में राजनीतिक नियुक्तियों पर बयान दिया है. (फाइल फोटो)

राजस्थान (Rajasthan) में प्रदेश कांग्रेस कमेटी (Pradesh Congress Committee) के नए अध्यक्ष को लेकर अटकलें तेज हैं.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) में प्रदेश कांग्रेस कमेटी (Pradesh Congress Committee) के नए अध्यक्ष को लेकर अटकलें तेज हैं. एक वर्ग डिप्टी सीएम सचिन पायलट (Deputy CM Sachin Pilot) को ही प्रदेश अ​ध्यक्ष पद फिर से मिलने की अटकलें लगा रहा है. ऐसे में सचिन पायलट का इस मामले में बयान आया है. पायलट ने प्रदेश अध्यक्ष बदलने के सवाल पर कहा कि राजनीति में कब क्या हो जाए किसी को मालूम नहीं है. किसको क्या काम देना है यह अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी का नेतृत्व अच्छी तरह जानता है. किसका कहां उपयोग करना है, उसका उपयोग करते रहते हैं. चाहे संगठन का हो या सरकार में काम देना, इसका निर्णय अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी लेती आई है और लेती रहेगी.

डिप्टी सीएम पायलट ने कहा कि मुझे जो जिम्मेदारी दी है उसे पूरी निष्ठा से निभा रहा हूं. हमारे कार्यकर्ताओं की टीम ने 6 साल में जो काम किया, 21 विधायक थे उससे  लेकर आज हम सरकार में बैठे हैं. ये उन्हीं कार्यकर्ताओं की मेहनत है. अब हम लोगों की उम्मीदों के मुताबिक शाासन दें, जिसकी उम्मीद जनता हमसे करती है.

राजनीति नियुक्तियों पर क्या कहा?
राजनीतिक नियुक्तियों और फेरबदल को लेकर डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने कहा है कि सोनिया गांधी ने कॉर्डिनेशन कमेटी बनाई है, उस कॉर्डिनेशन कमेटी के माध्यम से तमाम नियुक्तियां भी होंगी. जिनको जो जिम्मेदारी देनी है, यह इस कमेटी का काम होगा. प्रदेश में जो राजनीतिक गतिविधियां हैं उसका पूरा संचालन करने के लिए, यह कमेटी बनाई गई है. डिप्‍टी सीएम ने कहा कि चाहे नियुक्तियां हों या फेरबदल या बदलाव करने की स्थिति हो सब निर्णय कॉर्डिनेशन कमेटी के जरिए ही लिए जाएंगे. उन्‍होंने बताया कि बहुत जल्द कॉर्डिनेशन कमेटी की बैठक बुलाकर इन सब पर फैसला किया जाएगा.
ये भी पढ़ें: करीबी दोस्त से धुर विरोधी तक! पढ़ें लालू-नीतीश की फ्रेंडशिप की अनटोल्ड स्टोरी



इनको मिलेगी तवज्जो
पायलट ने कहा कि जिन कार्यकर्ताओं ने धरने दिए, प्रदर्शन किए, भूख हड़ताल की, लाठी खाई अर्थात जिन लोगों ने रगड़ाई खाई है, उन लोगों के मान सम्मान की रक्षा करना मेरा प्रथम कर्तव्य है. चाहे कुछ हो जाए उन लोगों की प्रतिष्ठा पर कभी आंच नहीं आने दूंगा. खून पसीना बहाकर हम लोग इस पार्टी को सत्ता में लेकर आए हैं, उसका पूरा सम्‍मान होगा, चाहे नियुक्ति के माध्यम से हो या सरकार में भागीदारी के जरिए हो यह सुनिश्वचत करना मेरा पहला दायित्व है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज