विधायक दल की बैठक के बाद कांग्रेस ने की विधायकों की बाड़ाबंदी, चार बसों से ले जाया गया होटल फेयर माउंट
Jaipur News in Hindi

विधायक दल की बैठक के बाद कांग्रेस ने की विधायकों की बाड़ाबंदी, चार बसों से ले जाया गया होटल फेयर माउंट
अशोक गहलोत सरकार को समर्थन दे रहे विधायकों को चार बसों में भरकर होटल लाया गया है (फोटो: ANI)

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) भी एक बस में सवार होकर सरकार को समर्थन दे रहे विधायकों के साथ होटल पहुंचे हैं. खास बात है कि बसों में बैठे कांग्रेस विधायकों ने विक्ट्री का सिंबल बनाकर दिखाया

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान का राजनीतिक घटनाक्रम (Political Crisis In Rajasthan) हर पल बदल रहा है. सत्ताधारी कांग्रेस (Congress) ने अपने विधायकों को टूट से बचाने के लिए होटल फेयर माउंट (Hotel Fair Mount) में उनकी बाड़ाबंदी की है. सोमवार की शाम विधायकों को लेकर चार बसें यहां पहुंची हैं. इसके अलावा निजी वाहनों से भी विधायक यहां पहुंचे हैं. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) भी इनमें से एक बस में सवार होकर विधायकों के साथ होटल पहुंचे हैं. खास बात है कि बसों में बैठे कांग्रेस विधायकों ने विक्ट्री का सिंबल बनाकर दिखाया.
इससे पहले सोमवार की दोपहर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आवास पर विधायक दल की हुई बैठक में 107 विधायक शामिल हुए. इनमें आठ निर्दलीय और पांच सहयोगी दलों के विधायक थे. दिल्ली से आए कांग्रेस के नेता रणदीप सुरजेवाला और अजय माकन भी इस दौरान यहां मौजूद रहे. विधायकों की बैठक में कांग्रेस के राजस्थान प्रभारी अविनाश पांडे भी शामिल हुए.कांग्रेस विधायक दल की बैठक में प्रस्ताव पारित कर बीजेपी पर षड्यंत्रकारी मनसूबों की घोर निंदा की गई. साथ ही कांग्रेस का कोई पदाधिकारी या विधायक दल का कोई सदस्य अगर प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से कांग्रेस सरकार या पार्टी विरोधी गतिविधि करता है या ऐसे षड्यंत्र में शामिल है तो उसके खिलाफ कठोर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी. साथ ही विधायकों ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी में अपनी आस्था जताते हुए राज्य की अशोक गहलोत सरकार के समर्थन की बात कही.


बता दें कि रविवार को सचिन पायलट ने अपने साथ कांग्रेस के तीस विधायकों के होने का दावा किया था. 200 सदस्यों वाले राजस्थान विधानसभा में कांग्रेस को 123 विधायकों का समर्थन हासिल है. दावे के मुताबिक यदि 30 विधायक सचिन पायलट के साथ जाते हैं तो अशोक गहलोत के लिए अपनी डेढ़ साल सरकार को बचाना मुश्किल हो जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading