राजस्‍थान फोन टैपिंग केसः CM गहलोत के OSD ने दिल्ली हाईकोर्ट में दी FIR को चुनौती, कल होगी सुनवाई

राजस्थान फोन टैपिंग के मामले में कल यानि गुरुवार को 
दिल्ली हाईकोर्ट सुनवाई करेगा. (File)

राजस्थान फोन टैपिंग के मामले में कल यानि गुरुवार को दिल्ली हाईकोर्ट सुनवाई करेगा. (File)

केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत CM अशोक गहलोत के OSD के खिलाफ दर्ज करवाया था. चूंकि मामला जयपुर के बजाए दिल्ली में दर्ज कराया था, इसलिए सीएम गहलोत के ओएसडी ने दिल्ली हाईकोर्ट में इसे चुनौती दी है.

  • Share this:

नई दिल्ली. राजस्थान फोन टैपिंग मामले (Rajasthan phone tapping case) में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (cm ashok gehlot) के OSD लोकेश शर्मा ने FIR को दिल्ली हाईकोर्ट में चुनौती दी है. दिल्ली हाईकोर्ट इस मामले में कल यानि गुरुवार को सुनवाई करेगा. दिल्ली हाईकोर्ट में जस्टिस सुरेश कुमार कैत की बेंच इस केस की सुनवाई करेगी. अर्जी में लोकेश शर्मा ने अपने खिलाफ दर्ज FIR को खारिज करने की मांग की है.

केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत (Gajendra Singh Shekhawat) ने OSD के खिलाफ दर्ज करवाया था. चूंकि मामला जयपुर के बजाए दिल्ली में दर्ज कराया था, इसलिए सीएम गहलोत के ओएसडी ने दिल्ली हाईकोर्ट में इसे चुनौती दी है.

बता दें कि फोन टैपिंग मामले में 26 मार्च को गजेंद्र सिंह शेखावत ने एफआईआर दर्ज कराई थी. इससे राजस्थान की गहलोत सरकार इतनी बैचेन हो गई कि एक के बाद एक मंत्री सफाई देने और जवाबी हमला करने मैदान में उतरे. केस दर्ज कराने को सरकार गिराने की साजिश तक करार दे दिया गया था. गजेंद्र सिंह शेखावत से एक बार फिर वाइस सैंपल देने की मांग कर डाली.

राजस्थान में आठ महीने पुराना फोन टैपिंग विवाद मार्च में राजस्थान की गहलोत सरकार के गले की फांस बन गया था. केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत की शिकायत पर दर्ज फोन टैपिंग केस के खुलासे के बाद गहलोत सरकार हैरान परेशान नजर आई थी. सवाल उठाया कि आठ महीने बाद केस क्यों दर्ज कराया था. जयपुर के बजाय दिल्ली में क्यों दर्ज कराया. ये भी आरोप जड़ा कि केस दर्ज कराना सरकार गिराने की साजिश है. शेखावत के खिलाफ इस मामले में दर्ज केस में डोटासरा ने शेखावत से मांग की कि वे एसीबी के सामने पेश होकर अपने वाइस सैंपल दें.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज